आप आईएएस अधिकारी क्यों बनना चाहते हैं? | Aap IAS officer kyun banna chahte hai

इस लेख में हम बात करेंगे कि आप आईएएस अधिकारी क्यों बनना चाहते हैं? या दूसरे शब्दों में, कोई student IAS अधिकारी क्यों बनना चाहते हैं? 

दोस्तों सबसे popular और सबसे high posts वाली सरकारी नौकरियों में सिविल सेवा/civil services की नौकरियों का ही नाम आता है। 

Civil Service में कई services शामिल हैं, पर उनमें से IAS सबसे प्रमुख नाम है। 

बहुत से विद्यार्थियों का सपना एक IAS officer बनने का होता है, और इसके लिए लाखों की संख्या में विद्यार्थी हर साल upsc की तैयारी करते हैं, और civil service examination में बैठते हैं। 

IAS की तैयारी कर रहे विद्यार्थियों से कई बार लोग यह सवाल पूछते हैं, या interview में तो निश्चय ही उनसे यह सवाल पूछा जाता है कि आखिर आप एक IAS अधिकारी क्यों बनना चाहते हैं?

आप आईएएस अधिकारी क्यों बनना चाहते हैं?

यहां इस लेख में हम मुख्य तौर पर इसी की बात करेंगे। जानेंगे कि किन कारणों से विद्यार्थी IAS बनना चाहते हैं? 

Civil service में विद्यार्थी आईएएस का चुनाव क्यों करते हैं या क्यों करना चाहते हैं? 

आप IAS क्यों बनना चाहते हैं? 

दोस्तों Civil Services में IAS ज्यादातर विद्यार्थियों की पहली पसंद होती है, सिविल सेवा में यही सबसे ऊंचा पद होता है। 

IAS का पूरा नाम Indian Administrative Service होता है, आसान शब्दों में, जिला कलेक्टर/DC जो होते हैं, वे IAS officer ही होते हैं। 

इसके अलावा आईएएस ऑफिसर और भी ऊंचे पदों पर नियुक्त होते हैं, कुछ साल के अनुभव के बाद ये और भी ऊंचे पदों पर नियुक्त होते हैं। 

जो 22-23 साल की उम्र में आईएएस बनते हैं, retirement से कुछ साल पहले भारत के general secretary, defence secretary जैसे highest posts पर भी नौकरी करते हैं। 

पर इसकी परीक्षा पास करना काफी कठिन है, इसके लिए विद्यार्थियों को इससे संबंधित सारी जानकारी जैसे आईएस क्या है,कैसे बन सकते हैं, आईएएस सिलेबस क्या है? आदि के बारे में अच्छे से जानकारी होनी चाहिए।

अब यदि बात करें कि कोई विद्यार्थी/आप IAS क्यों बनना चाहते हैं? तो इसके कई कारण हो सकते हैं। 

पहली बात तो यह है कि अलग-अलग विद्यार्थियों के लिए आईएएस बनना चाहने के अलग-अलग कारण हो सकते हैं। 

कुछ सामान्य कारण, जैसे देश की सेवा, समाजिक बदलाव लाना चाहने, आदि ज्यादातर विद्यार्थियों द्वारा दिए जाने वाले जवाब है। 

इसके अलावा कुछ विद्यार्थियों का लक्ष्य ही होता है,सिर्फ आईएएस बनना। तो, आप IAS क्यों बनना चाहते हैं? 

इसके कई कारण हो सकते हैं। यहां हम कुछ सबसे मुख्य कारणों की बात करते हैं।

IAS बनना चाहने के कुछ मुख्य कारण ये हो सकते हैं –

  • देश/समाज की सेवा करने के लिए।
  • प्रशासन की शक्ति पाने के लिए।
  • समाज में नाम और प्रतिष्ठा पाने के लिए।
  • अच्छी salary और अन्य सरकारी सुविधाओं के लिए।
  • आदि

अब हम एक-एक करके इन कारणों के बारे में समझ लेते हैं।

देश/समाज की सेवा करने के लिए

ज्यादातर विद्यार्थियों से सिविल सेवा में जाना चाहने या IAS बनना चाहने का कारण पूछे जाने पर इसका जवाब देश की सेवा ही होता है। 

बहुत से विद्यार्थी वास्तव में देश की सेवा करने के लिए ही सिविल सेवा से जुड़ना चाहते हैं। 

सिविल सेवा में IAS अधिकारियों के पास ऐसी शक्तियां और कार्यक्षेत्र होते हैं, जिनसे वे ground level पर काम करके वास्तव में बदलाव लाने की क्षमता रखते हैं। 

नीति-निर्माण में महत्त्वपूर्ण भूमिका निभाने के कारण IAS officer भी नीतिगत सुधारों को मूर्त रूप प्रदान कर पाते हैं। 

IAS officers की प्रशासनिक शक्तियों का सही से इस्तेमाल किया जाए तो वह समाज को  बदल सकता है। और इससे जुड़ी यही वजह है कि बड़े बदलाव या कुछ अच्छा कर गुज़रने की चाह रखने वाले युवा इस IAS की नौकरी की ओर आकर्षित होते हैं, और इस बड़ी भूमिका में खुद को शामिल करने के लिये सिविल सेवा की परीक्षा में बैठते हैं।

प्रशासन की शक्ति पाने के लिए

IAS बनना चाहने का एक महत्वपूर्ण कारण प्रशासनिक power या एक तरह से कहें तो सत्ता पाना भी होता है। 

Power में, यदि शासन व्यवस्था के स्तर को देखें तो कार्यपालिका के महत्त्वपूर्ण दायित्वों का निर्वहन सिविल सेवकों के माध्यम से ही होता है, और चूंकि IAS इसमें सबसे अच्छी पोस्ट है इसीलिए इसके पास काफी पावर भी होती है। 

आज सिविल सेवकों के पास कार्य करने की व्यापक शक्तियाँ हैं। 

इसमें IAS को पूरे जिले या एक निर्धारित क्षेत्र का कार्यभार दिया जाता है जिसमें प्रशासन की ओर से लिए जाने वाले महत्वपूर्ण फैसले यह अधिकारी ही लेते हैं। 

IAS officers के पास ऐसी अनेक संस्थागत शक्तियाँ होती हैं, जिनका उपयोग करके वे किसी भी क्षेत्र में आमूलचूल परिवर्तन ला सकते हैं। 

इस कारण से भी अलग-अलग क्षेत्रों में सफल लोग इस civil सेवा के प्रति आकर्षित होते हैं।

समाज में नाम और प्रतिष्ठा पाने के लिए।

इसके अलावा एक और कारण जिसकी वजह से विद्यार्थी सिविल सेवा में IAS बनने के लिए जाते हैं, वह है समाज में उनकी नाम और प्रतिष्ठा का बढ़ना। 

IAS बन जाने पर समाज में हर जगह आपका नाम होता है और आपको एक सम्मान की नजर से देखा जाता है। 

IAS जैसे top post पर नौकरी मिलना काफी सम्मान की बात भी होती है। 

हालांकि कई उम्मीदवारों के लिए यह कोई मुख्य कारण नहीं होता है, पर जाहिर है जब हम IAS जैसे posts की बात कर रहे हैं, तो समाज में नाम और प्रतिष्ठा मिलना स्वाभाविक ही है। 

IAS के पद पर नौकरी प्राप्त करना बहुत ही कठिन है, साथ ही coaching आदि लेने पर IAS बनने में खर्च भी बहुत आ सकता है। 

पर इस पद पर नौकरी मिल जाने के बाद सम्मान और प्रतिष्ठा अलग ही होती है।

अच्छी salary और अन्य सरकारी सुविधाओं के लिए

Salary भी कई विद्यार्थियों के लिए एक मुख्य कारण होता है आईएएस बन्ना चाहने का, क्योंकि salary wise भी IAS सबसे अच्छा सैलरी वाली सरकारी नौकरियों में आता है। 

IAS और इसके साथ-साथ सिविल सेवाओं के अंतर्गत जितनी अन्य भी नौकरियां आती हैं, उन सभी ही पदों पर salary और उसके साथ मिलने वाली दूसरी सरकारी सुविधाएं भी बहुत ही अच्छी रहती हैं। 

लाख रुपए तक या इससे ज्यादा भी एक आईएएस की सैलरी चली जाती है, और इसके साथ-साथ, रहने का खर्च, आने जाने के लिए गाड़ी का खर्च, मोबाइल का खर्च, देखभाल के लिए कर्मचारियों का खर्च, जैसी कई अन्य सुविधाएं सरकार की ओर से दी जाती हैं। 

IAS में केवल आकर्षक वेतन, पद की सुरक्षा, कार्य क्षेत्र का वैविध्य और अन्य तमाम प्रकार की सुविधाएँ ही नहीं मिलती हैं, बल्कि देश के प्रशासन में शीर्ष पर पहुँचने के अवसर के साथ-साथ उच्च सामाजिक प्रतिष्ठा भी मिलती है।

Conclusion

ऊपर दिए गए इस आर्टिकल में हमने बात की है कि विद्यार्थी किन कारणों से आईएएस बनना चाहते हैं, यहां हमने आईएस बनाना चाहने के कुछ मुख्य कारणों के बारे में बात की है। 

Civil services और उसमें भी IAS का चुनाव बहुत से विद्यार्थी करते हैं। 

ऐसे में सबसे पहले उन्हें इस सवाल का जवाब तो पाता होना ही चाहिए कि आप IAS क्यों बनना चाहते हैं? या आप सिविल सेवा में क्यों आना चाहते हैं?

Leave a Comment

Your email address will not be published.