Pilot की Salary कितनी होती है? | Pilot Salary

पायलट की सैलरी कितनी होती है? एक पायलट को महीने की कितनी तनख्वाह मिलती है? Airplane pilot का वेतन कितना होता है? इस तरह के सवाल बहुत से लोगों के मन में आता है।

एक एयरप्लेन पायलट की सैलरी के बारे में बहुत से लोग जानना चाहते हैं।

एक पायलट के जॉब को काफी प्रतिष्ठित job profile माना जाता है, ऐसे में इसकी सैलरी के बारे में जानने के लोगों की इच्छा लाज़मी है।

देश में कई सारी Airline companies हैं, और उनमें अलग-अलग तरह के पायलट होते हैं, जैसे कमर्शियल पायलट, मिलिट्री पायलट और private पायलट इत्यादि।

दोस्तों आज यहां इस लेख में हम मुख्य तौर पर एक पायलट की महीने की सैलरी के बारे में बात करेंगे।

देश की अलग-अलग कंपनियां प्लेन उड़ाने के लिए पायलेट्स को रिक्रूट करते हैं, जिनमें commercial plane और private plane इत्यादि भी शामिल है।

Pilot की Salary कितनी होती है?

एक पायलट बनने पर आपकी शुरुआती सैलरी कितनी होती है, उसके बाद अलग-अलग पद के हिसाब से pilots को कितनी सैलरी दी जाती है, आदी के बारे में जानेंगे।

इसके साथ ही संक्षिप्त में यह भी जानेंगे कि पायलट कितने प्रकार के होते हैं, पायलट कैसे बन सकते हैं? पायलट बनने के लिए जरूरी योग्यता आदि।

Pilot की Salary कितनी होती है?

अगर सीधे-सीधे पायलट की सैलरी की बात करें तो इंडिया में जितने भी पायलट है उनकी सैलरी लगभग 90000 रूपए प्रति महीने से लेकर 5.5 लाख रुपए प्रति महीने तक जाती है।

एक पायलट की सैलरी इतने से इतने रुपए के बीच होती है, इसका मतलब है कि पायलट में आप किस पद पर हैं वह आपकी वेतन का निर्धारण करता है।

मतलब यह है कि pilots को अनुभव और काम के आधार पर अलग-अलग positions में बाटा जाता है, और इसी हिसाब से उनकी सैलरी भी तय की जाती है।

जैसे कि यदि आपने शुरुआत की है और आप निचले पद पर हैं जैसे कि जूनियर पायलट तो आपकी सैलरी कम होती है और अनुभव और बढ़ते पद के साथ सैलरी बढ़ती है।

एक पायलट बनने के लिए काफी ज्यादा मेहनत और हार्ड वर्क लगता है तो जाहिर है उसकी सैलरी भी उतनी ही अच्छी होनी चाहिए।

उदाहरण के लिए यदि आप एयर इंडिया या इस जैसी किसी दूसरी बड़ी एयरलाइन कंपनी में एयरलाइन कैप्टन के पद पर है तो आपकी सैलरी 5.5 लाख तक भी चली जाती है।

एक पायलट की सैलरी का एक और बड़ा फैक्टर है company. जाहिर है कि बड़ी एयरलाइन कंपनियों के पायलट की सैलरी किसी छोटे airline कंपनी के पायलट की सैलरी की तुलना में ज्यादा ही होगी। इसके अलावा दूसरे देशों की airlines में pilots को भारत से बेहतर सैलरी भी मिलती है।

Pilots के बीच अलग-अलग पोजीशंस की बात करें तो नया-नया ज्वाइन करने वाला पायलट junior first officer बनता है और उसकी शुरुआती सैलरी लगभग 90000 प्रति महीने से शुरू होती है।

कुछ साल काम करने के बाद यदि वह एग्जाम देकर first officer या first senior officer या यादि airline captain बन जाता है तो उसकी अधिकतम सैलरी 5.5 लाख तक चली जाती है।

ज्यादातर indian airlines में pilots में मुख्यत: 4 पद होते हैं,

  • Airline Captain जिसकी salary 6610000 रुपए सालाना।
  • Senior First Officer जिसकी salary ₹4,547000 सालाना।
  • First Officer जिसकी salary 3235000 सालाना।
  • Junior First Officer जिसकी salary 1,125,000 सालाना होती है।

सैलरी के रकम के अलावा भी एक पायलट को कई सुविधाएं मिलती है जैसे कि मेडिकल इंश्योरेंस, किसी दूसरे देश में रहने के लिए होटल की सुविधा, घर से एयरपोर्ट आने जाने के लिए ट्रैवलिंग एलाउंस आदि।

यही सब चीजे एक पायलट के जॉब को देश के बड़े जॉब प्रोफाइल्स में शामिल करता है।

अलग-अलग तरह के Pilots और उनकी Salary

अगर पायलट के अलग-अलग प्रकार की बात की जाए तो आज के समय में मुख्यतः तीन तरह के पायलट होते हैं, और आप जिस भी तरह के पायलट होंगे आपको उसी अनुसार सैलरी मिलती है।

आपका पद और आपका एक्सपीरियंस आपकी सैलरी का निर्धारण करता है। मुख्यतः 3 तरह के पायलट निम्नलिखित हैं –

1. Commercial pilots

Commercial flights को उड़ाने वाले पायलट को ही कमर्शियल पायलट कहा जाता है।

जिन प्लेंस से normal पैसेंजर ट्रैवल करते हैं, यानी जो एयरलाइन कंपनियों के प्लेन होते हैं उन्हें ही कमर्शियल प्लेंस कहा जाता है। सरकारी या फिर प्राइवेट एयरलाइन के हिसाब से कमर्शियल प्लेन भी सरकारी या प्राइवेट हो सकते हैं।

कमर्शियल पायलट के अंतर्गत भी 3 प्रकार होते हैं। पैसेंजर पायलट – जो passenger planes उड़ाते हैं, cargo pilot- जो कार्गो प्लेन उड़ाते हैं यानी जिनमें सिर्फ सामान होता है और Aerosports pilots- जो sport के लिए इस्तेमाल होने वाले planes उड़ाते हैं।

इन pilots की सैलरी एयरलाइन यानी कंपनी निर्धारित करती है।

2. Military pilot

नाम से समझ में आ ही जाता है कि देश की सेना के लिए जो airplanes या फाइटर प्लेंस उड़ाते हैं उन्हें ही मिलिट्री पायलट कहा जाता है। असल में ये pilots सरकारी अफसर होते हैं।

ये दूसरे planes नहीं उड़ाते। Military pilots में भी जल सेना, थल सेना और वायु सेना के लिए अलग-अलग पायलेट्स होते हैं।

इन pilots की salary आर्मी के अफसरों की तरह होती है। उच्च पदों के ऑफिसर की सैलरी अच्छी खासी होती है।

3. Private pilot

ऐसे लोग जिनके पास खुद के प्राइवेट प्लेन होते हैं वे उन्हें उड़ाने के लिए private पायलट को हायर करते हैं। Private pilots अमीर लोगों के प्राइवेट प्लेन और प्राइवेट जेट्स उड़ाते हैं।

Private pilots की सैलरी का निर्धारण उन्हे हायर करने वालों द्वारा ही किया जाता है। और क्योंकि उनमें से ज्यादातर दुनिया के अमीर लोग ही होते हैं इसलिए इनकी सैलरी भी काफी अच्छी खासी होती है।

सैलरी के साथ-साथ इनके रहने और खाने-पीने का इंतजाम भी बेहतरीन होता है।

किसी Airline में Pilot कैसे बन सकते हैं?

एक पायलट बनने के लिए आपको IGRUA और ATPL जैसी परीक्षाओं में बैठना होता है।

इसके लिए आयोजित एंटरटेन्स एग्जाम पास करने के बाद आपको Aviation स्कूल में एडमिशन मिल जाता है, और फिर आपको 3 से 4 साल का कोर्स करना होता है, pilot बनाने के लिए जरूरी कोर्स को पूरा करके आप किसी एयरलाइन में जॉब के लिए अप्लाई कर सकते है।

इसकी परीक्षा में बैठने के लिए जरूरी शैक्षणिक योग्यता में अभ्यार्थी को 10+2 साइंस स्ट्रीम से करना होता है, साइंस स्ट्रीम के साथ कम से कम 50% अंकों के साथ 12 वीं पास होना जरूरी है।

एक पायलट को फिजिकली और मेन्टली दोनों तरीके से फिट रहना होता है, इसलिए जो भी स्टूडेंट पायलट बनने के इच्छुक है, उनको पहले से ही यह तय करना होगा की वह पायलट बनना चाहते है और उसी हिसाब से उनको पहले से ही तैयारी शुरू करनी होगी।

Leave a Comment

Your email address will not be published.