टीचर बनने के लिए कौन सा सब्जेक्ट लेना चाहिए? | What subject to choose to become a teacher?

इस आर्टिकल में हम बात करेंगे कि टीचर बनने के लिए कौन सा सब्जेक्ट लेना चाहिए? एक शिक्षक बनने के लिए कौन सा विषय लेना चाहिए? 

दोस्तों आज के समय में बहुत से विद्यार्थियों का सपना आगे चलकर एक शिक्षक बनने का होता है। 

एक शिक्षक के काम को समाज के प्रतिष्ठित कामों में देखा जाता है, इसके अलावा सरकारी टीचर बन जाने पर सैलरी आदि भी अच्छी खासी होती है। 

अब जो विद्यार्थी टीचर बनना चाहते हैं, शुरुआत में उनके मन में एक सवाल जरूर रहता है कि उन्हें टीचर बनने के लिए कौन सा सब्जेक्ट लेना चाहिए? 

यानी जो विद्यार्थी टीचर बनना चाहते हैं उन्हें दसवीं के बाद, 12वीं के बाद ग्रेजुएशन में कौन-सा सब्जेक्ट लेना चाहिए?

टीचर बनने के लिए कौन सा सब्जेक्ट लेना चाहिए?

इस लेख में हम इसी के बारे में विस्तार से बात करेंगे। यहां हम अच्छे से जानेंगे कि अगर हम पर टीचर बनना चाहते हैं तो आपको कौन सा सब्जेक्ट लेना चाहिए। 

इसे जानने के साथ-साथ ही हम टीचर बनने की प्रक्रिया से संबंधित कई जरूरी बातें भी जान लेंगे।

Teacher बनने के लिए कौन सा सब्जेक्ट लेना चाहिए?

अगर आप Arts stream के किसी विषय का टीचर बनना चाहते हैं तो आप –

  • हिंदी (Hindi)
  • हिंदी साहित्य (Hindi Literature)
  • अंग्रेजी (English)
  • अंग्रेजी साहित्य (English Literature)/
  • इतिहास (History)
  • भूगोल (Geography)
  • राजनीति विज्ञान (Political Science)
  • संस्कृत (Sanskrit)
  • संस्कृत साहित्य (Sanskrit Literature)
  • दर्शनशास्त्र (philosophy)
  • मनोविज्ञान (Psychology)
  • समाजशास्त्र (Sociology)
  • आदि 

ये subject ले सकते हैं। वहीं यदि आप science stream के किसी विषय का टीचर बनना चाहते हैं तो आप –

  • भौतिक विज्ञान (Physics)
  • रसायन विज्ञान (Chemistry)
  • जीव विज्ञान (Biology)
  • गणित (Mathematics)
  • आदि

ये subjects ले सकते हैं। 

उसी तरह यदि आप commerce के किसी विषय का teacher बनना चाहते हैं तो आप commerce के किसी भी विषय का चुनाव कर सकते हैं। 

सीधी सी बात यही है कि आप जिस भी सब्जेक्ट के टीचर बनना चाहते हैं आपको उसी विषय को लेकर आगे की पढ़ाई करनी होती है। 

आपको teacher बनने की प्रक्रिया के बारे में पूरी जानकारी होनी चाहिए। बाकी विषय बहुत सारे हैं, उसमें से आपको जो भी subject पढ़ाना अच्छा लगता है आप उसके टीचर बन सकते हैं। 

Teacher बनने के लिए 10वीं के बाद कौन-सा सब्जेक्ट लेना चाहिए?

दसवीं के बाद पहली बार विद्यार्थियों को साइंस, कॉमर्स और आर्ट्स में से किसी एक का चुनाव करना होता है। 

विद्यार्थी जिस भी stream के subject से संबंधित क्षेत्र में करियर बनाना चाहते हैं उसी हिसाब से stream चुनते हैं। 

अगर आप एक टीचर बनना चाहते हैं तो आपको उसी को ध्यान में रखकर दसवीं के बाद भी स्ट्रीम चुनना होता है। 

जैसा कि हमने पहले कहा, अगर आप Science के किसी विषय का टीचर बनना चाहते हैं तो जाहिर आप दसवीं के बाद साइंस लेंगे। 

अब साइंस में भी मैथ और बायलॉजी दो विकल्प होते हैं, तो आपको उसका भी ध्यान रखना होगा। 

उसी तरह कॉमर्स के किसी विषय में टीचर बनना चाहते हैं तो फिर दसवीं के बाद कॉमर्स लें। 

और अगर आर्ट्स के किसी विषय का टीचर बनना चाहते हैं, तो आप दसवीं के बाद आर्ट्स स्ट्रीम लेंगे। 

Teacher बनने के लिए 12वीं के बाद कौन-सा सब्जेक्ट लेना चाहिए?

अब दसवीं के बाद 11वीं और फिर 12वीं पूरी कर लेने के बाद बात आती है कि 12वीं के बाद टीचर बनने के लिए कौन सा सब्जेक्ट लें? 

तो 12वीं के बाद विद्यार्थी सामान्यत: graduation के लिए जाएंगे। इसमें वे B.Sc, B.Com या B.A करेगें। 

अब यहां पर भी वही बात है कि आप जिस भी विषय का टीचर बनना चाहते हैं आपको उसी विषय में अपनी बैचलर लेवल की पढ़ाई पूरी करनी होगी। 

साइंस के किसी विषय में teacher बनने के लिए आप उसी विषय को अपने मुख्य विषय के रूप में रखकर बीएससी करेंगे। 

इसी तरह कॉमर्स के किसी विषय के लिए आप उसी विषय के साथ B.Com करेंगे। और यही बात बीए के लिए भी है, आप arts का जो विषय पढ़ाना चाहते हैं उसके साथ बीए पूरी करेंगे। 

इन्हें भी पढ़ें

Teacher बनने के लिए ग्रेजुएशन करने के बाद B.Ed करना होगा

आपकी ग्रेजुएशन पूरी हो जाने के बाद टीचर बनने के लिए आपको B.Ed यानि बैचलर आफ एजुकेशन का कोर्स करना होता है। 

आपने जिस भी विषय से ग्रेजुएशन किया होगा, आप B.Ed कोर्स के दौरान भी उसे विषय के साथ पढ़ाई करते हैं। 

B.Ed course में basically आप को पढ़ाना सिखाया जाता है। 

इसमें आपके मुख्य विषय के अलावा teaching के लिए जो भी जरूरी सब्जेक्ट होते हैं, वे सभी आपको पढ़ने होते हैं। 

अधिक जानकारी के लिए आप ‘B.Ed में कितने सब्जेक्ट होते हैं‘ यह लेख पढ़ सकते हैं। 

एक बार आपकी B.Ed पूरी हो जाती है तो आप एक टीचर बनने के लिए एलिजिबल हो जाते हैं। 

हालांकि B.Ed के बाद आप M.Ed के लिए भी जा सकते हैं, और उसके बाद और ऊंचे पदों पर टीचर की नौकरी प्राप्त कर सकते हैं, लेकिन basic requirement B.Ed होती है। 

सरकारी teacher बनने के लिए कौन सा सब्जेक्ट लेना चाहिए?

सब्जेक्ट के लिए वही बात है, आप जो भी सब्जेक्ट पढ़ाना चाहते हैं, उसी हिसाब से दसवीं के बाद फिर 12वीं के बाद सब्जेक्ट का चुनाव करेंगे। 

सरकारी टीचर बनने के लिए आपको राज्य सरकार या केंद्र सरकार द्वारा आयोजित परीक्षाओं को पास करना होता है। 

इसमें CTET, TET आदि कुछ सबसे पॉपुलर नाम हैं। 

Teacher की भर्ती के लिए जो भी परीक्षाएं आयोजित होती हैं, उन्हें पास करके आप सरकारी टीचर बन सकते हैं। 

12वीं के बाद प्राइमरी टीचर के लिए कोर्स कर सकते हैं

अगर आप प्राइमरी टीचर यानी कि प्राइमरी कक्षाओं को पढ़ाने वाले शिक्षक बनना चाहते हैं तो इसके लिए आप 12वीं के बाद सीधे एलिमेंट्री एजुकेशन के कोर्स के लिए भी जा सकते हैं, जैसे कि D.El.Ed । 

इसमें 12वीं के बाद आपको विषय चुनने की जरूरत नहीं है। 

D.El.Ed का कोर्स पूरा करके सर्टिफिकेट लेने के बाद आप एक elementary school के teacher बन सकते हैं। 

Conclusion

इस आर्टिकल में हमने बात की है कि टीचर बनने के लिए कौन सा सब्जेक्ट लेना चाहिए? 

यहां हमने चर्चा की है कि टीचर बनने के लिए आपको दसवीं के बाद, फिर 12वीं के बाद ग्रेजुएशन में कौन सा विषय लेना चाहिए। 

इस बारे में हमने आपको अच्छे से जानकारी देने का प्रयास किया है।

उम्मीद करते हैं कि लेख आपके लिए इंफॉर्मेटीव रहा होगा, कोई प्रश्न यदि आपके मन में हो तो आप हमें नीचे कमेंट सेक्शन में पूछ सकते हैं।

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *