नीट के बिना 12वीं के बाद मेडिकल कोर्स कौन-कौन से हैं? | Medical courses after 12th without neet

दोस्तों इस आर्टिकल में हम बात करेंगे कि 12वीं के बाद NEET के बिना मेडिकल कोर्स कौन-कौन से हैं?

दोस्तों हर साल लाखों की संख्या में विद्यार्थी मेडिकल लाइन में अलग-अलग medical courses में दाखिला लेते हैं।

मेडिकल लाइन के मुख्य courses में MBBS जैसे अन्य कुछ courses का नाम आता है, और इस जैसे ज्यादातर मुख्य courses में दाखिला लेने के लिए वर्तमान में NEET पास करना अनिवार्य कर दिया गया है। 

NEET की परीक्षा काफी कठिन होती है, जिसे हर विद्यार्थी पास करने में समर्थ नहीं हो सकता है।

ऐसे में अक्सर विद्यार्थियों के मन में यह सवाल आता है कि NEET के बिना 12वीं के बाद मेडिकल कोर्स कौन-कौन से हैं?

यानी कौन से ऐसे medical courses हैं, जिनमें विद्यार्थी NEET की परीक्षा पास किए बिना दाखिला पा सकते हैं और फिर मेडिकल में एक अच्छा करियर बना सकते हैं?

नीट के बिना 12वीं के बाद मेडिकल कोर्स कौन-कौन से हैं?

यहां इस लेख में हम अच्छे से इसी पर बात करेंगे कि NEET के बिना 12वीं के बाद मेडिकल कोर्स कौन-कौन से हैं?

मेडिकल में करियर बनाने की सोचने वाले विद्यार्थी NEET पास किए बिना किन medical courses दाखिला लेकर अच्छा करियर बना सकते हैं?

NEET के बिना 12वीं के बाद मेडिकल कोर्स कौन-कौन से हैं?

NEET के बिना 12वीं के बाद के मुख्य मेडिकल courses की सूची –

  1. फार्मेसी
  2. पशु चिकित्सा विज्ञान
  3. मनोविज्ञान
  4. फिजियोथेरेपी
  5. नर्सिंग

इसके अलावा alternative medical career field में भी 12वीं के बाद NEET के बिना कुछ medical courses का विकल्प रहता है, जिनकी सूची कुछ इस प्रकार है –

  1. Bachelor of occupational therapy
  2. Diploma in rehabilitation (occupational therapy)
  3. BSc in biotechnology
  4. Bachelor of Technology in biomedical engineering
  5. BSc in microbiology
  6. BSc in cardiovascular Technology
  7. Bachelor of perfusion Technology
  8. Bachelor of respiratory therapy
  9. BSc in human nutrition
  10. Bachelor in psychology
  11. BSc in genetics                   आदि।

नीट परीक्षा को हर साल लाखों बच्चे देते हैं, पर उनमें से कुछ हजार बच्चों का ही दाखिला मेडिकल कॉलेज में होता है।

नीट की परीक्षा बहुत ही कठिन परीक्षा होती है और अभी इसमें AIIMS और JIPMER की परीक्षाओं को भी सम्मिलित कर दिया गया है जिसके कारण से नीट परीक्षा में प्रतिस्पर्धा और बढ़ गई है।

इसलिए जो भी छात्र नीट की परीक्षा की तैयारी कर रहे हैं उनके मन में प्रश्न रात आई है कि neet के बिना 12वीं के बाद मेडिकल कोर्स होते हैं? क्या neet के बिना 12वीं के बाद मेडिकल कोर्स कर सकते हैं?

या क्या नीट के बिना मेडिकल कोर्स की पढ़ाई या फिर मेडिकल क्षेत्र में जाया जा सकता है, तो मैंने ऊपर आपको किस आर्टिकल में ऐसे बहुत सारे कोर्स के बारे में बताया है जिन्हें आप नीट के बिना 12वीं के बाद कर सकते हैं और यह सारे कोर्स मेडिकल कोर्स हैं।

NEET के बिना 12वीं के बाद के मुख्य मेडिकल courses

1. फार्मेसी

मेडिकल क्षेत्र में एक अच्छे करियर के लिए बिना NEET की परीक्षा के, Pharmacy सबसे अच्छे विकल्पों में से एक है। 12वीं के बाद विद्यार्थी फार्मेसी में भी जा सकते हैं।

Pharmacy, दवाइयों से जुड़े अलग-अलग चीजों जैसे कि ड्रग सेफ्टी, ड्रग की खोज, मेडिकल केमिस्ट्री और औद्योगिक फार्मेसी आदि की पढ़ाई होती है।

मेडिकल लाइन में अपने बी फार्मा और डी फार्मा जैसे courses का नाम जरूर सुना होगा।

बी फार्मा कर लेने के बाद विद्यार्थी के पास सरकारी से लेकर प्राइवेट क्षेत्र तक काफी विकल्प होते हैं।

इसके अलावा वे खुद का व्यवसाय भी शुरू कर सकते हैं, इसके बाद विद्यार्थी मेडिकल शॉप आदि खोल सकते हैं।

2. पशु चिकित्सा विज्ञान

जैसा कि इसके नाम से ही स्पष्ट है, पशु चिकित्सा विज्ञान जानवरों के लोगों और उनके उपचार और डायग्नोस्टिक की पढ़ाई होती है।

बिना NEET की परीक्षा के मेडिकल लाइन में 12वीं के बाद विद्यार्थी के लिए यह भी एक बहुत अच्छा विकल्प है।

इसमें जाने के इच्छुक विद्यार्थी 12वीं के बाद Bachelor in Veterinary Science के कोर्स में दाखिला ले सकते हैं। इस कोर्स की अवधि भी 5.5 साल की होती है जिसमें पढ़ाई और इंटर्नशिप दोनों शामिल है।

जाहिर है इसमें दाखिले के लिए NEET की परीक्षा से नहीं गुजरना होता है।

BVSC graduates डॉक्टर बनते हैं, और पशु सर्जरी के क्षेत्र में अपनी सेवाएं दे सकते हैं।

इसके बाद विद्यार्थी पशुचिकित्सा सर्जन, सहायक पशुचिकित्सक, वेटरनरी फार्मकोलॉजिस्ट वेटरनरी न्यूरोलॉजिस्ट आदि बन सकते हैं।

3. मनोविज्ञान

मेडिकल फील्ड का एक और बहुत ही मुख्य ऑप्शन मनोविज्ञान यानी कि साइकोलॉजी होता है।

बिना NEET पास किए विद्यार्थी साइकोलॉजी की पढ़ाई कर सकते हैं।

मनोविज्ञान मानव के मन और उसके व्यवहार का वैज्ञानिक अध्ययन होता है।

12वीं के बाद बिना NEET के B.A honours किए हुए विद्यार्थी भी साइकोलॉजी का विकल्प चुन सकते हैं। यह 3 साल का एक स्नातक डिग्री पाठ्यक्रम होता है।

इसमें graduation करने के बाद उम्मीदवारों को govt. और प्राइवेट सेक्टर में भी आसानी से नौकरी मिल जाती है।

उनके पास universities, govt. Agencies, clinics, स्कूलों और अस्पतालों में नौकरी के अवसर होते हैं।

साइकोलॉजी में विद्यार्थी न केवल मनोवैज्ञानिक, बल्कि एक सलाहकार, सीमा बल अधिकारी, मध्यस्थ, न्यूरोसाइंटिस्ट आदि के रूप में नौकरी पा सकते हैं।

4. फिजियोथेरेपी

बिना NEET की परीक्षा से गुजरे, विद्यार्थियों के लिए 12वीं के बाद फिजियोथेरेपी की पढ़ाई करना भी एक अच्छा विकल्प रहता है।

इसकी परिभाषा में फिजियोथेरेपी उपचार के उस तरीके को कहते हैं, जिसमें भौतिक बलों जैसे कि ऊष्मा, बिजली, यांत्रिक दबाव और यांत्रिक बलों आदि के माध्यम से रोगों का उपचार किया जाता है।

12वीं के बाद विद्यार्थी बैचलर ऑफ फिजियोथेरेपी (Bachelor of Physiotherapy) में बिना NEET दिए दाखिला ले सकते हैं, जो एक स्नातक कार्यक्रम है।

इसमें patients के विकारों को ठीक करने के उद्देश्य से उम्मीदवारों को शरीर के शारीरिक गतिविधियों से निपटना सीखाते हैं।

फिजियोथेरेपी में graduation करने के बाद, उम्मीदवार के पास कई कॅरियर विकल्प होते हैं, इनमें स्वास्थ्य और फिटनेस क्लिनिक, विशेष स्कूल, औद्योगिक स्वास्थ्य के लिए उद्योग, फिजियोथेरेपिस्ट के रूप में सेवा देना आदि जैसे कई विकल्प आते हैं।

B.sc nursing के लिए पहले NEET जरूरी नहीं था

2021 से पहले तक बिना NEET की परीक्षा दिए BSc nursing भी मेडिकल लाइन में एक बहुत ही अच्छा ऑप्शन था।

लेकिन अब सरकार द्वारा नर्सिंग पाठ्यक्रम में प्रवेश लेने के लिए भी नीट की परीक्षा को अनिवार्य कर दिया गया है।

2021 के बाद से यदि कोई विद्यार्थी बीएससी नर्सिंग के कोर्स में दाखिला लेना चाहता है तो उसके लिए उसे नीट की परीक्षा देनी होगी और उस नीट की परीक्षा में आए अंकों के आधार पर उस विद्यार्थी का बीएससी नर्सिंग में दाखिला होगा।

12वीं के बाद NEET के बिना alternative medical career field

ऊपर बताए गए चार मुख्य fields के अलावा भी बिना NEET की परीक्षा पास किए, कई medical courses में दाखिला लेने का विकल्प बचता है।

इनमें आने वाले मुख्य मेडिकल courses के नाम हमने ऊपर जाने हैं। इन अलग-अलग courses में मेडिकल से संबंधित अलग-अलग चीजों की पढ़ाई कराई जाती है, जिसके बाद विद्यार्थियों के पास करियर के अच्छे ऑप्शंस खुलते हैं।

जो विद्यार्थी इन courses के लिए जाना चाहते हैं वे अपने अनुसार इनमें से किसी भी कोर्स का चुनाव कर सकते हैं।

इन अलग-अलग courses की अवधी आदि भी अलग-अलग होती है।

Conclusion

ऊपर दिए गए इस आर्टिकल में हमने नीट के बिना 12वीं के बाद मेडिकल कोर्स कौन-कौन से हैं? इस बारे में चर्चा की है।

देश के कुछ मुख्य मेडिकल courses में दाखिले के लिए NEET से गुजरना जरूरी है, लेकिन NEET राष्ट्रीय स्तर पर आयोजित एक काफी कठिन प्रवेश परीक्षा है, जिसे हर विद्यार्थी पास करने में समर्थ नहीं हो सकते हैं।

ऐसे में विद्यार्थी अक्सर यह जानना चाहते हैं कि NEET के बिना वे किन मेडिकल कोर्स में दाखिला ले सकते हैं? और हमने यहां उन्हीं की चर्चा की है।

Leave a Comment

Your email address will not be published.