टीईटी के लिए योग्यता क्या चाहिए? | TET ke liye yogyta kya chahiye

इस आर्टिकल में हम बात करेंगे कि टेट के लिए योग्यता क्या चाहिए? TET की परीक्षा में बैठने के लिए योग्यता क्या चाहिए होती है? 

दोस्तों career के चुनाव में बहुत से विद्यार्थी teaching profession में जाने की इच्छा रखते हैं, यानी वे एक टीचर बनना चाहते हैं। 

सरकारी शिक्षकों की नियुक्ति के लिए कई परीक्षाएं आयोजित होती हैं, जिसमें से एक मुख्य परीक्षा TET है। 

सरकारी टीचर बनने के लिए बहुत से उम्मीदवार टेट की प्रिपरेशन करते हैं। 

जिन उम्मीदवारों को इसके बारे में पुरी जानकारी नहीं होती, उनके मन में TET से संबंधित कई प्रश्न रहते हैं। 

जिसमें से एक काफी common सवाल यह भी रहता है कि TET के लिए योग्यता क्या चाहिए होती है? 

या CTET में बैठने के लिए शैक्षणिक योग्यता क्या होनी चाहिए? 

टीईटी के लिए योग्यता क्या चाहिए?

यहां इस लेख में हम मुख्य तौर पर इसी की बात करेंगे। 

जानेंगे कि TET के लिए योग्यता क्या चाहिए? TET की परीक्षा में बैठने के लिए योग्यता क्या मांगी जाती है?

इसके साथ साथ हम TET परीक्षा से संबंधित अन्य कुछ जरूरी बातों के बारे में भी जानेंगे। 

TET के लिए योग्यता क्या चाहिए?

TET परीक्षा के लिए जरूरी योग्यता के बारे में जानने से पहले TET क्या है, यह जान लेते हैं। 

TET का पूरा नाम Teacher Eligibility Test होता है, इसे हिंदी में शिक्षक पात्रता परीक्षा कहते हैं। 

यह सरकारी शिक्षक की भर्ती के लिए आयोजित की जाने वाली एक परीक्षा है। 

टीचर एलिजिबिलिटी टेस्ट (TET) का आयोजन National लेवल पर और State लेवल पर भी होता है। 

इस परीक्षा का आयोजन देश के लगभग सभी राज्यों में कराया जाता है। 

जो अभ्यर्थी इस पात्रता परीक्षा को पास कर लेते हैं, वो सरकारी टीचर बनने के काबिल हो जाते है। 

TET परीक्षा पास करने वाले उम्मीदवार अपने राज्य में सरकारी टीचर की नौकरी के लिए आवेदन कर सकते हैं। 

TET की परीक्षा पास करने के बाद उम्मीदवार कक्षा 1 से लेकर 8वीं तक के विद्यार्थियों को पढ़ाने के लिए, किसी भी गवर्नमेंट स्कूल में टीचर बनने के लिए आवेदन कर सकते हैं। 

TET की परीक्षा हर राज्य के व्यावसायिक परीक्षा बोर्ड के द्वारा आयोजित की जाती है। 

इस exam को पास करने पर उम्मीदवार को कक्षा 1 से 5 तक के लिए प्राथमिक शिक्षक के तौर पर नियुक्ति का eligibility certificate और कक्षा 6-8 तक के लिए उच्च प्राथमिक शिक्षक के तौर पर नियुक्ति का eligibility certificate दिया जाता है।

TET के लिए जरूरी योग्यता –

तो, सरकारी शिक्षक के पदों पर भर्ती के लिए TET एक महत्वपूर्ण परीक्षा है। 

नेशनल काउंसिल फॉर टीचर एजुकेशन (NCTE-National Council for Teacher Education) के द्वारा जारी guidelines के आधार पर यह परीक्षा केंद्र एवं राज्य दोनों स्तर पर आयोजित की जाती है। 

राष्ट्रीय स्तर पर CBSE यानी Central board of secondary Education द्वारा TET का आयोजन किया जाता है। 

वहीं राज्य पर भी यह परीक्षा वहां के प्रोफेशनल एग्जाम बोर्ड के द्वारा आयोजित होती है। 

राज्यों द्वारा भी TET की परीक्षाएं आयोजित की जाती हैं, जिनमें UPTET, PSTET, HTET, MHTET  समेत कई अन्य कई नाम शामिल हैं।

TET की परीक्षा में 2 पेपर देने होते हैं। पेपर 1 कक्षा 1 से 5 तक के विद्यार्थियों को पढ़ाने के लिए प्राथमिक चरण का होता है। 

और पेपर 2 कक्षा छह से आठवीं तक के विद्यार्थियों को पढ़ाने के लिए उच्च प्राथमिक चरण का होता है। 

इन दोनों अलग-अलग पेपर्स के लिए उम्मीदवारों से थोड़ी अलग-अलग योग्यता मांगी जाती है।

इस परीक्षा में बैठने के लिए जरूरी योग्यता की बात करें तो TET के लिए योग्यता मानदंड हर राज्य के लिए अलग-अलग हो सकते हैं, राज्य स्तर पर इसका निर्धारण राज्य सरकार करती है। 

हालांकि सभी राज्य की TET परीक्षाओं के लिए आधारभूत मानदंड लगभग समान ही रहते हैं। 

TET paper 1 के लिए जरूरी योग्यता –

इस पेपर को पास करने वाले उम्मीदवार कक्षा 1 से लेकर 5 तक के प्राइमरी टीचर बन सकते हैं। Required qualifications में –

  • Candidate को 12th पास होना चाहिए, साथ ही 12वीं कक्षा में कम से कम 50% अंक प्राप्त होने ही चाहिए।   
  • इसके साथ-साथ उम्मीदवार को प्राथमिक शिक्षा में दो साल का डिप्लोमा किया हुआ होना चाहिए।   
  • उम्मीदवार को ग्रेजुएशन या B.Ed पास होना चाहिए, या फिर इनके अंतिम साल में होना चाहिए। 
  • General category के उम्मीदवारों की आयु 18 से 35 वर्ष होनी चाहिए। पिछड़ा वर्ग के लिए 3 साल की छूट, SC/ST उम्मीदवारों को आयु सीमा में 5 वर्ष और handicaped उम्मीदवारों को 10 वर्ष की छूट दी जाती है।

TET Paper 1 में बैठने के लिए उम्मीदवारों के पास इतनी योग्यता होनी चाहिए। 

TET paper 2 के लिए जरूरी योग्यता –

  • Candidate को 12th पास होना चाहिए, साथ ही 12वीं कक्षा में कम से कम 50% अंक प्राप्त होने ही चाहिए।
  • डीएड कोर्स (D.Ed course) कम से कम 50% अंकों के साथ उत्तीर्ण किया हुआ होना चाहिए।
  • उम्मीदवार का ग्रेजुएशन पूरा होना चाहिए और साथ ही उम्मीदवार का बीएड भी कंप्लीट होना चाहिए या फिर b.Ed के अंतिम साल में होना चाहिए।
  • General category के उम्मीदवारों की आयु 18 से 35 वर्ष होनी चाहिए। पिछड़ा वर्ग के लिए 3 साल की छूट, SC/ST उम्मीदवारों को आयु सीमा में 5 वर्ष और handicaped उम्मीदवारों को 10 वर्ष की छूट दी जाती है।

TET Paper 2 में बैठने के लिए उम्मीदवारों के पास इतनी योग्यता होनी चाहिए। 

इसे पास करने के बाद उम्मीदवार 6 से लेकर 8 कक्षा तक के शिक्षक बन सकते हैं।

दोनों अलग-अलग कक्षाओं के पेपर्स के हिसाब से टेट परीक्षा का सिलेबस आदि भी उसी हिसाब से रहता है। 

टीचर बनने के लिए आयोजित परीक्षा में बैठने से पहले विद्यार्थियों को टेट सिलेबस इसके अलावा सीटेट सिलेबस आदि की पूरी जानकारी होनी चाहिए। 

जो विद्यार्थी टीचिंग में अपना करियर pursue करना चाहते हैं, उन्हें टेट इसके साथ-साथ इस जैसी दूसरी परीक्षाओं के बारे में भी पूरी जानकारी ले लेनी चाहिए। 

जैसे tet के अलावा, सीटेट के लिए क्या योग्यता चाहिए? इसका exam pattern, और परीक्षा से संबंधित दूसरी जानकारी आदि।

Conclusion

ऊपर यहां इस आर्टिकल में हमने बात की है कि टेट के लिए योग्यता क्या चाहिए? 

TET की परीक्षा में बैठने के लिए क्या योग्यता मांगी जाती है? 

बहुत से विद्यार्थियों का लक्ष्य एक टीचर बनने का होता है, जिसके लिए वे शिक्षक भर्ती के लिए आयोजित होने वाली अलग-अलग परीक्षाओ में बैठते हैं। 

इन्हीं में से एक मुख्य परीक्षा TET है, यहां हमने इसी TET परीक्षा में बैठने के लिए जरूरी योग्यताओं के बारे में बात की है। 

Leave a Comment

Your email address will not be published.