टीचर बनने के लिए 12वीं के बाद क्या करें?

टीचर बनने के लिए 12वीं के बाद क्या करें? 12वीं पूरी होने के बाद टीचर बनने के लिए क्या करना होगा? 12वीं के बाद टीचर कैसे बन सकते हैं? जो विद्यार्थी टीचिंग लाइन में अपना करियर बनाना चाहते हैं उनके मन में इस तरह के सवाल आना स्वाभाविक है।

दोस्तों हर विद्यार्थी को कोई ना कोई करियर चुनना तो होता ही है, doctor या engineer या कोई सरकारी या प्राइवेट नौकरी के अलावा आज टीचर का जॉब भी एक बेहतरीन करियर ऑप्शन है।

बहुत से विद्यार्थी टीचिंग प्रोफेशन में करियर बनाना चाहते हैं, यदि आप किसी अच्छे संस्थान में टीचर बन जाते हैं तो सैलरी भी बेहतरीन होती है साथ ही इसमें इज्जत और प्रतिष्ठा भी है।

कई विद्यार्थियों के मन में यह एक सवाल कि, 12वीं के बाद टीचर बनने के लिए क्या करना होगा, रहता है। आज यहां इस लेख में हम इसी के बारे में जानेंगे।

टीचर बनने के लिए विद्यार्थी 12वीं पूरी होने के बाद क्या कर सकते हैं, उन्हें कौन सा कोर्स करना पड़ता है, टीचर बनने के लिए कौन-कौन सी परीक्षाएं देनी होती है, एक टीचर बनने के लिए क्या योग्यताएं चाहिए, सरकारी या प्राइवेट टीचर कैसे बन सकते हैं, आदि के बारे में जानेंगे।

12वीं के बाद टीचर कैसे बने?

12वीं के बाद टीचर कैसे बने? (12th ke baad teacher kaise bane)

यदि सीधे शब्दों में शुरुआत से बात करें, तो दसवीं के बाद से ही विद्यार्थियों को अपने करियर को ध्यान में रखकर सब्जेक्ट चुनना होता है।

यदि कोई पहले से ही टीचर बनने का लक्ष्य रखता है, तो वह जिस सब्जेक्ट का टीचर बनना चाहता है दसवीं के बाद वही stream चुने। उसी stream (आर्ट्स, कॉमर्स या साइंस) से उसे अपनी 12वी पूरी करनी होगी।

12वीं तक विद्यार्थी को चुने गए stream के अंतर्गत आने वाले कई विषय पढ़ने होते हैं, 12वीं के बाद ग्रेजुएशन में उन्हें कोई एक मुख्य विषय चुनना होता है, विद्यार्थी वही विषय चुनेंगे, जिसके वे टीचर बनना चाहते हैं।

ग्रेजुएशन के बाद b.Ed करके टीजीटी टीचर और पोस्ट ग्रेजुएशन के बाद b.Ed करके पीजीटी टीचर के लिए होने वाली परीक्षाओं के लिए आवेदन किया जा सकता है।

हम यहां जो टीचर बनने की बात कर रहे हैं, असल में टीचर भी अलग-अलग प्रकार के होते हैं।

जैसे कि प्री प्राइमरी टीचर, secondary या फिर TGT teacher, PGT teacher, college के professor या lecturer आदि।

अब इन सभी के लिए अलग-अलग योग्यताएं चाहिए होती है, अलग-अलग परीक्षाएं देनी होती है।

टीचिंग में भी आप जितने ऊंचे क्लास के टीचर बनना चाहते हैं आपको उतनी ही ज्यादा डिग्री चाहिए और उनकी परीक्षाएं देनी होती है।

यहां हम मुख्य तौर से school teacher बनने के बारे में बात करेंगे।

टीचर बनने के लिए क्या करें? (Teacher banne ke liye kya kare?)

अभी के समय में सबसे सम्मान और अच्छी नौकरी टीचर की होती है,3 बहुत से छात्र और युवा टीचर बनना चाहते हैं,जो टीचर बनना चाहते हैं,

उनके मन में यह प्रश्न रहता है कि टीचर बनने के लिए क्या करें? अब हम जानेंगे कि टीचर बनने के लिए क्या-क्या करना पड़ता है?

  1. सबसे पहले 12वीं कक्षा पास करें
  2. इसके बाद आप अपनी मनपसंद या विषय से अपनी ग्रेजुएशन की पढ़ाई पूरी करें
  3. ग्रेजुएशन की पढ़ाई पूरी करने के बाद आप B.ed की पढ़ाई करें B.Ed कॉलेज में दाखिला प्रवेश परीक्षा के आधार पर होता है इसलिए आप अपनी ग्रेजुएशन के साथ ही साथ बीएड परीक्षा की तैयारी शुरू कर दें ताकि आपको एक अच्छे कॉलेज में दाखिला मिल सके।
  4. B.Ed के पढ़ाई पूरी करने के बाद आपको TET  और CTET परीक्षा देनी होती है तभी जाकर आप एक टीचर बन सकते हैं।

School Teacher में Mainly 3 प्रकार होते हैं?

  • Primary teacher
  • TGT teacher
  • PGT teacher

1. Primary teacher बनने के लिए क्या करें?

Pre primary teacher बनने के लिए किसी बहुत ज्यादा विशेष डिग्री की जरूरत नहीं होती।

12वीं के बाद सिर्फ जरूरी basic teaching skills के साथ आप किसी प्राइवेट स्कूल में प्री प्राइमरी टीचर के तौर पर पाठन का कार्य कर सकते हैं। Pre primary teacher nursery, LKG, UKG के बच्चों को पढ़ाते हैं।

प्राइमरी टीचर बनने के लिए अभ्यार्थी के पास 12वीं के बाद ग्रेजुएशन और फिर D.Ed/D.El.Ed की डिग्री होना जरूरी होता है।

यदि विद्यार्थी किसी teacher training program का हिस्सा बनते हैं और certificate प्राप्त कर लेते हैं तो यह प्राइमरी टीचर बनने में लाभदायक होता है।

यदि आप सरकारी स्कूल में प्राइमरी टीचर बनना चाहते हैं तो उसके लिए PRT परीक्षा होती है जिसे आपको पास करना होगा। Primary teacher 1-5 class तक के बच्चों को पढ़ाते हैं।

2. TGT teacher बनने के लिए क्या करें?

टीजीटी टीचर 6th से लेकर 10th तक के बच्चों को पढ़ाते हैं। एक टीजीटी टीचर बनने के लिए आपको 12वीं के बाद अपने पसंद के विषय में ग्रेजुएशन और उसके साथ b.Ed का कोर्स करना जरूरी होता है।

B.Ed पूरी करने के बाद आप टीजीटी शिक्षकों के लिए होने वाली परीक्षा में आवेदन कर सकते हैं।

3. PGT teacher बनने के लिए क्या करें?

पीजीटी शिक्षक दसवीं और उसके बाद के यानी कक्षा 11वीं और 12वीं के छात्रों को पढ़ाते हैं।

पीजीटी शिक्षक बनने के लिए आपको 12वीं के बाद ग्रेजुएशन करना होगा, फिर पोस्ट ग्रेजुएशन भी जरूरी होता है और उसके बाद आप b.ed का कोर्स करेंगे।

कोर्स पूरा हो जाने के बाद एक पीजीटी शिक्षक बनने के लिए आपको इसके लिए आयोजित होने वाली परीक्षा पास करनी होती है।

12वीं के बाद टीचर बनने के लिए Steps

सबसे पहले तो यही है कि आप 12वीं उत्तीर्ण करें। इसमें जरूरी बात बस यही है कि 12वीं में आप वही सब्जेक्ट रखें यानी दसवीं के बाद वही सब्जेक्ट चुने जिस सब्जेक्ट के आप टीचर बनाना चाहते हैं।

उदाहरण के लिए यदि आप फिजिक्स के टीचर बनना चाहते हैं तो दसवीं के बाद आपको साइंस स्ट्रीम चुनना होगा उसमें भी फिजिक्स केमिस्ट्री और मैथ बेहतर रहता है।

टीचर बनने के लिए जरूरी यह है कि आप अपने विषय में इतने माहिर हो कि उससे संबंधित कोई भी चीज छात्रों को आसानी से समझा सकें।

इसलिए आप जिस भी विषय के शिक्षक बनने का निर्णय लेते हैं, पढ़ाई के दौरान उस विषय पर पूरी तरह से ध्यान दें।

बेसिक इत्यादि सब कुछ स्ट्रांग रखें, ताकि पढ़ाने में आपको किस तरह की कोई परेशानी ना हो।

किसी स्कूल में एक टीचर बनने के लिए आपको ट्वेल्थ पास करने के बाद ग्रेजुएशन पूरी करनी होगी, ग्रेजुएशन में आपका कोई एक मुख्य विषय होता है, वहीं विषय रखे जिस विषय को आप पढ़ाना चाहते हैं।

ग्रेजुएशन टीचर बनने के लिए अनिवार्य सा ही है, बिना ग्रेजुएशन क्या अभी स्कूल टीचर के लिए आगे की पढ़ाई नहीं कर सकते।

ग्रेजुएशन के बाद आपको b.Ed करना होगा। B.Ed एक टीचिंग से रिलेटेड कोर्स है, जो 2 साल का होता है।

बीएड में दाखिले के लिए आपका ग्रेजुएशन में मिनिमम 50% अंक होने चाहिए। B.Ed करने के बाद आप सेकेंडरी स्कूल में टीचर की पोस्ट के लिए अप्लाई कर सकते हैं।

इसके बाद सबसे जरुरी है TET या CTET एंट्रेंस एग्जाम क्लियर करना।

B.Ed कोर्स पूरा करने के बाद आपको एंट्रेंस एग्जाम पास करना होता है जिसे हम टेट (TET) यानी Teacher Eligibility Test कहते है, या फिर आप CTET एग्जाम भी दे सकते हैं।

यदि उम्मीदवार इस exam को पास कर लेते हैं, तो इसके बाद टीचर के लिए अप्लाई कर सकते है।

आपके मार्क्स और परसेंटेज के आधार पास ही cut off निकलता है, इसके बाद आपको किसी स्कूल में एक टीचर की पोस्ट मिलती है।

Leave a Comment

Your email address will not be published.