बिहार पुलिस का दौड़ ? | Bihar Police ka Daur

दोस्तों आज यहां इस आर्टिकल में हम बिहार पुलिस का दौड़ के बारे में बात करेंगे। 

दोस्तों बहुत बड़ी संख्या में युवा आज सरकारी नौकरियों में पुलिस विभाग में नौकरी लेने के लिए इसकी प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी करते हैं। 

अलग अलग राज्य में समय-समय पर वहां के पुलिस विभाग में भर्ती होती है। 

यहां हम बिहार राज्य में पुलिस विभाग में नियुक्ति की बात कर रहे हैं। 

बिहार राज्य और दूसरे राज्यो के बहुत से युवा भी बिहार पुलिस की तैयारी करते हैं। 

इसके लिए बिहार पुलिस की लिखित परीक्षा तो जरूरी है ही, साथ ही physical test भी इसके लिए बहुत ही महत्वपूर्ण हो जाता है। 

Physical test में दौड़ सबसे पहला चरण होता है। 

बिहार पुलिस का दौड़ ?

और इसी से संबंधित बहुत से विद्यार्थियों के मन में यह सवाल रहता है या वे इसकी जानकारी चाहते हैं कि बिहार पुलिस का दौड़ कैसे होता है? 

यानी बिहार पुलिस का दौड़ कितने समय का होता है? बिहार पुलिस का दौड़ में कितना दूर दौड़ना होता है? आदि।

यहां इस लेख में हम मुख्य तौर पर इसी की बात करेंगे। यहां हम बिहार पुलिस का दौड़ के बारे में अच्छे से बात करेंगे। 

Bihar Police का दौड़

बिहार पुलिस में समय-समय पर पुलिस विभाग के कुछ अलग-अलग पदों पर भर्तियां निकाली जाती हैं। 

पुलिस विभाग की भर्तियों में मुख्य तौर पर विद्यार्थियों के लिए कॉन्स्टेबल, एसआई, दरोगा और अन्य staffs के पदों पर भर्तियां निकलती हैं। 

इन अलग-अलग पदों पर भर्तियां निकाले जाने पर इसकी आधिकारिक अधिसूचना बिहार पुलिस की ऑफिशल वेबसाइट पर जारी कर दी जाती है, विद्यार्थी वहां से इन भर्तियों की पूरी जानकारी ले सकते हैं। 

बिहार पुलिस भर्ती की चयन प्रक्रिया में मुख्य तौर पर तीन चरण शामिल होते हैं। 

जिसमें पहला लिखित परीक्षा उसके बाद फिजिकल टेस्ट (PET PST), और फिर डॉक्यूमेंट वेरिफिकेशन होता है। 

यहां हम खासतौर पर फिजिकल टेस्ट, और उसमें भी दौड़ की बात करेंगे।

बिहार पुलिस की अलग-अलग पदों के हिसाब से फिजिकल टेस्ट में बहुत थोड़ा अंतर हो सकता है। 

पर generally physical test लगभग एक समान ही रहता है। इसमें 

  • दौड़ (running)
  • गोला फेंक (shot put throw)
  • ऊंची कूद (high jump)

आते हैं। 

सिर्फ दौड़ की बात करें तो उम्मीदवारों को एक निश्चित समय के अंदर एक निश्चित दूरी दौड़ कर तय करनी होती है। 

उन्हें एक समय सीमा दे दी जाती है, जिसके अंदर उन्हें तय की गई दूरी को दौड़ कर पूरा करना होता है। 

दौड़ के अंक दिए जाते हैं। जो विद्यार्थी तय समय के भीतर दौड़ पूरी कर लेते हैं उन्हें पूरे नंबर मिलते हैं। 

तय समय के बाद जैसे जैसे विद्यार्थी ज्यादा समय लेते हैं, उनके अंक घटते जाते हैं। 

और एक निश्चित समय सीमा पार कर जाने के बाद उम्मीदवार दौड़ से डिसक्वालीफाई हो जाते हैं।

बिहार पुलिस कांस्टेबल भर्ती 2021-22 की दौड़

बिहार पुलिस में कांस्टेबल भर्ती 2021-22 की लिखित परीक्षा का परिणाम घोषित हो चुका है। 

और उसके बाद चयनित उम्मीदवारों का फिजिकल टेस्ट लिया जाएगा जिसमें उन्हें दौड़, गोला फेक, और ऊंची कूद के आधार पर आगे के लिए सिलेक्ट किया जाएगा। 

दौड़ की बात करें तो यह कुल 50 अंको का होता है। 

जिसमें से, तय समय पर दौड़ पूरा करने वाले उम्मीदवारों को पूरे 50 अंक और उसके बाद जैसे-जैसे वे थोड़ा ज्यादा समय लेते हैं, उस हिसाब से इस 50 में से उनके अंक घटते चले जाते हैं। 

पुरुष और महिला दोनों उम्मीदवारों के लिए दौड़ थोड़ी अलग अलग होती है। पुरुषों को महिलाओं की तुलना में थोड़ा ज्यादा दौड़ना पड़ता है।

Bihar Police Constable दौड़, पुरुषों के लिए

पुरुष उम्मीदवारों के लिए बिहार पुलिस कांस्टेबल में सिलेक्शन के लिए दौड़ में, उन्हें 5 मिनट में 1 मील यानी कि 1.6 किलोमीटर की दौड़ पूरी करनी होती है। 

जो उम्मीदवार इस 5 मिनट के तय समय के अंदर 1.6 किलोमीटर की दौड़ पूरी कर लेते हैं, उन्हें पूरे अंक प्राप्त होते हैं। 

उसके बाद जो 5 महीने से ज्यादा समय लेते हैं, उनके अंक घटते जाते हैं। 

5 मिनट के बाद 5 मिनट 20 सेकंड तक दौड़ पूरी करने वाले उम्मीदवारों को 40 अंक मिलते हैं। 

5 मिनट 20 सेकंड से लेकर 5 मिनट 40 सेकंड के बीच में दौड़ पूरी करने वालों को 30 अंक, और 5 मिनट 40 सेकंड से लेकर 6 मिनट तक दौड़ पूरी करने वाले को 20 अंक मिलते हैं। 

जो पुरुष उम्मीदवार 6 मिनट से ज्यादा का समय लेते हैं उन्हें दौड़ से डिसक्वालिफाइड कर दिया जाता है।

Bihar Police Constable दौड़, महिलाओं के लिए

बिहार पुलिस कांस्टेबल भर्ती में महिला उम्मीदवारों के लिए पुरुषों की तुलना में दौड़ की दूरी थोड़ी कम होती है। 

महिला उम्मीदवारों को दौड़ में 5 मिनट में 1 किलोमीटर की दूरी दौड़कर तय करनी होती है। 

इसके बाद उसी तरह यदि महिला उम्मीदवार भी 1 किलोमीटर की इस दूरी को तय करने में 5 मिनट से ज्यादा का समय लगाते हैं, तो बढ़ते समय के हिसाब से उनके अंक घटते जाते हैं। 

5 मिनट से लेकर 5 मिनट 20 सेकंड के अंदर दौड़ पूरी करने वालों को 40 अंक, 5 मिनट 20 सेकंड से 5 मिनट 40 सेकंड के बीच दौड़ पूरी करने वाले उम्मीदवारों को 30 अंक, फिर 5 मिनट 40 सेकंड से लेकर 6 मिनट के बीच दौड़ पूरी करने वाले उम्मीदवारों को 20 अंक मिलते हैं। 

6 मिनट से ज्यादा का समय लेने वाले उम्मीदवार डिसक्वालिफाइड होते हैं।

बिहार पुलिस की कई भर्तियों में, पुरुषों के लिए 1.6 किलोमीटर और महिलाओं के लिए 1 किलोमीटर की दौड़ पूरी करने का समय क्रमशः 6 मिनट 30 सेकंड और 6 मिनट रहता है। 

असल में, इसकी सटीक जानकारी के लिए विद्यार्थी इसकी आधिकारिक अधिसूचना देख सकते हैं।

फिजिकल टेस्ट का आयोजन परीक्षा के बाद होता है, जिसके लिए एडमिट कार्ड आदि अलग से जारी किया जाता है। 

विद्यार्थियों को दौड़ और दूसरे फिजिकल टेस्ट की पूरी सही जानकारी पहले से ही ले लेनी चाहिए।

अक्सर विद्यार्थी यह सर्च करते हैं कि बिहार पुलिस का फॉर्म कब निकलेगा? या बिहार पुलिस में दरोगा का फॉर्म कब निकलेगा? 

और वे इसकी लिखित परीक्षा की तैयारी करते हैं। 

पर पुलिस विभाग में नौकरी के लिए उम्मीदवार का फिजिकली फिट होना भी उतना ही जरूरी है। 

Police आदि में भर्ती के लिए उम्मीदवारों को सारे फिजिकल टेस्ट अच्छे अंको से पास करने जरूरी होते हैं।

Conclusion

ऊपर दिए गए इस आर्टिकल में हमने बिहार पुलिस का दौड़ के बारे में बात की है। 

बहुत से युवा बिहार पुलिस में नौकरी लेने का सपना देखते हैं,और इसके लिए वे तैयारी भी करते हैं। 

पुलिस की नौकरी के लिए लिखित परीक्षा के साथ-साथ फिजिकल टेस्ट भी अच्छे अंको से पास करना जरूरी होता है। 

बहुत से विद्यार्थियों को बिहार पुलिस के दौड़ के बारे में कन्फ्यूजन रहता है, वे बिहार पुलिस के दौड़ के बारे में पूरी जानकारी चाहते हैं। 

इस लेख में हमने इसी topic के बारे में बात की है।

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *