12वीं के बाद मेडिकल कोर्स कौन से हैं? | 12th ke baad medical course

इस आर्टिकल में हम 12th के बाद मेडिकल कोर्स के बारे में बात करेंगे। 12वीं के बाद मेडिकल कोर्सेज कौन-कौन से हैं? 12वीं के बाद कौन-कौन से मेडिकल कोर्स उपलब्ध हैं? 

दोस्तों मेडिकल लाइन हमेशा से ही विद्यार्थियों के लिए करियर के सबसे मुख्य विकल्पों में से एक रहा है, डॉक्टर जैसे मुख्य प्रोफेशन के अलावा इस line में और भी कई विकल्प मौजूद हैं। 

इसीलिए बहुत से विद्यार्थी 12वीं के बाद मेडिकल लाइन चुनते हैं। 

सबसे पहले तो, मेडिकल लाइन में करियर बनाने के लिए दसवीं के बाद ही विद्यार्थियों को साइंस विषय (और उसमें भी बायोलॉजी) चुनना होता है।

और फिर 12वीं पूरी करने के बाद उन्हें कोई medical course करना होता है, वे जो भी बनना चाहते हैं, उसी अनुसार MBBS, Nursing, paramedical या diploma course में से किसी का चुनाव करते हैं। 

अब 12वीं के बाद शुरुआत में तो लगभग हर विद्यार्थी के मन में यह प्रश्न रहता ही है कि 12th के बाद मेडिकल कोर्स कौन-कौन से हैं? 

12वीं के बाद मेडिकल कोर्स कौन से हैं?

या वे 12वीं के बाद कौन से मेडिकल कोर्स कर सकते हैं?

यहां इस लेख में हम मुख्यतः 12th के बाद मेडिकल कोर्स के बारे में ही जानेंगे। अच्छे से जानेंगे कि 12th के बाद विद्यार्थी किन medical courses का चुनाव कर सकते हैं?

12th के बाद medical courses

Medical line में मुख्यतः तो विद्यार्थी डॉक्टर ही बनना चाहते हैं, और इसके लिए MBBS एक अनिवार्य और सबसे कॉमन कोर्स है। 

पर डॉक्टर में भी कई अलग-अलग प्रकार होते हैं और MBBS के अलावा और भी कई medical courses उपलब्ध हैं, जैसे BAMS, BHMS आदि जिन्हें करने के बाद विद्यार्थी डॉक्टर बनते हैं। 

इसके अलावा मेडिकल लाइन में फार्मेसी, नर्सिंग जैसे और भी कई विकल्प मौजूद हैं, और इनके अलग course होते हैं। 

इसके अलावा 12th के बाद medical courses की बात करने पर एक और जरूरी बात यह है कि इन medical courses में undergraduate medical courses, paramedical degree courses और paramedical diploma courses सभी आ जाते हैं। 

विद्यार्थी अपने करियर को ध्यान में रखकर इन medical courses में से किसी का भी चुनाव कर सकते हैं।

12th के बाद top medical courses

12th के बाद top medical courses में हम उन्हीं मेडिकल courses की बात करते हैं, जिनका सबसे ज्यादा विद्यार्थी 12वीं के बाद चयन करते हैं। 

12th के बाद top medical courses की सूची में निम्नलिखित मुख्य नाम आते हैं –

  • MBBS
  • BDS
  • BAMS
  • BHMS
  • BUMS
  • BPT
  • BMLT
  • BASLP
  • BOT
  • B.Sc nursing
  • B. Pharma
  • D. Pharma
  • B.V.Sc. & A.H.
  • आदि

ये सारे 12th के बाद चुने जाने वाले सबसे popular medical courses हैं। 

12वीं पूरी करने के बाद ज्यादातर विद्यार्थी इन्हीं में से किसी medical course में दाखिला लेते हैं और आगे उससे संबंधित क्षेत्र में करियर बनाते हैं। 

अब हम एक-एक करके इन medical courses के बारे में थोड़ा जानते हैं।

MBBS

निश्चय ही MBBS भारत में उपलब्ध सबसे लोकप्रिय चिकित्सा कोर्स है। 

एमबीबीएस कोर्स 5.5 साल का लंबा कोर्स है। इसमें 4.5 साल का academic program और  अंत में, 1 वर्ष का इंटर्नशिप करना होता है। 

सीधे-सीधे कहे तो एमबीबीएस भारत में एक डॉक्टर के रूप में practice करने के लिए अनिवार्य न्यूनतम योग्यता है, यानी डॉक्टर बनने के लिए आपको एमबीबीएस करना ही होगा।

BDS

इसका पूरा नाम बैचलर ऑफ डेंटल सर्जरी होता है। यह भी एमबीबीएस जितना ही लंबा कोर्स है इसमें भी एकेडमिक और फिर अंत के 1 साल में इंटर्नशिप करनी होती है। 

जैसा कि इसके नाम में है, इस कोर्स में खासतौर पर डेंटल यानी दंत चिकित्सा से संबंधित चीजों के बारे में पढ़ाया जाता है, इसके बाद विद्यार्थी डेंटिस्ट आदि बन सकते हैं।

BAMS

इसका पूरा नाम bachelor of ayurvedic medicines and surgery होता है। 

MBBS से अलग, इस कोर्स में आयुर्वेद और आयुर्वेदिक चिकित्सा के बारे में ही खास तौर पर विस्तार से पढ़ाया जाता है। 

यह भी कुल मिलाकर 5.5 वर्ष का ही कोर्स होता है। इस कोर्स को पूरा कर लेने के बाद विद्यार्थी एक आयुर्वेदिक डॉक्टर के रूप में प्रैक्टिस शुरू कर सकता है।

BHMS

इस कोर्स का पूरा नाम bachelor of homeopathic medicine and surgery होता है। 

जैसा कि इसके नाम से समझ में आ रहा है, इस कोर्स में खास तौर पर होम्योपैथिक विधियों, दवाओ और चिकित्सा का उपयोग करके रोगों का इलाज करने के बारे में पढ़ाया जाता है। 

इस कोर्स की अवधि भी कुल मिलाकर 5.5 साल की ही होती है।

BUMS

इसका full form bachelor of Unani medicine and surgery है। समय अवधि में यह कोर्स भी साडे 5 साल का ही होता है। 

इसमें मेडीकल के विद्यार्थियों को यूनानी चिकित्सा पद्धति के इस्तेमाल से रोगियों का उपचार करने के बारे में पढ़ाया जाता है।

BPT

इस कोर्स का पूरा नाम बैचलर आफ फिजियोथैरेपी (bachelor of physiotherapy) है। यह 4 साल का मेडिकल कोर्स होता है। 

इसके बाद आप फिजियोथैरेपिस्ट बनते हैं। यानी कि इसमें उन रोगियों के उपचार के लिए मालिश, व्यायाम, और treatment के बारे में पढ़ाया जाता है, जो दुर्घटना से घायल होते हैं या जो सर्जरी से रिकवर कर रहे होते हैं।

BMLT

इसका पूरा नाम Bachelor of Medical Lab Technicians है। 

यह एक 3 साल का स्नातक कोर्स है, जिसमें विद्यार्थियों को मेडिकल लैब टेक्नीशियन का काम सिखाया जाता है। 

यानी कि मेडिकल लैब्स में क्या-क्या काम होते हैं, उन्हें कैसे मैनेज किया जाता है, आदि।

BASLP

इस कोर्स का पूरा नाम bachelor of audiology speech language pathology है। 

यह medical course hearing impairment और language therapy आदि की पढ़ाई से संबंधित होता है। 

इंटर्नशिप के साथ यह कोर्स भी 5 साल का होता है।

BOT

इसका पुरा नाम Bachelor of Occupational Therapy है। 

यह कोर्स शारीरिक, मानसिक, और भावनात्मक अनुशासन और न्यूरोलॉजिकल सीमाओं से पीड़ित रोगियों के इलाज के लिए व्यायाम, प्रशिक्षण, सहायता उपकरणों, पर्यावरण अनुकूलन और उपकरणों का उपयोग करने के बारे में है। 

B.Sc nursing

आसान भाषा में, यह कोर्स एक नर्स बनने के लिए है। इसका पूरा नाम Bachelor of Science in Nursing है। 

यह कोर्स आपको एक professional nurse बनाता है। यह कोर्स 3-4 साल तक का हो सकता है।

B. Pharma

Medical में फार्मेसी का चुनाव भी बहुत से विद्यार्थी करते हैं। इसका पूरा नाम bachelor of pharmacy है। 

B.Pharma डिग्री आपको भारत में एक लाइसेंस प्राप्त chemist बनने में मदद करती है, यानी इस कोर्स के बाद आप खुद का मेडिकल स्टोर खोल सकते हैं। 

कोर्स की अवधि 4 वर्ष है। कोर्स मुख्य रूप से फार्मेसी, रसायन विज्ञान, जीव विज्ञान और स्वास्थ्य सेवा जैसे विषयों पर केंद्रित होता है।

D. Pharma

फार्म डी और बी.फार्मा दो अलग-अलग कोर्स होते हैं। असल में, डी फार्मा आप 12वीं के बाद नहीं कर सकते इसके लिए आपको पहले बी फार्मा करना होगा। 

B.V.Sc. & A.H.

इस कोर्स को bachelor of veterinary science and animal husbandry के नाम से जाना जाता है। 

यह कोर्स जानवरों में होने वाली बीमारियों के इलाज और रोकथाम के लिए जीव विज्ञान और प्रौद्योगिकी के उपयोग पर केंद्रित होता है, यह कोर्स 5 साल लंबा होता है।

12th के बाद कुछ अन्य medical courses

ऊपर बताए गए नाम कुछ सबसे मुख्य और popular medical courses हैं, जिनका विद्यार्थी 12वीं के बाद चयन कर सकते हैं। 

MBBS और उस जैसे अन्य कई courses में दाखिले के लिए NEET की परीक्षा पास करनी होती है। 

पर कई courses में बिना NEET के भी दाखिला हो जाता है। 

विद्यार्थियों को इसकी जानकारी भी होनी चाहिए कि नीट के बिना 12वीं के बाद मेडिकल कोर्स कौन-कौन से हैं? 

हालांकि ऊपर दिए गए नामों के अलावा और भी कुछ paramedical degree courses और paramedical diploma courses भी हैं, जिनमें विद्यार्थी 12वीं के बाद दाखिला ले सकते हैं। 

12th के बाद कुछ paramedical degree courses

  • B. Sc. Anaesthesia Technology
  • B. Sc. In Optometry
  • B. Sc. In Medical Record Technology
  • B. Sc. In X-Ray Technology
  • Bachelor of Occupational Therapy
  • B. Sc. in Renal Dialysis Technology
  • B. Sc. in Radiography
  • B. Sc. in Dialysis Technician
  • B. Sc. Perfusion Technology
  • B. Sc. in Dialysis Therapy
  • B. Sc. in Critical care technology
  • Bachelor of Radiation Technology
  • Bachelor of Physiotherapy
  • Bachelor of Naturopathy and Yoga Science
  • B. Sc. In Operation Theatre Technology
  • B. Sc. In Medical Imaging Technology
  • Bachelor of Ophthalmic Technology
  • B. Sc. Medical Lab Technology
  • B. Sc. In Respiratory Therapy
  • B. Sc. In Radiotherapy
  • B. Sc. In Nuclear Medicine Technology
  • आदि

12th के बाद कुछ paramedical diploma courses

  • ANM
  • GNM
  • Diploma in OT Technician
  • Diploma in X-Ray Technology
  • Diploma in Nursing Care Assistant
  • Diploma in Medical Laboratory Technology
  • Diploma in Operation Theatre Technology
  • Diploma in X-Ray Technology
  • Diploma in Anaesthesia
  • Diploma in Rural Health Care
  • Diploma in Medical Imaging Technology
  • Diploma in Physiotherapy
  • आदि

12वीं के बाद विद्यार्थी इन medical courses का भी चुनाव कर सकते हैं।

Conclusion

ऊपर दिए गए इस आर्टिकल में हमने 12th के बाद मेडिकल कोर्स के बारे में बात की है। 

मेडिकल लाइन में करियर बनाने की सोचने वाले विद्यार्थियों को 12th के बाद के medical course, इसके अलावा graduation के बाद के medical course, BA के बाद मेडिकल कोर्स आदि सभी के बारे में पूरी जानकारी होनी चाहिए। 

Leave a Comment

Your email address will not be published.