कॉमर्स में कौन-कौन सी जॉब है? | Commerce me kaun kaun si job hai

दोस्तों आज के इस प्रतिस्पर्धा पूर्ण समय में दसवीं के बाद से ही विद्यार्थियों को अपने करियर को ध्यान में रखकर आगे की पढ़ाई चुननी होती है। 

दसवीं के बाद विद्यार्थियों को साइंस कॉमर्स, या आर्ट्स में से किसी एक सट्रीम का चुनाव करना होता है, और विद्यार्थी आगे जिस भी क्षेत्र में अपना प्रोफेशन चुनना चाहते हैं वह उसी अनुसार स्ट्रीम चुनते हैं। 

खासतौर पर बैंकिंग, फाइनेंस और बिजनेस जैसे क्षेत्र में करियर बनाने की सोचने वाले विद्यार्थी commerce stream का चुनाव करते हैं। 

वर्तमान में दसवीं के बाद तीनों में से कॉमर्स चुनने वाले विद्यार्थियों की संख्या भी काफी ज्यादा है। 

ऐसे में जो विद्यार्थी कॉमर्स का चुनाव करते हैं या जो दसवीं के बाद कॉमर्स का चुनाव करने की सोचते हैं, उनके मन में अक्सर यह सवाल आता है कि कॉमर्स में कौन-कौन सी जॉब होती है?

Commerce stream से विद्यार्थी कौन-कौन सी job profile में जा सकते हैं?

कॉमर्स में कौन-कौन सी जॉब है?

यह इस आर्टिकल में हम कॉमर्स में सभी मुख्य job profiles के बारे में बात करेंगे। 

जानेंगे कि विद्यार्थी कामर्स में कौन-कौन से मुख्य जॉब ले सकते हैं?

Commerce में कौन-कौन सी जॉब होती है?

Commerce में मुख्य job profiles में –

  • Chartered Accountant (CA)
  • Chartered Financial Analyst (CFA)
  • Certified Public Accountant (CPA)
  • Marketing Manager
  • Product manager
  • Company Secretary
  • Investment Banker
  • Event manager
  • Cost Accountant
  • Business Accountant and Taxation
  • Retail Manager
  • Human Resource Manager
  • Personal Financial Advisor
  • Research Analyst
  • Actuary
  • Hotel manager
  • Entrepreneur
  • Chief Executive Officer (CEO)

आदि आते हैं। Commerce के बाद ज्यादातर विद्यार्थी इन्हीं job profiles की तरफ जाना चाहते हैं।

कॉमर्स के बाद ये मुख्य job profiles हैं, पर अब ऐसा नहीं है कि कॉमर्स के बाद options यहीं तक सीमित है। 

कॉमर्स स्ट्रीम से विद्यार्थी सरकारी और प्राइवेट दोनों ही sectors में नौकरी ले सकते हैं। 

12वीं के बाद यदि आपने कॉमर्स से ग्रेजुएशन कर लिया तो in general जितने भी सरकारी नौकरियां हैं जैसे कि रेलवे, एसएससी या फिर बैंक, यहां तक की defence field आदि के लगभग सभी ही नौकरियों के लिए आप आवेदन कर सकते हैं।

इसके अलावा यदि आप कॉमर्स में एमबीए जैसे डिग्री कर लेते हैं, तो प्राइवेट सेक्टर में भी अच्छी वाली बड़ी कंपनियां आपको अच्छी सैलरी के साथ अच्छे पद पर नौकरी ऑफर करते हैं।

अब commerce के बाद के मुख्य job profiles के बारे में थोड़ा बात कर लेते हैं।

Chartered Accountant (CA)

चार्टर्ड अकाउंटेंट तो कॉमर्स में सबसे लोकप्रिय और सबसे ज्यादा विद्यार्थियों का सपना होता है।

आसान भाषा में एक चार्टर्ड अकाउंटेंट का काम किसी बिजनेस के अकाउंट्स और टैक्सेशन आदि के मामले हैंडल करने का होता है, चार्टर्ड अकाउंटेंट का काम काफी पेचीदा होता है।

इसके लिए विद्यार्थी को चार्टर्ड अकाउंटेंट की पढ़ाई करके इसकी परीक्षा पास करनी होती है।

एक चार्टर्ड अकाउंटेंट की सैलरी आसानी से 6 से 7 लाख रुपए प्रति वर्ष तक रहती है।

Chartered Financial Analyst (CFA)

चार्टर्ड फाइनेंशियल एनालिस्ट भी कॉमर्स के बाद के सबसे अच्छे jobs में से हैं।

Basically, इनका काम किसी कंपनी के अकाउंट की देखरेख और उसके लिए फाइनेंशियल प्लैनिंग आदी करने का होता है।

सैलरी की बात करें तो इसमें औसतन सैलरी 12 लाख रुपए सालाना तक रहती है।

Certified Public Accountant (CPA)

सर्टिफाइड पब्लिक अकाउंटेंट का काम कंपनियों क्लाइंट्स और सरकार के लिए भी एकाउंटिंग, reporting और taxes आदि संभालने का होता है।

कॉमर्स फील्ड में यह भी काफी लोकप्रिय job profile है।

विदेशों में एक CPA बेहतरीन कमाई करता है। इसकी औसतन सैलरी 7-9 लाख सालाना तक रहती है।

Marketing Manager

बिजनेस सेक्टर में मार्केटिंग मैनेजर भी सबसे ज्यादा मांग में रहने वाली post है, और कॉमर्स स्ट्रीम के योग्य विद्यार्थी मार्केटिंग मैनेजर की नौकरी पा सकते हैं।

मार्केटिंग मैनेजर का काम market में कंपनी के बिजनेस को बढ़ाने का होता है।

सैलरी की बात करें तो मार्केटिंग मैनेजर की सैलरी शुरूआत में 6-7 लाख प्रति वर्ष तक और आगे चलकर 20 लाख प्रति वर्ष तक भी पहुंच सकती है।

Product manager

प्रोडक्ट मैनेजर किसी भी कंपनी के प्रोडक्ट्स को बनाने से लेकर उनके मार्केट तक पहुंचने की पूरी प्रक्रिया और प्रोडक्ट से संबंधित हर प्रकार की समस्या देखने का होता है।

बड़ी कंपनियों में आप बेहतरीन सैलरी के साथ प्रोडक्ट मैनेजर की नौकरी ले सकते हैं।

Company Secretary

कॉमर्स स्ट्रीम के बाद कंपनी सेक्रेट्री भी काफी ऊंची और अच्छी सैलरी वाली नौकरी है।

कंपनी सेक्रेटरी का काम किसी कंपनियां ऑर्गेनाइजेशन के administration की एफिशिएंसी को बनाए रखने या कहें कंपनी के successful मैनेजमेंट का होता है।

इसके लिए भी काफी सारी दूसरी जरूरी skills और abilities मांगी जाती है। सैलरी की बात करें तो यह औसतन 6-7 लाख रुपए प्रति वर्ष तक रहती है।

Investment Banker

कॉमर्स के बाद इन्वेस्टमेंट बैंकर भी सबसे अच्छे job profiles में आता है, यदि आपको अच्छे खासे पैसे कमाने हैं तो।

इन्वेस्टमेंट बैंकर का काम वित्तीय संस्थानों के साथ काम करके कंपनी के capital को बढ़ाने का होता है। विदेशों में इन्वेस्टमेंट बैंकर सबसे ज्यादा पैसे कमाने वाली नौकरियों में से एक है।

इन्वेस्टमेंट बैंकर के शुरुआती सैलरी 9-10 लाख प्रति वर्ष और अनुभव के बाद 20 लाख प्रति वर्ष तक चली जाती है।

Cost Accountant

Cost accountant का काम budgeting, performance evaluation, cost, और asset management आदि का होता है।

कॉमर्स के बाद यह भी एक अच्छा जॉब प्रोफाइल है। इसकी सैलरी में, यह औसतन 4-5 लाख सालाना तक जाती है 

Business Accountant and Taxation

बिजनेस अकाउंटेंट्स फाइनेंस और टैक्सेशन के क्षेत्र में काम करते हैं। वे direct और indirect taxes आदि से संबंधित कार्य देखते हैं।

इसमें कंप्यूटर आदि की भी अच्छे से जानकारी मांगी जाती है। और सैलरी की बात करें तो यहां औसतन 6-7 लाख सालाना तक रहती है।

Retail Manager

कॉमर्स के बाद रिटेल मैनेजर वर्तमान में सबसे ज्यादा उभरते हुए और ज्यादा सैलरी वाली जॉब है।

Basically, इसमें उम्मीदवार को किसी बड़ी स्टोर का working मेंटेन करना होता है।

Maintenance से संबंधित सभी कार्य यही देखता है। इस नौकरी में सैलरी औसतन 5-6 लाख रुपए सालाना तक रहती है

Human Resource Manager

कॉमर्स के बाद ही ह्यूमन रिसोर्स मैनेजर भी बेहतरीन सैलरी के साथ एक बेहतरीन जॉब प्रोफाइल है।

ह्यूमन रिसोर्स मैनेजर का काम किसी कंपनी या किसी फर्म के लिए वहां के employees को manage करने के लिए प्लान बनाने का और कोई समस्या आने पर उसे निपटने का होता है।

ह्यूमन रिसोर्स मैनेजर की शुरुआती सैलरी 6 से 7 लाख और आगे बढ़ कर 12 से 15 लाख प्रति वर्ष तक रहती है।

Personal Financial Advisor

कॉमर्स में पर्सनल फाइनेंशियल एडवाइजरी एक काफी अच्छा जॉब प्रोफाइल है।

Financial advisor अपने clients से मिलकर उन्हें बिजनेस और फाइनेंस से संबंधित सलाह देते हैं जिससे उनका व्यापार बढ़ सके।

इस काम के भी उन्हें अच्छे खासे पैसे मिलते हैं, सैलरी की बात करें तो यह 3-5 लाख रुपए तक रहती है।

Research Analyst

रिसर्च एनालिस्ट का काम मार्केट यानी बाजार, उपभोक्ता के बिहेवियर, sales और डिमांड आदि के बारे में जानकारी इकट्ठा करने का होता है।

कॉमर्स के बाद यह भी एक बेहतरीन करियर ऑप्शन है, जिसमें औसतन सैलरी 3 से 5 लाख रुपए प्रति वर्ष तक रहती है।

Actuary

Commerce के बाद actuary भी एक अच्छी सैलरी वाली जॉब प्रोफाइल है।

इस पद पर व्यक्ति का काम कंपनी के लिए वित्तीय जोखिम को भांपकर उसे दूर करने का होता है, यानी की financial risk को दूर करने का।

इसके लिए और भी काफी सारी जरूरी skills चाहिए होती है, और सैलरी में यह 10-14 लाख सालाना तक रहती है।

Hotel manager

कॉमर्स के बाद आप होटल मैनेजर के तौर पर भी नौकरी मिल सकते हैं।

होटल मैनेजर का काम होटल के सभी staffs और इवेंट्स आदि को मैनेज करने का होता है। इसके लिए भी फाइनेंस आदि की अच्छी जानकारी होनी चाहिए। 

Entrepreneur

Entrepreneur का मतलब होता है अपना खुद का कोई business या स्टार्टअप शुरू करना।

यदि आपको कॉमर्स से बिजनेस, फाइनेंस और इस फील्ड की अच्छी जानकारी हो जाती है तो आप अपना खुद का कोई बिजनेस शुरू कर सकते हैं।

अच्छा आइडिया होने पर आपको investors मिल जाएंगे, और आप एक Entrepreneur बन सकते हैं।

Chief Executive Officer (CEO)

किसी भी कंपनी को चलाने के लिए एक head की जरूरत होती है और वही कंपनी के CEO होते हैं।

यदि आप कॉमर्स बिज़नेस और फाइनेंस आदि की अच्छी जानकारी रखते हैं तो अपनी खुद की कंपनी खोलकर या फिर दूसरी कंपनियों में भी सीईओ के तौर पर कार्यरत हो सकते हैं।

बड़ी और अच्छी के सीईओ की सैलरी करोड़ों तक रहती है।

Conclusion

ऊपर दिए गए इस आर्टिकल में हमने बात की कि कॉमर्स में कौन-कौन सी जॉब होती है।

वर्तमान में बहुत से विद्यार्थी दसवीं के बाद और फिर 12वीं के बाद भी आगे कॉमर्स के विषय की पढ़ाई करते हैं।

ऐसे में उन्हें कॉमर्स के बाद के सभी मुख्य job profiles और दूसरे नौकरीयों के अवसरों के बारे में पता होना चाहिए और हमने ऊपर उन्हीं के बारे में बात की है।

1 thought on “कॉमर्स में कौन-कौन सी जॉब है? | Commerce me kaun kaun si job hai”

Leave a Comment

Your email address will not be published.