दसवीं के बाद आईएएस की तैयारी कैसे करें? | 10th Ke Baad IAS Ki Taiyari Kaise Kare

दसवीं के बाद आईएएस की तैयारी कैसे करें? 12वीं के बाद आईएएस की तैयारी कैसे करें? 10वीं और 12वीं के बाद IAS की preparation कैसे करें?

दोस्तों बहुत से विद्यार्थियों का सपना आगे चलकर एक आईएएस अफसर बनने का होता है, और इसके लिए उन्हें यूपीएससी की परीक्षा पास करनी होती है जो देश की सबसे कठिन परीक्षा में आता है।

इसीलिए इस परीक्षा की तैयारी भी उतनी ही कठिन होती है, ऐसे में जिन विद्यार्थियों का दृढ़ सपना IAS बनने का होता है उन्हें दसवीं के बाद से ही इसकी तैयारी शुरू कर देने की जरूरत होती है।

आज यहां इस लेख में हम इसी की चर्चा करेंगे कि दसवीं के बाद और फिर 12वीं के बाद आईएएस की तैयारी किस तरह की जा सकती है।

प्रशासनिक सेवाओं के उच्च अधिकारियों यानी कि आईएएस आईपीएस आदि का पद प्रतिष्ठा और रुतबे के साथ अच्छी सैलरी और हर तरह की सुविधाओं से पूर्ण होता है, लेकिन इसके लिए परीक्षा भी उतनी ही कठिन होती है।

आप 10वीं या 12वीं के बाद जितनी जल्दी इसकी तैयारी करना शुरू कर दें आपके लिए उतना ही अच्छा है।

दसवीं के बाद आईएएस की तैयारी कैसे करें?

जितने पहले से हो सके आईएएस की तैयारी शुरू करें?

हर वर्ष लाखों की तादाद में उम्मीदवार अपने knowledge, समर्पण और उत्साह से देश की सेवा का मौका पाने के लिए IAS की परीक्षा में बैठते हैं।

UPSC की तैयारी के लिए विस्तृत नोट से लेकर, experts के मार्गदर्शन तक उम्मीदवारों की preparation process में सब कुछ शामिल होना चाहिए।

यूपीएससी की परीक्षा में बैठने के लिए एलिजिबल तो विद्यार्थी स्नातक यानी ग्रेजुएशन पूरी करने के बाद ही होते हैं, लेकिन ऐसा बिल्कुल भी नहीं है कि उन्हें ग्रेजुएशन के बाद ही इस परीक्षा की तैयारी शुरू करनी चाहिए, ऐसा करने से आप इस परीक्षा में सफल नहीं हो पाएंगे।

जिन्हें यूपीएससी की परीक्षा की जानकारी होती है, वह कहते हैं कि यूपीएससी की परीक्षा में प्रश्न किसी भी फील्ड से पूछा जा सकता है।

कक्षा नौवीं और दसवीं में हम जो इतिहास और भूगोल आदि में पढ़ते हैं वह सब भी यूपीएससी के सिलेबस में शामिल होता है।

हालांकि यूपीएससी की परीक्षा का भी एक निर्धारित सिलेबस होता है, लेकिन वह सिलेबस काफी vast रहता है, और पास होने के लिए आपको हर टॉपिक को अच्छे से पढ़ना पड़ता है।

इसलिए यदि पहले से ही किसी विद्यार्थी का लक्ष्य आईएएस है, तो वह निचली कक्षाओं से ही इसकी तैयारी शुरू कर दे। नौवीं दसवीं और उसके बाद 11वीं और12वीं में भी NCERT किताबों को अच्छे से पढ़ें।

दसवीं के बाद आईएएस की तैयारी कैसे करें?

जैसा हमने ऊपर कहा की दसवीं के बाद आप IAS की परीक्षा में बैठ तो नहीं सकते लेकिन यदि आपने दसवीं के बाद से ही इसकी तैयारी शुरू कर दी तो जब तक आप इस परीक्षा के लिए एलिजिबल होंगे, आपकी तैयारी इतनी अच्छी हो जाएगी कि आप इसमें सफल हो सके।

तैयारी में, सबसे पहले तो आप जो भी विषय पढ़ रहे हैं, यदि वो यूपीएससी के सिलेबस में आता है तो उसे पहले से ही अच्छे से एकाग्रता के साथ पढ़ें।

दसवीं के बाद से ही आप upsc के एग्जाम के बारे में पूरी जानकारी ले लें, exam में आने वाले सिलेबस को समझ लें।

यह सब कुछ समझ कर पहले से ही इस परीक्षा के लिए रणनीति बनाएं और study materials इकट्ठा करें।

दसवीं के बाद से ही आपको अखबार और इस परीक्षा से संबंधित मैगजीन पढ़ने की आदत डालनी चाहिए क्योंकि यूपीएससी में करंट अफेयर्स के लिए इनका लगातार अध्ययन करते रहना जरूरी होता है, आपको जितने पहले से इसकी आदत होगी उतना ही अच्छा है।

पढ़ाई के साथ साथ लेखन का कार्य भी जरूरी है, इसकी प्रैक्टिस भी पहले से ही रखें, दसवीं के बाद से ही इसके mock test देने शुरू कर सकते हैं, इससे आपको सिलेबस के साथ-साथ एग्जाम पैटर्न आदि की भी नॉलेज हो जाती है।

इस तरह लगातार इसकी तैयारी करते रहने से यूपीएससी आसान हो सकती है।

सिलबस की जानकारी

जैसा कि हम जानते हैं कि यूपीएससी की परीक्षा में कई सारे विषयों से प्रश्न पूछे जाते हैं जैसे कि इतिहास भूगोल अर्थव्यवस्था विज्ञान टेक्नोलॉजी ऐसे और भी कई सारे विषय हैं और हमें इन सारे विषयों की जानकारी होना बहुत जरूरी है इसलिए जब हम यूपीएससी परीक्षा की तैयारी कर रहे हैं तब हमें सबसे पहले इन सारे विषयों के सिलेबस के बारे में जानकारी इकट्ठा करनी चाहिए।

अपनी पढ़ाई के लिए एक रूटीन बनाएं

इस परीक्षा में हमें बहुत ही मेहनत और समर्पण के साथ अपनी पढ़ाई करनी होती है। इसलिए हमें अपने पढ़ाई के लिए एक रूटीन बना लेना चाहिए ताकि हम अपना सहारा समय और दिन भर का समय एक व्यवस्थित तरीके से बिता सकें रूटीन आपके पढ़ाने बहुत ही मदद करती है।

यह आपको समय-समय पर यह याद दिला दें कि आपको यह काम किस समय पर करना है और जब हम इस रूटीन को फॉलो करते हैं तब हम अपने दिन के समय को बहुत ही व्यवस्थित तरीके से उपयोग कर पाते हैं।

सभी विषयों के मूल सिद्धांतों को अच्छे से पढ़े

यूपीएससी परीक्षा में सभी विषय से प्रश्न पूछे जाते हैं इसलिए हमें इन विषयों के मूल सिद्धांतों को अच्छे से पढ़ना चाहिए। इसके लिए हम अपनी कक्षा 6 से लेकर कक्षा बारहवीं तक के एनसीआरटी किताब को पढ़ना चाहिए एनसीईआरटी किताबों में हमें सभी विषयों के बेसिक कांसेप्ट को अच्छे से बताया जाता है।

इसलिए हमें इतिहास से लेकर विज्ञान के सारे विषयों एनसीआरटी किताब को पढ़ना चाहिए।

रोजाना अखबार पढ़ें

दसवीं के बाद ही आपको रोजाना अखबार पढ़ना शुरू कर देना चाहिए क्योंकि अखबार में हमें हर दिन की खबरें प्राप्त होती है और आईएएस की परीक्षा में आपको देश दुनिया की सारी खबरों के बारे में प्रश्न पूछे जाते हैं इसलिए हमें अपने आसपास और देश-दुनिया की सारी विषय के बारे में जानकारी होना जरूरी है।

अखबार में हमें देश दुनिया की राजनीतिक व्यवस्था अर्थव्यवस्था के बारे में पता चलता है और यह सारे प्रश्न आपके आईएस की तैयारी में काफी मदद पहुंचाती है।

दसवी के बाद यूपीएससी की तैयारी कैसे करें? (10th ke baad upsc ki taiyari kaise kare)

जैसा कि हम जानते हैं कि UPSC की परीक्षा में बैठने के लिए ग्रेजुएशन की डिग्री होना बहुत ज़रूरी है पर यह परीक्षा हमारे देश के सबसे कठिन परीक्षा में से एक है इसलिए हमें इसकी तैयारी शुरू से कर देनी चाहिए अगर आप एक IAS ऑफ़िसर या IPS ऑफ़िसर बनना चाहते हैं तो आपको UPSC की परीक्षा दसवी कक्षा के बाद से शुरू कर देनी चाहिए।

दसवी के बाद UPSC की तैयारी के लिए किताबें

  • राजनीतिक (M.Laxmikant)
  • इंडियन आर्ट एंड कल्चर (Nitin Singhaniya)
  • ब्रीफ़ हिस्ट्री ऑफ़ मॉडर्न इंडिया (Rajeev Ahir)
  • भारतीय अर्थव्यवस्थ (Ramesh Singh)
  • Atlas

12वीं के बाद आईएएस की तैयारी कैसे करें?

असल में जो सारी बातें दसवीं के बाद से आईएएस की प्रिपरेशन के लिए है, वही बातें 12वीं के बाद आईएएस की प्रिपरेशन पर भी लागू होती है।

12वीं के बाद भी आप आईएएस की परीक्षा में तो नहीं बैठ पाएंगे, लेकिन ग्रेजुएशन में यदि आप थर्ड ईयर में है तो upsc के लिए आवेदन के योग्य होते हैं।

12वीं के बाद आप graduation में दाखिला लेते हैं, उसमें आप उन विषयों का अध्ययन करें जो “सिविल सेवा परीक्षा” पाठ्यक्रम के ऐच्छिक विषय हों।

General studies के लिए कॉम्पीटिशन सक्सेस रिव्यू, प्रतियोगिता निर्देशिका, प्रतियोगिता दर्पण आदि मासिक पत्रिकाओं का चयन कर सकते हैं।

Graduation में आपका जो एक सब्जेक्ट रहेगा, जिसकी आपको यूपीएससी में भी परीक्षा देनी होगी उसे ग्रेजुएशन के दौरान अच्छे से पढ़ें।

सभी study materials पढ़ते रहें साथ ही परीक्षा के पैटर्न और सिलेबस की अच्छी जानकारी के लिए मॉक टेस्ट भी देते रहना चाहिए।

यूपीएससी की परीक्षा पास करके एक आईएएस ऑफिसर बनने के लिए लगातार अभ्यास करते रहने की बहुत जरूरत होती है, इसकी परीक्षा की तैयारी में मॉक टेस्ट और मॉक इंटरव्यू जैसी चीजें आपको काफी फायदा देती है, आपके सेलेक्शन के चांसेस बढ़ा देते हैं।

IAS की तैयारी के लिए जरूरी सुझाव

UPSC की तैयारी कर रहे उम्मीदवारों को अपने लक्ष्य के प्रति समर्पित होने और कड़े प्रयासों की आवश्यकता होती है। अगर आपने CSE के लिए हिम्मत जुटाई है तो उसे लगातार बनाए रखने की जरूरत होती है।

तैयारि करने से पहले जरूरी है कि विद्यार्थी एक बार सभी विषयों का पूरा सिलेबस जान लें, प्रिलिम्स और मेन्स के सिलेबस के जरूरी बिंदु आप कहीं लिखकर रख सकते हैं।

सेहत और दूसरी जरूरी चीजों का ध्यान रखते हुए आप एक time table बना सकते हैं, पर जरूरी यह है कि उस तय समय में आप पूरी ईमानदारी के साथ तैयारी में जुटे रहें।

यूपीएससी की तैयारी में topics को अच्छे से बेसिक से समझना जरूरी होता है।

इसकी तैयारी में आप कई विषयों को पढ़ेंगे, नए विषयों को पढ़ने के साथ ही पुराने विषयों को याद रखने की जरूरत भी है। विषयों के हाथ से लिखे गए notes आपको उन्हें लम्बे समय तक याद रखने में मदद करेंगे।

पढ़ाई के तरीके को रोचक बनाने के लिए, आप सवालों के प्लेसकार्ड्स आदि बना सकते हैं। देश दुनिया की जानकारी रखें, नियमित रूप से अखबार और मैगजींस पढ़ें।

यदि आप यह सारी चीजें अच्छे से मेहनत के साथ करते हैं तो आप बिना कोचिंग के घर से भी IAS जैसी परीक्षा की तैयारी कर सकते हैं।

Leave a Comment

Your email address will not be published.