आईएएस बनने के लिए कितनी हाइट चाहिए? | ias banne ke liye height

आज हम जानेंगे कि आईएएस बनने के लिए हाइट कितनी होनी चाहिए? (ias banne ke liye height kitni chahie) या आईएएस बनने के लिए कितनी लंबाई चाहिए?

आज हम जानेंगे कि आईएएस (Ias) बनने के लिए कितनी हाइट चाहिए? या आईएएस बनने के लिए कितनी लंबाई चाहिए?

अगर आप आईएएस ऑफिसर बनना चाहते हैं तो ऐसे में आपके मन में मेडिकल टेस्ट को लेकर कई प्रकार के अलग-अलग सवाल आते होंगे और हो सकता है कि आपके अंदर भी कुछ मेडिकल की दिक्कतें हो।

लेकिन क्या इन मेडिकल दिक्कतों की वजह से आपको आईएएस ऑफिसर बनने से रोका जा सकता है इसके बारे में हम आज पूरे विस्तार से जानेंगे।

आज मैं आपको बताऊंगा कि आई ए एस की मेडिकल टेस्ट में क्या क्या देखा जाता है और अगर किसी प्रकार की कोई दिक्कत होने पर क्या होता है।

आईएएस ऑफिसर के मेडिकल टेस्ट में क्या क्या देखा जाता है?

  1. आपकी हाइट देखी जाती है
  2. हाइट के अनुसार आपका वजन मापा जाता है।
  3. आपकी आंखों को देखा जाता है।
  4. आप की सुनने की क्षमता को देखी जाती है।
  5. आपको किसी प्रकार की कोई बीमारी तो नहीं है, इसके बारे में भी पूरी जानकारी ली जाती है।

आईएएस बनने के लिए हाइट कितनी होनी चाहिए?

अगर आईएएस बनने के लिए हाइट की बात की जाए तो इसकी कोई निश्चित रिक्वायरमेंट नहीं है यानी कि अगर आप अच्छे अंक प्राप्त कर लेते हैं तो आपकी हाइट मायने नहीं रखती है।

आपकी हाइट कितनी भी हो सकती है वह चाहे 2 फुट की हो 5 फुट की हो या 7 फुट की हो इसकी कोई स्पेशल रिक्वायरमेंट नहीं होती है। IAS एक प्रशासनिक post है, और इसके लिए शारीरिक योग्यता पर ज़्यादा ध्यान नहीं दिया जाता है।

1. आईएएस बनने के लिए वजन कितना होना चाहिए?

इसी प्रकार आईएएस बनने के लिए वजन कितना होना चाहिए इसकी भी कोई निश्चित रिक्वायरमेंट नहीं है अगर आपको लगता है कि आपका वजन ज्यादा है तो आपको फिजिकल से पहले दो-तीन महीने का वक्त मिल जाता है जिसमें कि आप अपना वजन को कम या बढ़ा सकते हैं। हालांकि यह जरूरी बिल्कुल भी नहीं है। क्यूँकि जैसा कि हमने कहा शारीरिक योग्यता ज़्यादा मायने नहीं रखती है।

2. आईएएस बनने के लिए छाती कितनी होनी चाहिए?

और इसी तरह आईएएस बनने के लिए छाती भी बिल्कुल मायने नहीं रखती है, आपकी छाती कितनी भी हो आप आईएएस ऑफिसर बन सकते हैं।

3. क्या आंखें भी देखी जाती है?

इसका उत्तर है हां, आंखें भी देखी जाती है लेकिन अगर आपके आंखों में कोई दिक्कत है जैसे कि आपको सामने की चीज को देखने में दिक्कत होती है या दूर की चीजों को देखने में दिक्कत होती है या आपको कलर ब्लाइंडनेस है तो ऐसे में वह आपसे आपका पूरा रिपोर्ट लेते हैं हालांकि इसका मकसद आप को रिजेक्ट करना बिल्कुल भी नहीं होता है।

आपने अक्सर देखा होगा कि बहुत से आईएएस ऑफिसर चश्मा पहनते हैं मतलब यह बात तो बिल्कुल साफ हो जाती है कि आईएएस ऑफिसर बनने के लिए आंख का पूरी तरह से सही होना जरूरी नहीं है। अगर चश्में से आपका काम चल जाता है, तो कोई भी दिक़्क़त वाली बात नही है।

4. आईएएस बनने के लिए सुनने की क्षमता भी चेक किया जाता है।

आपको बता दें कि मेडिकल टेस्ट के दौरान हुए आपका सुनने की क्षमता भी चेक करते हैं हालांकि कोई दिक्कत होने पर वह आपको रिजेक्ट नहीं करेंगे, लेकिन चेक होता है।

आईएएस बनने के लिए मेडिकल टेस्ट क्यों लिया जाता है?

अब सवाल यह उठता है कि अगर आईएएस बनने के लिए हाइट वजन या छाती मायने नहीं रखती है तो फिर मेडिकल टेस्ट आखिरकार लिया ही क्यों जाता है।

मेडिकल टेस्ट लेने का सबसे बड़ा कारण है आपके बारे में जानना मेडिकल टेस्ट के माध्यम से बस वह आपके बारे में जानना चाहते हैं वहां लोग आप को रिजेक्ट करने के लिए नहीं बैठे हैं।

बहुत ही कम लोग होते हैं जो कि मेडिकल टेस्ट में रिजेक्ट होते हैं मेडिकल टेस्ट का महत्व सिर्फ और सिर्फ आपके बारे में पूरी जानकारी हासिल करना होता है।ताकि आप अपने IAS के कर्तव्य को सही तरह से निभा सकें।

Conclusion

आज आपने जाना की आईएएस ऑफिसर बनने के लिए कितनी हाइट होनी चाहिए तथा इसके अलावा वजन कितना होना चाहिए, चेस्ट कितनी होनी चाहिए तथा आंख कैसी होनी चाहिए।

और आपने यह भी जाना कि आईएएस ऑफिसर बनने के लिए इन सब मेडिकल टेस्ट में कोई दिक्कत आने पर आपको आईएएस ऑफिसर बनने से रोका नहीं जा सकता है।

तो मेडिकल टेस्ट की परवाह छोड़ दें और अपनी पूरी फोकस IAS की पढ़ाई पर रखें पूरी मेहनत और लगन के साथ पढ़ाई करें, आपको आईएएस ऑफिसर बनने से कोई भी नहीं रोक सकता है।

आज का हमारा आर्टिकल कैसा लगा आप हमें कमेंट करके जरूर बताएं तथा इसके अलावा आईएएस की मेडिकल टेस्ट से जुड़ी अगर कोई सवाल आपके मन में है तो आप हमें कमेंट में पूछ सकते हैं।

धन्यवाद।

Leave a Comment

Your email address will not be published.