एमकॉम के बाद क्या करें? | M.com ke baad kya Kare

दोस्तों 10वीं के बाद हर विद्यार्थी साइंस, कॉमर्स या आर्ट्स स्ट्रीम में से किसी एक को चुनता है।

Banking और finance sector में रुचि रखने वाले विद्यार्थी कॉमर्स स्ट्रीम को चुनते हैं जिसमें 12वीं के बाद बहुत से विद्यार्थी ग्रेजुएशन में बीकॉम और उसके बाद पोस्ट ग्रेजुएशन में एमकॉम यानी मास्टर ऑफ कॉमर्स का कोर्स करते हैं।

आज के समय में बहुत से विद्यार्थी एमकॉम का कोर्स करते हैं, ऐसे में उनके लिए यह जरूरी है कि उन्हें एमकॉम कोर्स के बाद के विकल्पों के बारे में सही जानकारी हो।

मतलब कि एमकॉम पास कर लेने के बाद बहुत से विद्यार्थियों के मन में यह सवाल आता है कि अब एमकॉम के बाद क्या करें?

एमकॉम के बाद क्या करें?

यहां इस आर्टिकल में हम एमकॉम के बाद क्या करें, इसी सवाल के जवाब पर चर्चा करेंगे।

जानेंगे एमकॉम के बाद विद्यार्थी क्या कर सकते हैं ? एमकॉम के बाद विद्यार्थियों के पास आगे पढ़ाई के क्षेत्र में क्या विकल्प हैं, और यदि वे एमकॉम के बाद नौकरी करना चाहते हैं तो वे कौन-कौन सी नौकरियां प्राप्त कर सकते हैं।

M.Com के बाद क्या करें?

एमकॉम के बाद के विकल्पों के बारे में बात करने से पहले थोड़ा सा एमकॉम कोर्स की बात करते हैं।

एम कॉम का पुरा नाम master of commerce है, commerce में यह b.com के बाद मास्टर्स की डिग्री है, जिसकी अवधि 2 साल की होती है।

आप कॉमर्स के किसी भी विषय में एम कॉम कर सकते हैं, हालांकि आपने जिस विषय में बीकॉम किया होगा आप उसी में m.com करेंगे।

बात करें कि विद्यार्थी m.com के बाद क्या करें? तो उम्मीदवारों के पास एमकॉम करने के बाद मुख्यतः दो ऑप्शन ही बचते हैं।

जिसमें से पहला है कि वह higher studies के लिए जा सकते हैं। या फिर सरकारी या प्राइवेट क्षेत्र में नौकरी के लिए आवेदन कर सकते हैं।

एमकॉम करने के बाद उम्मीदवारों के लिए एमबीए जैसे कुछ सबसे लोकप्रिय कोर्सेज करने का विकल्प रहता है।

या फिर यदि वे नौकरी की तरफ जाना चाहते हैं, तो एमकॉम पास ग्रैजुएट्स के लिए बहुत से अच्छे जॉब प्रोफाइल्स भी उपलब्ध है।

M.Com के बाद ये courses कर सकते हैं?

M.Com पास उम्मीदवारों के लिए अच्छी नौकरियों के कई विकल्प हैं, पर यदि एमकॉम के बाद वे अन्य कोई अच्छा courses कर लेते हैं तो फिर उनके करियर के लिए और भी कई दरवाजे खुल जाते हैं।

एमकॉम के बाद higher studies के लिए जाना हमेशा फायदेमंद ही रहता है। विद्यार्थी और ज्यादा नॉलेज और एक्सपीरियंस लेकर और ज्यादा अच्छी  सैलरी वाली नौकरी ले सकते हैं।

M.Com के बाद कॉमर्स के क्षेत्र में सबसे लोकप्रिय और सबसे ज्यादा किए जाने वाले courses में निम्नलिखित नाम आते हैं –

  • MBA (Master of Business administration)
  • CA (Chartered accountancy)
  • ACCA (Association of Chartered certified accountants)
  • CS (Company secretary)
  • FRM (Financial risk manager)
  • आदि।

MBA (Master of Business administration)

सबसे ज्यादा विद्यार्थी m.com करने के बाद एक अच्छी सैलरी वाली जॉब के लिए एमबीए ही करते हैं।

जैसा कि इसके नाम में है, यह बिजनेस field में थ्योरी के साथ साथ बिजनेस के टेक्निक्स के बारे में भी पढ़ाता है।

यानी मुख्य रूप से व्यापार और व्यापार के प्रबंधन के बारे में है। एमबीए की डिग्री होने पर बहुत सी कंपनियों द्वारा आपको अच्छे मैनेजमेंट पोजीशन पर जॉब ऑफर की जाती है जिसमें आपकी औसत सैलरी 7-8 लाख रुपए सालाना तक रहती है। 

CA (Chartered accountancy)

बहुत से विद्यार्थी तो कॉमर्स को चुनते हैं इसीलिए है कि उनका लक्ष्य एक चार्टर्ड अकाउंटेंट बनने का होता है।

कॉमर्स के क्षेत्र में यह एक तरह से सबसे बड़ा job प्रोफाइल है। Taxation और accountancy जैसे विषयों में रूचि रखने वाले छात्र ज्यादा करके चार्टर्ड अकाउंटेंट की तरफ जाते हैं।

एमकॉम करने के बाद विद्यार्थी सीए के इंटरमीडिएट कोर्स IPCC में सीधे दाखिला ले सकते हैं, हालांकि सीए finals के लिए एलिजिबल होने के लिए आपको 3 साल की इंटर्नशिप पूरी करनी जरूरी होती है।

एक चार्टर्ड अकाउंटेंट की सैलरी भी आसानी से 8 से 10 लाख रुपए सालाना होती है।

ACCA (Association of Chartered certified accountants)

कॉमर्स के क्षेत्र में ACCA भी सबसे लोकप्रिय कोर्सेज में गिना जाता है, यह डबल स्तर पर मान्यता प्राप्त कोर्स है।

यानी कि एमकॉम के बाद यदि आप यह करते हैं तो न सिर्फ भारत में बल्कि विदेशों में भी आपको नौकरी के अच्छे अवसर मिल सकते हैं।

बैंकिंग, चार्टर्ड अकाउंटेंसी, फाइनेंस जैसे प्रोफेशन में एक अच्छा करियर बनाने के लिए इस कोर्स का सर्टिफिकेट उम्मीदवार की काफी सहायता करता है।

एमकॉम की हुए विद्यार्थियों के लिए यह एक आसान कोर्स हो सकता है, और इसके बाद सैलरी 10 से 15 लाख रुपए सालाना तक जा ही सकती है।

CS (Company secretary)

चाहे कोई पब्लिक फर्म हो या फिर प्राइवेट फर्म कंपनी सेक्रेटरी उसमें एक उच्च स्तर की पोजीशन होती है। एक कंपनी सेक्रेटरी का काम उस कंपनी के डायरेक्टरों को फर्म के मैनेजमेंट से संबंधित कानूनी मुद्दों आदि पर advice देने का होता है।

एमकॉम के बाद यह कोर्स भी एक बेहतरीन विकल्प हो सकता है। Company secretary की credentials पाने के लिए इस कोर्स के उम्मीदवारों को कुछ प्रोग्राम और प्रैक्टिकल ट्रेनिंग करनी होती है।

एक कंपनी सेक्रेटरी की सैलरी भी आसानी से पांच से 10 लाख सालाना तक रहती है।

FRM (Financial risk manager)

देश में financial industry सबसे तेजी से उभरते इंडस्ट्रीज में से है, इसीलिए पैसा लगाने वालों के लिए रिस्क पैसा और इन्वेस्टमेंट को एक साथ मैनेज करने वाले प्रोफेशनल की जरूरत पड़ती ही है।

एमकॉम करने के बाद आप GARP द्वारा कराए जाने वाला FRM के short term courses कर सकते हैं।

एक certified financial risk manager बनने के बाद उम्मीदवार की सैलरी 10 से 18 लाख रुपए सालाना तक हो सकती है।

यह कुछ ऐसे courses थे जिन का चुनाव एमकॉम करने के बाद बहुत से विद्यार्थी करते हैं।

पर ऐसा भी नहीं है कि सिर्फ यही courses हैं, इनके अलावा और भी कुछ विकल्प रहते हैं जिनमें CMA, CFA, CPA license, CFP, डिजिटल मार्केटिंग और CIB जैसे courses का नाम आता है।

अपने इंटरेस्ट के हिसाब से m.com के बाद विद्यार्थी इन्हें भी चुन सकते हैं, इनके बाद भी करियर के अच्छे ऑप्शंस रहते हैं।

M.Com के बाद नौकरी के अवसर?

अब m.com पूरी करने के बाद हर उम्मीदवार तो आगे और उच्च शिक्षा के लिए नहीं जाता है। बहुत से विद्यार्थी एमकॉम के बाद नौकरी भी खोजते हैं।

नौकरी में, एमकॉम ग्रैजुएट्स के लिए सरकारी और प्राइवेट दोनों ही क्षेत्रों में नौकरी के options रहते हैं।

Finance manager, stock broker, marketing manager, investment banker, bookkeeper, auditor, business consultant, टीचर (लेक्चरर), कैसियर, ऑपरेशन मैनेजर, बजट अनलिस्ट, ऑडिटर, चीफ फाइनेंशियल ऑफिसर, चार्टर्ड मैनेजमेंट अकाउंटेंट, human resource manager, financial analyst, investment analyst आदि एमकॉम के बाद कुछ सबसे famous job profiles हैं।

एमकॉम के बाद सरकारी नौकरी

सरकारी नौकरी की बात करें तो, एम कॉम कॉमर्स में मास्टर्स की डिग्री है, इसका मतलब है कि इसके बाद आप एक पोस्ट ग्रैजुएट स्टूडेंट हो जाते हैं।

और जिन भी सरकारी नौकरियों के लिए वैकेंसी निकलती है जिनमें की योग्यता ग्रेजुएशन या उससे कम की मांगी जाती है, आप उसके लिए आवेदन कर सकते हैं।

चाहे हम बात करें रेलवे की या फिर एसएससी यानी कर्मचारी चयन आयोग, इंडियन आर्मी/नेवी/एयरफोर्स आदि में जो भी भर्तियां निकलती हैं, एमकॉम पास विद्यार्थी उनके लिए आवेदन कर सकते हैं।

इसके अलावा बैंकिंग सेक्टर तो कॉमर्स के बहुत से विद्यार्थियों की पहली पसंद होती है।

जिन भी सरकारी बैंकों में भर्ती के लिए आवेदन मांगे जाते हैं उनमें एमकॉम पास विद्यार्थी आवेदन कर सकते हैं।

एमकॉम के बाद प्राइवेट नौकरी

सरकारी नौकरी के अलावा प्राइवेट क्षेत्र में भी एमकॉम पास उम्मीदवारों के लिए नौकरी के कई अवसर होते हैं।

बहुत सी ऐसी प्राइवेट कंपनियां होती है जो पोस्ट ग्रेजुएट स्टूडेंट को अच्छे पदों पर नौकरी ऑफर करते हैं। 

हालांकि एमकॉम के बाद यदि आप एमबीए जैसा कोई  कोर्स कर लेते हैं, तो प्राइवेट क्षेत्र में आपको और भी ज्यादा अच्छी नौकरी मिलने के चांसेस बढ़ जाते हैं।

आप प्राइवेट बैंकों और दूसरे संस्थानों में भी कई पदों पर नौकरी के लिए आवेदन कर सकते हैं।

Conclusion

ऊपर इस आर्टिकल में हमने एमकॉम के बाद क्या करें, इस सवाल के जवाब पर चर्चा की है।

एमकॉम के बाद या तो विद्यार्थी आगे कोई कोर्स कर सकते हैं या फिर नौकरी की तरफ जा सकते हैं।

ऊपर हमने एमकॉम के बाद किए जाने वाले कुछ सबसे लोकप्रिय courses के बारे में बात की, साथ ही हमने एमकॉम के बाद के जॉब प्रोफाइल्स और नौकरियों के बारे में भी बात की है।

Leave a Comment

Your email address will not be published.