12वीं के बाद आईएएस की तैयारी कैसे करें? | 12th ke baad IAS ki taiyari kaise karein

इस आर्टिकल में हम बात करेंगे कि 12वीं के बाद आईएएस की तैयारी कैसे करें? 12th के बाद आईएएस की तैयारी कैसे की जा सकती है? 

दोस्तों जब भी देश के सबसे उच्च स्तर की सरकारी नौकरियों की बात होती है तो उस में सिविल सेवाओं की नौकरियों का नाम सबसे पहले लिया जाता है। 

सिविल सेवाओं में IAS सबसे प्रमुख है। IAS बनने के लिए UPSC द्वारा आयोजित सिविल सर्विस की परीक्षा (CSE) पास करनी होती है, जो कि देश की सबसे कठिन परीक्षा है। 

इसीलिए जिन विद्यार्थियों का लक्ष्य शुरू से ही IAS बनने का होता है, उन्हें बहुत पहले से ही इसकी तैयारी करने की सलाह दी जाती है। 

ऐसे में, मन में IAS बनने का लक्ष्य रखने वाले विद्यार्थियों के मन में यह सवाल आता है कि 12वीं के बाद आईएएस की तैयारी कैसे करें? 

12वीं के बाद आईएएस की तैयारी कैसे करें?

यहां हम मुख्य तौर पर इसी के बारे में जानेंगे। 

बात करेंगे कि 12वीं के बाद आईएएस की तैयारी कैसे कर सकते हैं? आईएएस की तैयारी करने के लिए सभी जरूरी बातें के बारे में चर्चा करेंगे।

12वीं के बाद आईएएस की तैयारी कैसे करें?

IAS या कहें सिविल सेवाओं की बात करें तो इसमें कुल मिलाकर 24 सर्विसेस आती हैं, जिनमें से इंडियन एडमिनिस्ट्रेटिव सर्विस यानी IAS सबसे प्रमुख है। 

बहुत से विद्यार्थियों का लक्ष्य भविष्य में एक आईएएस ऑफिसर बनने का होता है, इसमें मुख्य तौर पर जिले के DM, DC, Collector आदि आते हैं, ये IAS officer ही होते हैं। 

यूनियन पब्लिक सर्विस कमीशन ऑफ इंडिया (UPSC) यानी संघ लोक सेवा आयोग हर साल CSE-  civil service examination का आयोजन करता है जिसके माध्यम से IAS, IPS, IFS, IRS जैसे भारत सरकार के अंतर्गत आने वाले कुल 24 services में नियुक्ति होती है। 

इस UPSC की परीक्षा में जो top ranks लाते हैं, उन्हें IAS के पद पर चयनित किया जाता है। 

यानी यदि आईएएस ऑफिसर बनना है, तो आपको देश की सबसे कठिन परीक्षा यूपीएससी न सिर्फ पास करनी होगी बल्कि बहुत ही अच्छे अंको से पास करनी होगी। 

IAS बनने के लिए हर साल लाखों की संख्या में युवा कुछ सैकड़ों की संख्या में उपलब्ध सीटों के लिए इसके एग्जाम की तैयारी करते है। 

इस परीक्षा में सफल होने के लिए बहुत ही कड़ी मेहनत के साथ तैयारी करनी पड़ती है। 

IAS बनने के लिए, सिविल सेवा में सफलता पाने के लिए पढ़ाई की एक अच्छी रणनीति और व्यवस्था होना जरूरी है। 

जैसा हमने कहा, यूपीएससी देश की सबसे कठिन परीक्षा होती है, और इसका सिलेबस भी बहुत ही ज्यादा vast होता है। 

यूपीएससी की तैयारी में बहुत सारे विषय जैसे हिस्ट्री, ज्योग्राफी, इकोनॉमिक्स, पॉलिटिक्स, general studies समेत और भी कई विषय पढ़ने होते हैं। 

और उन सारे विषयों का सिलेबस भी बहुत ज्यादा रहता है। 

इसलिए जिन उम्मीदवारों का लक्ष्य शुरू से ही सिविल सर्विस में जाने का होता है, उन्हें बहुत पहले से इसकी तैयारी शुरू कर देनी होती है। 

IAS बनने के लिए, यूपीएससी की परीक्षा में बैठने के लिए ग्रेजुएशन न्यूनतम शैक्षणिक योग्यता है, लेकिन सालों तक प्रिपरेशन करने वाले उम्मीदवारों को भी इसे पास करने के लिए 3-4 attempts लग जाते हैं, इसीलिए ऐसा नहीं है कि आप ग्रेजुएशन के बाद इसकी तैयारी शुरू करेगें, और इसमें सफल हो जाएंगे। 

उम्मीदवारों को कम से कम 12वीं के बाद इसकी तैयारी शुरू कर ही देनी चाहिए।

12th के बाद ऐसे IAS की तैयारी कर सकते हैं –

  • सही strategy बनाएं
  • सही study material लें
  • एकाग्रता और समय से से पढ़ाई करें
  • सही से subjects का चुनाव करें
  • लिखने का भी अभ्यास करें
  • एक backup plan भी रखें

सही strategy बनाएं –

यूपीएससी की परीक्षा की तैयारी कर रहे हैं, तो सबसे पहले सही स्ट्रेटजी बनाना बहुत ही जरूरी है। 

12वीं पूरी हो जाने के बाद सबसे पहले ग्रेजुएशन करना होता है, क्योंकि बिना स्नातक के यूपीएससी की परीक्षा में नहीं बैठ सकते हैं। 

ग्रेजुएशन में अपने पसंद के विषय का चुनाव करें, उसी एक विषय को आफ मेंस में विकल्प में भी रख लेंगे। 

यूपीएससी का सिलेबस अच्छी तरह से देख कर, कितना पढ़ना है, कैसे पढ़ना है, यह सब कुछ डिसाइड कर लें। 

किस तरह से पढ़ने से आपका सबसे ज्यादा फायदा होगा, उसी हिसाब से स्ट्रेटजी बनाए और उसे फॉलो करें। 

कोचिंग इत्यादि लेना है या नहीं यह सब कुछ अच्छे से समझ ले।

सही study material लें –

आईएएस बनने के लिए यूपीएससी की परीक्षा बहुत अच्छे अंको से पास करके टॉप रैंक लाना होता है। 

इसलिए जिसमें विषय की पढ़ाई करें उसके लिए सही स्टडी मैटेरियल लें। सिविल सेवा की तैयारी के लिए minimum 2 से 3 वर्ष का समय लगता है। 

आप अपने ग्रेजुएशन से ही इसकी तैयारी शुरू कर दे। इस परीक्षा की तैयारी की शुरूआत NCERT की किताबों का अध्ययन करने से कर सकते हैं। 

इसके अलावा सिविल सेवा परीक्षा का पूरा सिलेबस अपने साथ रखे और उसके अनुसार ही तैयारी करे। 

इस संबंध में एक्सपर्ट से सलाह भी ले सकते हैं।

एकाग्रता और समय से पढ़ाई करें –

जाहिर है, परीक्षा पास करने के लिए सबसे जरूरी चीज यही है कि आप सबसे अच्छे तरीके से पढ़ाई करें। 

जो भी चीजें आपको पढ़नी है, सबको एकाग्रता के साथ पढ़े। जितनी अच्छी तरह से समझ कर पढ़ेंगे, आपका उतना ही फायदा है। 

इसके अलावा पढ़ते समय का भी ध्यान रखना जरूरी है कि कितने घंटे के लिए पढ़ना है। 

यह अलग-अलग विद्यार्थियों के लिए अलग-अलग होता है। 

आप अपने हिसाब से देख ले कि आपको पढ़ाई में कितना समय देना होगा सिलेबस को अच्छे से कंप्लीट करने के लिए। 

Generally, 4-5-6 घंटे तो रोजाना पढ़ाई करनी ही होती है।

सही से subjects का चुनाव करें –

सही subject का चुनाव करना भी जरूरी है। 

विषय का चयन करते समय ध्यान रखें कि आपको उस विषय में रूचि हो। 

जिस विषय में आपकी रूचि है उसी विषय का चयन करना आपके लिए फायदेमंद रहता है, क्योंकि जाहिर है आप उसमे अधिक नंबर लाएंगे। 

इसके बहुत से कंपलसरी विषय होते हैं, IAS के पद के लिए उन सभी की भी बहुत अच्छे से पढ़ाई जरूरी है। 

सिविल सेवा परीक्षा का सिलेबस बहुत बड़ा होने के कारण पूरे साल भर अध्ययन करना पड़ता है। 

इसलिए योजना के अनुसार ही चलते हुए पूरे साल अध्ययन करना जरूरी है। 

इसमें आपको अखबार, मैगजीन, मासिक पत्रिकाएं आदि नियमित रूप से पढ़ते रहनी होती है।

लिखने का भी अभ्यास करें –

आईएएस बनने के लिए जरूरी UPSC की परीक्षा में, अच्छे से पढ़ाई के साथ-साथ लिखने का अभ्यास भी जरूरी है क्योंकि मेंस में subjective आंसर भी लिखने होते हैं। 

प्री निकालने के बाद मेंस की परीक्षा में आपको लिखना पड़ता है। 

आप किसी भी टॉपिक पर संक्षेप में लगभग 200-400 शब्दों में लिखने का प्रयास करें। 

जितना आप लिखने की कोशिश करोगे उतनी ही आपकी लेखन शैली सुधरेगी और व्याकरण में कम गलती होगी, और उतने ही आपके अंक बढ़ेंगे।

एक backup plan भी रखें –

हालांकि यूपीएससी की परीक्षा की तैयारी में यह कोई जरूरी बात नहीं है। 

लेकिन लाखों उम्मीदवार IAS बनने का सपना लेकर यूपीएससी परीक्षा की तैयारी करते हैं, लेकिन इसमें सभी सफल नहीं हो पाते हैं। 

ऐसे में यदि आप परीक्षा में पास नहीं हो पाते हैं, तो एक प्लान बी तैयार रखना आपके लिए फायदेमंद होता है। 

यूपीएससी की तैयारी के समय अपने विश्व इतिहास, राजनीति, भूगोल, अर्थव्यवस्था, नैतिक सिद्धांतों, विभिन्न दार्शनिकों समेत अनेकों चीजों के बारे में पढ़ा होगा, ये ज्ञान आपको अन्य कई परीक्षाओं में पास करा सकता है। 

इसीलिए यूपीएससी की परीक्षा की सिर्फ तैयारी कर लेने से यदि आप इसमें सफल नहीं भी होते हैं, तो भी एक अच्छी नौकरी ले सकते हैं।

तो 12वीं के बाद आईएएस की तैयारी करने के लिए विद्यार्थी उपयुक्त बातों का ध्यान रख सकते हैं। 

इसके अलावा यूपीएससी की परीक्षा पास करने के लिए अन्य कई सामान्य instructions भी होते ही हैं, जिन्हें विद्यार्थी फॉलो कर सकते हैं। 

IAS परीक्षा बहुत कठिन होती है, इसके लिए बहुत तैयारी चाहिए इसीलिए विद्यार्थी यह भी जानना चाहते हैं कि दसवीं के बाद आईएएस की तैयारी कैसे करें? 

तो इसके लिए भी वही बात है, आपको consistently और सही तरीके से, सही स्टडी मटेरियल के साथ पढ़ाई करती रहनी चाहिए। 

IAS के रूप में चयनित हो जाने पर आप DM, DC, Collector जैसे पदों पर नियुक्त होते हैं। 

इन पदों से संबंधित कई सवाल भी विद्यार्थियों के मन में रहते हैं जैसे जिला कलेक्टर की सैलरी कितनी होती है? आदि। 

आईएएस की तैयारी कर रहे हैं विद्यार्थियों को इस तरह के सभी सवालों के जवाब पता होने चाहिए।

Conclusion

ऊपर दिए गए इस आर्टिकल में हमने बात की है कि 12वीं के बाद आईएएस की तैयारी कैसे करें? 

आईएएस की परीक्षा देश की सबसे कठिन परीक्षा होती है, ऐसे में विद्यार्थियों को बहुत पहले से ही इसकी तैयारी शुरू करनी पड़ती है, इसीलिए विद्यार्थियों को इस topic से संबंधित सारी बातें पता होनी चाहिए। 

यहां हमने इन्हीं जरुरी बातों के बारे में चर्चा की है।

Leave a Comment

Your email address will not be published.