12वीं के बाद यूपीएससी की तैयारी कैसे करें? |12th ke bad UPSC ki taiyari kaise karein

दोस्तों इस आर्टिकल में हम बात करेंगे कि 12वीं के बाद यूपीएससी की तैयारी कैसे करें? 12th के बाद यूपीएससी की तैयारी कैसे कर सकते हैं? 

दोस्तों यदि आप उच्च पदों पर सरकारी नौकरी लेना चाहते हैं तो आपने यूपीएससी का नाम निश्चय ही सुना होगा। 

बड़े बड़े अफसर, जैसे IAS, IPS इसके अलावा IFS या IRS officers आदि बनने के लिए यूपीएससी की ही परीक्षा पास करनी होती है। 

यूपीएससी को देश की सबसे कठिन परीक्षा कहा जाता है, और जो विद्यार्थी यूपीएससी के लिए तैयारी करते हैं, या करना चाहते हैं उन्हें कहा जाता है कि बहुत पहले से ही वे इसकी तैयारी शुरू कर दें। 

ऐसे में जो इन civil services में जाना चाहते हैं, उनके मन में एक सवाल कई बार आता है कि 12वीं के बाद यूपीएससी की तैयारी कैसे करें? 

या वे 12th के बाद यूपीएससी की तैयारी कैसे कर सकते हैं?

आगे इस आर्टिकल में हम मुख्यत: इसी पर चर्चा करेंगे कि 12वीं के बाद यूपीएससी की तैयारी कैसे करें? 

12वीं के बाद यूपीएससी की तैयारी कैसे करें?

12वीं के बाद यूपीएससी की तैयारी कैसे की जा सकती है? 

इसके साथ साथ हम यूपीएससी की परीक्षा से संबंधित कई जरूरी बातों के बारे में भी जान लेंगे।

12वीं के बाद UPSC की तैयारी कैसे करें?

आईएएस, आईपीएस जैसे देश के सबसे प्रतिष्ठित पदों पर ऑफिसर बनने के लिए संघ लोक सेवा आयोग (UPSC- union public service commission) सिविल सेवा परीक्षा (civil service examination) का आयोजन करता है। 

यूपीएससी द्वारा आयोजित CSE, हमारे देश की सबसे कठिन व प्रतिष्ठित परीक्षा है। 

हर साल लाखों की संख्या में युवा कुछ सैकड़ों की संख्या में उपलब्ध सीटों के लिए इस एग्जाम की तैयारी करते है। 

इस परीक्षा में सफल होने के लिए बहुत ही कड़ी मेहनत के साथ इसकी प्रिपरेशन करनी पड़ती है। 

सिविल सेवा में सफलता पाने के लिए एक पढ़ाई की एक सटीक रणनीति और व्यवस्था होना जरूरी है।

यूपीएससी देश की सबसे कठिन परीक्षा होती है, और इसका सिलेबस भी बहुत ही ज्यादा vast होता है। 

यूपीएससी की तैयारी में बहुत सारे विषय जैसे हिस्ट्री, ज्योग्राफी, इकोनॉमिक्स, पॉलिटिक्स, general studies समेत और भी कई विषय पढ़ने होते हैं। 

और उन सारे विषयों का सिलेबस भी बहुत vast होता है। 

इसलिए जिन उम्मीदवारों का लक्ष्य शुरू से ही सिविल सर्विस में जाने का होता है, उन्हें काफी पहले से, हो सके तो दसवीं से ही इसकी तैयारी शुरू कर देनी चाहिए। 

यूपीएससी की परीक्षा में बैठने के लिए ग्रेजुएशन न्यूनतम शैक्षणिक योग्यता है, लेकिन ऐसा नहीं है कि आप ग्रेजुएशन के बाद इसकी तैयारी शुरू करेगें, और इसमें सफल हो जाएंगे। 

सालों तक प्रिपरेशन करने वाले उम्मीदवारों को भी इसे पास करने के लिए 3-4 attempts लग जाते हैं, इसीलिए उम्मीदवारों को कम से कम 12वीं के बाद तो इसकी तैयारी शुरू कर ही देनी चाहिए।

12th के बाद इस तरह UPSC की preparation कर सकते हैं –

  • Graduation में दाखिला लें।
  • सही subjects का चुनाव करें।
  • Strategy बनाएं, Study materials लें।
  • एकाग्रता के साथ नियमित पढ़ाई करें।
  • पढ़ाई के साथ साथ लिखने का भी अभ्यास करें।

Graduation में दाखिला लें-

यूपीएससी की परीक्षा में बैठने के लिए ग्रेजुएशन न्यूनतम शैक्षणिक योग्यता है, तो 12वीं के बाद सबसे पहले तो आपको ग्रेजुएशन पूरा करना होगा। 

आप किसी भी स्ट्रीम के किसी भी विषय में ग्रेजुएशन का कोई भी कोर्स कर सकते हैं। 

सिविल सेवा परीक्षा के लिए आपको अपनी 12वीं पुरी होने के बाद ही, अच्छे से ये डिसिजन ले लेना चाहिए, कि आपको सिविल सेवा में जाना है। 

सिविल सेवा की तैयारी के लिए कम से कम 2 से 3 वर्ष, या इससे भी ज्यादा का समय लगता है। 

आप अपने ग्रेजुएशन के शुरूआत से ही इसकी तैयारी शुरू कर दें।

सही subjects का चुनाव करें और उनकी अच्छे से तैयारी करें-

ग्रेजुएशन में उसी विषय का चुनाव करें जिसमें आपकी रुचि हो, उस एक सब्जेक्ट को आप यूपीएससी में अपने ऑप्शनल के तौर पर ले सकते हैं। 

किसी भी विषय में ग्रेजुएट, यूपीएससी की परीक्षा दे सकते हैं। 

जैसा कि हमने कहा, यूपीएससी की परीक्षा में बहुत सारे विषय आ जाते हैं, और उन सभी विषयों की आपको अच्छे से जानकारी होनी चाहिए। 

सबसे पहले, निचली कक्षाओं के एनसीईआरटी किताब से हिस्ट्री, ज्योग्राफी, पॉलिटिक्स इसके अलावा मैथ, साइंस आदि की भी प्रिपरेशन चालू करें। 

समसामयिक विषय भी ऐश्वर्या के लिए बहुत जरूरी हो जाते हैं, इनकी तैयारी करने के लिए आप नियमित रूप से समाचार पत्रों का अध्ययन करें। 

जैसे द हिंदू, इंडियन एक्सप्रेस के अलावा बीबीसी और डीडी न्यूज का बुलेटिन आदि भी आप देख सकते हैं। हर सब्जेक्ट पर आपकी अच्छी पकड़ होनी चाहिए।

Strategy बनाएं, Study materials लें-

यूपीएससी पास करने के लिए कोचिंग लेना कोई अनिवार्य नहीं है। बहुत से विद्यार्थी बिना कोचिंग के भी यूपीएससी पास करते हैं। 

आप अपने हिसाब से अपनी योग्यता देखकर स्ट्रेटेजी यानी रणनीति बनाएं कि आपको किस तरह से पढ़ाई करनी है। 

आपके कौन से विषय अच्छे हैं, किन विषयों पर आपको ज्यादा ध्यान देना है आदि। 

यूपीएससी की तैयारी के लिए मार्केट में जो स्टडी मटेरियल उपलब्ध हैं उन्हें खरीदें और अच्छे से पढ़ाई करें। 

इसके अलावा यदि आप चाहे तो अपनी सुविधानुसार कोचिंग और गाइडेंस भी ले सकते हैं।

एकाग्रता के साथ नियमित पढ़ाई करें-

यूपीएससी की तैयारी में कड़ी मेहनत और लगन के साथ पढ़ाई सबसे जरूरी हो जाती है। 

इसमें आपको जितने भी विषय पढ़ने होते हैं, उन सभी की आप को नियमित रूप से पढ़ाई करते रहना चाहिए, ताकि सारे विषयों पर आप की पकड़ बनी रहे। 

यूपीएससी के विषयों को लेकर विद्यार्थियों के मन में कई सवाल रहते हैं, यूपीएससी में कौन-कौन से विषय होते हैं? क्या यूपीएससी में मैथ होता है? आदि। 

आप अपनी क्षमता के अनुसार रोजाना कुछ घंटे तय कर ले और उसमें एकाग्रता के साथ पढ़ाई करें। 

कुछ कुछ समय के अंतराल के बाद विषयों को बदलकर पढ़ाई करें, ताकि पढ़ाई में आपकी रुचि बनी रहे।

पढ़ाई के साथ साथ लिखने का भी अभ्यास करें-

आपको पढ़ने के साथ लिखने का भी अभ्यास करना है, क्योंकि यूपीएससी के प्री एग्जाम को निकालने के बाद मेंस की परीक्षा देनी पड़ती है, जिसमें आपको subjective यानी बड़े answers लिखने पड़ते हैं। 

आप किसी भी टॉपिक पर संक्षेप में लगभग 200 शब्दों में लिखने का प्रयास करें।

जितना आप लिखने की कोशिश करोगे उतनी ही आपकी लेखन शैली सुधरेगी और व्याकरण में कम गलती होगी। 

और इस तरह आप उतने ही ज्यादा अंक अर्जित करेंगे।

इन बातों का ध्यान रखकर आप 12वीं के बाद यूपीएससी की तैयारी शुरू कर सकते हैं। 

UPSC की तैयारी हर साल बहुत सारे विद्यार्थी करते हैं पर उनमें से बहुत कम ही सफल हो पाते हैं। 

विद्यार्थियों को सही तरीके से यूपीएससी की प्रिपरेशन करने के साथ-साथ इससे संबंधित सारी जरूरी बातों, जैसे इसके विषय और papers, UPSC के exam, यूपीएससी का सिलेबस क्या है? आदि के बारे में भी पता होना चाहिए। 

इसके अलावा ऐसा भी हो सकता है कि विद्यार्थी यूपीएससी की तैयारी में सफल ना हो पाएं, पर यूपीएससी की तैयारी के दौरान विद्यार्थी इतनी पढ़ाई कर लेते हैं, कि बाकी कई क्षेत्रों में कई नौकरियां निकाल सकते हैं, या अन्य कार्यरत हो सकते हैं। 

इसीलिए विद्यार्थियों को एक plan B भी अपने पास रखना चाहिए।

Conclusion

ऊपर यहां इस आर्टिकल में हमने बात की है कि 12वीं के बाद यूपीएससी की तैयारी कैसे करें? 

बहुत से विद्यार्थियों का सपना यूपीएससी पास करके आईएएस आईपीएस जैसे ऑफिसर बनने का होता है। 

लेकिन यूपीएससी देश की सबसे कठिन परीक्षा है इसीलिए इसकी प्रिपरेशन भी काफी पहले से ही शुरु कर देनी चाहिए। 

यहां हमने बात की है कि 12वीं के बाद यूपीएससी की तैयारी करने के लिए विद्यार्थियों को किन बातों का ध्यान रखना चाहिए।

Leave a Comment

Your email address will not be published.