नीट में कितने सब्जेक्ट होते हैं? | NEET me kitne subject hote hain

दोस्तों मेडिकल लाइन वर्तमान में करियर के लिए सबसे ज्यादा विद्यार्थियों द्वारा चुने जाने वाले क्षेत्र में से एक है। 

हर साल लाखों विद्यार्थी मेडिकल field में अलग-अलग courses में दाखिला लेने के लिए प्रवेश परीक्षा में बैठते हैं। 

वर्तमान में सभी मुख्य medical courses जैसे एमबीबीएस, बीडीएस, बीएएमएस आदि में दाखिले के लिए NEET ही इकलौती प्रवेश परीक्षा है। 

हर साल बहुत बड़ी संख्या में विद्यार्थी इन अलग-अलग courses में एडमिशन लेने के लिए NEET की परीक्षा की तैयारी करते हैं। 

जो विद्यार्थी MBBS जैसे कोर्स में दाखिले के लिए नीट की तैयारी करने की सोचते हैं, शुरुआत में कई बार उनके मन में यह सवाल आता है कि NEET में कितने सब्जेक्ट होते हैं?

नीट में कितने सब्जेक्ट होते हैं?

या ऐसे भी कई विद्यार्थियों जिन्होने NEET की परीक्षा का नाम  सुना होता है, उनके मन में यह सवाल रहता है कि NEET में कितने सब्जेक्ट होते हैं?

इस आर्टिकल में हम इसी के बारे में बात करेंगे कि NEET में कितने सब्जेक्ट होते हैं? इसके साथ ही NEET की परीक्षा से संबंधित सभी जरूरी बातों को अच्छे से जानेंगे।

NEET में कितने सब्जेक्ट होते हैं?

NEET की परीक्षा में physics, chemistry, botany और zoology विषय से प्रश्न पूछे जाते हैं, जो की objective type यानी की बहुविकल्पीय प्रकार के होते हैं। 

असल में बहुत से विद्यार्थियों के मन में शुरुआत में यह कंफ्यूजन हो सकता है, कि नीट कोई कोर्स है और उसमें उन्हें कुछ निर्धारित विषय पढ़ने होते हैं।

पर असल में ऐसा नहीं है। नीट कोई कोर्स नहीं है, बल्कि यह राष्ट्रीय स्तर पर आयोजित होने वाली एक प्रवेश परीक्षा (entrance exam)  है।

जिसके माध्यम से देश के मेडिकल शिक्षण संस्थानों में एमबीबीएस, बीडीएस, बीएएमएस आदि जैसे courses में मेडिकल विद्यार्थियों को दाखिला दिया जाता है।

इसीलिए नीट में कितने सब्जेक्ट हैं इस प्रश्न का मतलब हो जाएगा कि नीट की परीक्षा में कितने सब्जेक्ट हैं यानी NEET में किन विषयों से प्रश्न पूछे जाते हैं।

और इस बारे में हमने ऊपर बताया कि इस परीक्षा में फिजिक्स, केमिस्ट्री और बायोलॉजी में बॉटनी और zoology से प्रश्न पूछे जाते हैं। 

इस परीक्षा में विद्यार्थी 12वीं की परीक्षा पास करके बैठ सकते हैं, इसीलिए इन विषयों से आने वाले प्रश्न 12th level के हिसाब से ही होते हैं।

पर ऐसा भी नहीं है कि प्रश्न आसान होते हैं, NEET राष्ट्रीय स्तर पर आयोजित होने वाली परीक्षा है, इसीलिए इस परीक्षा के लिए कॉन्पिटिशन काफी ज्यादा है और विद्यार्थी उसके लिए सालों की प्रिपरेशन करते हैं।

NEET के बारे में जानकारी

NEET के बारे में हमने ऊपर थोड़ी बात की है। Full form से शुरू करें तो NEET का पुरा नाम National Eligibility cum Entrance Test है। 

यह NTA (National testing agency) द्वारा आयोजित की जाती है।

हमने ऊपर भी बताया कि NEET ek एंट्रेंस एग्जाम होता है, जो मेडिकल विद्यार्थियों के लिए मुख्य medical courses में दाखिले के लिए आयोजित किया जाता है।

जो भी विद्यार्थी अंडर ग्रेजुएशन मेडिकल कोर्स में MBBS या BDS या BAMS आदि जैसा कोई भी कोर्स करना चाहता है, या फिर postgraduate medical courses भी जैसे MD/MS/MDS आदि करना चाहता है तो इसके लिए वर्तमान में NEET क्वालीफाई करना सरकार द्वारा अनिवार्य कर दिया गया है।

जो विद्यार्थी NEET एग्जाम में अच्छी rank हासिल करता है, उनका admission अच्छे सरकारी medical college में या थोड़े कम नंबर रहने पर प्राइवेट कॉलेज में हो जाता है। 

पहले medical colleges में दाखिले के लिए AIPMT  (All India pre-medical entrance test)  होती थी, जिसमें अलग अलग राज्य और कॉलेज के हिसाब से एंट्रेंस एग्जाम भी अलग था। लेकिन NEET आने के बाद सभी के लिए NEET ही एकमात्र प्रवेश परीक्षा है।

NEET किसी भी सरकारी या प्राइवेट कॉलेज के लिए, और इसके अलावा जिन्हें AIIMS में एडमिशन चाहिए उनके लिए AIIMS entrance test और JIPMER entrance exam भी है।

NEET में आपको सिर्फ एक ही एग्जाम देना होता है, जिसमे अच्छे रैंक आने के बाद आपका एडमिशन किसी भी मेडिकल कॉलेज में हो जाता है। 

जहां AIPMT सिर्फ 15% All India Quota के लिए होता था, वहीं NEET 100% मेडिकल सीट के लिए लिया जाता है। 

इसमें से 15% सीट सभी स्टूडेंट के लिए, जबकि 85% सीट जिस राज्य के एग्जाम होता है उस राज्य के स्टूडेंट्स को दिया जाता है।

NEET के विषय और इसका syllabus

जैसा कि हमने ऊपर बताया इस NEET exam में विद्यार्थियों से फिजिक्स, केमिस्ट्री, बॉटनी और जूलॉजी से सवाल पूछे जाते है, जोकि objective type में होते है। 

हर एक subject से 45-45 सवाल पूछे जाते हैं। हर सवाल 4 अंक के होते हैं और इस तरह हर subject से कुल 180 marks के questions पूछे जाते हैं। 

मतलब की आपसे पूछे गए कुल प्रश्नों की संख्या 180 होती है, जोकि कुल मिलाकर 720 marks के होते हैं। 

सही जवाब देने पर 4 मार्क्स और गलत जवाब देने पर 1 मार्क्स काटे जाते हैं। 

NEET एग्जाम में 70% सवाल NCERT से ही book से ही पूछे जाते हैं। आप चारों ही विषयों के 9th, 10th, 11th, 12th के NCERT के सारे जरूरी टॉपिक्स अच्छे से पढ़ लें।

चारों विषयों में आने वाले topics की बात करें तो 

Physics में 

Mechanics, Thermodynamics, Current Electricity, Dual Nature of Matter & Radiation, Magnetism & Moving Charges, Kinematics, Rigid Body Dynamics, Work, Energy, and Power, Planar Motion, Ray Optics, Wave Optics, Kinetic Theory & Thermal Properties of Matter, Atomic Study, Waves, Gravitation.

Chemistry में

Chemical Bonding, Basic Concepts, Chemical Equilibrium, Carbonyl Compounds, Coordination Compounds, Organic Chemistry, Reaction Mechanism, The d and f Block Elements, IUPAC & Isomerism, Thermodynamics and Thermochemistry, Chemical Kinetics, Haloalkanes and Haloarenes, Chemistry in Everyday Life, Aldehydes, Ketones and Carboxylic Acids, Environmental Chemistry.

Biology में

Biological Classification, Molecular Basis of Inheritance, Animal Kingdom, Reproduction, Ecosystems, Human Health and Diseases, Biotechnology: Principles and Processes, Microbes in Human Welfare, Genetics, Human Physiology Biological Classification, Molecular Basis of Inheritance, Biomolecules, Plant Kingdom, Strategies for Enhancement of Food Production, Cell Biology, Plant Anatomy.

ये सारे topics आते हैं।

यह परीक्षा सिर्फ offline mode में ही ली जाती है, और बाकी विद्यार्थी को ओएमआर शीट में परीक्षा देनी होती है, जिसके लिए वे ब्लू या ब्लैक बॉल पेन का इस्तेमाल कर सकते हैं।

Conclusion

ऊपर दिए गए इस आर्टिकल में हमने नीट में कितने सब्जेक्ट होते हैं, इसके बारे में बात की है।

बहुत से विद्यार्थियों के मन में शुरुआत में NEET के बारे में कन्फ्यूजन रहता है कि यह कोर्स नहीं प्रवेश परीक्षा है।

इस आर्टिकल में हमने NEET की परीक्षा में पूछे जाने वाले subjects और उसके सिलेबस के बारे में जाना है।

Leave a Comment

Your email address will not be published.