ITI में कितने सब्जेक्ट होते है? | ITI Subject list in hindi

दोस्तों यहां इस लेख में हम जानेंगे की आईटीआई में कुल कितने सब्जेक्ट होते हैं? कोई भी विद्यार्थी जो आईटीआई करने की सोचता है उसके पास आईटीआई में कौन-कौन से कोर्स करने का विकल्प होता है? आईटीआई के अंतर्गत कौन-कौन से विषय पढ़ाए जाते हैं? (iti me kitne subject hote hai) आदि।

दोस्तों हर किसी विद्यार्थी को करियर में कोई प्रोफेशन चुनना ही होता है, हर विद्यार्थी डॉक्टर, इंजीनियर या ऑफिसर ही नहीं बनता, इसके अलावा भी बहुत से क्षेत्र हैं।

कई क्षेत्रों में कुछ आसान courses करके, आसान पढ़ाई करके भी अच्छी नौकरियां पाई जा सकती है, और iti का कोर्स ऐसा ही एक कोर्स है। 

आज हम जानेंगे

ITI क्या है, इसमें कितने कोर्स होते हैं?

हो सकता है ऐसा आपके साथ भी हुआ हो कि आप ITI और IIT में confuse हुए हों, पर इन दोनों में बहुत अंतर है।

यहां बात करें आईटीआई की तो आईटीआई का पूरा नाम इंडस्ट्रियल टेक्निकल इंस्टीट्यूट (industrial technical institute ) होता है। इसे ही हिंदी में औद्योगिक प्रशिक्षण संस्थान कहा जाता है।

सीधे-सीधे कहे तो आईटीआई की ट्रेनिंग लेने के बाद आप बहुत से संस्थानों में काम करने के लिए जरूरी टेक्निकल योगिता से कर लेते हैं।

इसमें इंडस्ट्रियल रिलेटेड कोर्स होते है जैसे की इलेक्ट्रीशियन, कारपेंटर, वेल्डर, फिटर, और फैशन डिजाइनिंग आदि।

इस कोर्स में विद्यार्थियों को इंडस्ट्रियल लेवल के जॉब के लिए ट्रैन किया जाता है। 

जो भी विद्यार्थी आईटीआई का कोर्स करना चाहता है उसे पहले दसवीं या 12वीं पास करनी होगी। उसके बाद देश में बहुत से सरकारी और प्राइवेट आईटीआई कॉलेज है, जिनमें छात्र आईटीआई के कोर्स में दाखिला ले सकते हैं।

सबसे बेहतर रहता है एक सरकारी कॉलेज से आईटीआई करना, जिसका सबसे जाहिर कारण है सरकारी कॉलेज की कम fees, पर साथ ही इससे आपके नौकरी के चांसेस भी बढ़ते हैं।

आईटीआई करने की इच्छा रखने वाले विद्यार्थियों को कोशिश करनी चाहिए कि उन्हें एक अच्छे सरकारी आईटीआई कॉलेज में दाखिला मिल जाए।

आईटीआई में बहुत प्रकार के ट्रेड की शिक्षा दी जाती है। विद्यार्थी अपनी पसंद के अनुसार आपने ट्रेड और सब्जेक्ट का चुनाव कर सकते हैं। यहाँ सभी कोर्सों को पूरा करने की समय सीमा अलग अलग होती है।

ITI में कुल कितने कोर्स होते हैं? (iti me kitne subject hote hai)

आईटीआई के अंतर्गत आने वाले सभी कोर्स की बात करें तो उसकी सूची बहुत लंबी होगी। आईटीआई के अंतर्गत 50 से भी अधिक कोर्सेज उपलब्ध होते हैं।

आईटीआई करने वाला एक विद्यार्थी उनमें से जिस भी विषय में उसे रुचि होगी वह उसे चुन सकता है।

यहां हम आईटीआई के सारे मुख्य कोर्स के नाम जानेंगे, साथ ही संक्षिप्त में उन कोर्सस के बारे में भी जान लेंगे। आईटीआई के मुख्य कोर्स निम्नलिखित है –

ITI Subject ITI Subject
Electricianउपकरण और डाई मेकर 
Moulderशीट मेटल वर्कर 
turnerwelder gas and electric 
उपकरण और डाई बनाना machinist
draughtsman mechanical painter general 
computer hardware mechanic फाऊंडरीमैन
refrigeration and air conditioner mechanic बढ़ई
मैकेनिक मशीन टूल्स रखरखाव फिटर
pattern maker mason building constructor 
bookbinderEnglish stenography 
plumbersecretarial practice 
wiremanradio and television mechanic 
former preparatory school management helper Diesel mechanic 
मशीन उपकरण रखरखाव watch and clock mechanic 
उन्नत velder प्रिंसिपल ऑफ टीचिंग 
metrology and engineering inspection network technician 
विद्युत रखरखाव motor vehicle mechanic 
electroplatercomputer operator and programming helper 
electronic mechanic सिलाई बुनाई 
उन्नत इलेक्ट्रॉनिक्स हलवाई और बेकर 
बाल और त्वचा की देखभाल interior designer 
driver come mechanic for light motor vehicles CAD CAM 
heat engine automobile desktop publishing operator 

आईटीआई (ITI) के इन सारे कोर्स को लड़कियां भी कर सकते है? लेकिन अगर आप जानना चाहते है कि लड़कियों के लिए सबसे अच्छा ITI कोर्स कौन से है तो Link पर Click करें।

आईटीआई के अंतर्गत आने वाले हैं इन सभी courses के बारे में एक-एक करके कुछ लाइनों में जान लेते हैं –

1. Electrician

इसका मतलब हम सब जानते ही हैं, ऐसे ही बिजली मिस्त्री कहा जाता है, हमारे घर मोहल्ले में बिजली से जुड़ी कुछ भी खराब होने पर इलेक्ट्रिशियन को ही बुलाया जाता है।

आईटीआई में आप इलेक्ट्रिशियन का कोर्स करके इलेक्ट्रिशियन बन सकते हैं।

2. Moulder 

यह शिल्पकारी से जुड़ा है, इसमें आपको चीजों को गलाकर अलग-अलग चीजें बनाना सिखाया जाता है।

यह भी एक व्यवसाई आईटीआई कोर्स है, दसवीं के बाद आप इसे कर सकते हैं, यह 2 साल की अवधि का होता है।

Note:- सरकारी नौकरी की तैयारी करने वाले हर रोज़ Current Affairs और General Knowledge पढ़ने के लिए आप Telegram Join कर सकते हैं।

3. उपकरण और डाई मेकर 

इस विषय के अंतर्गत रसायनों आदि के इस्तेमाल से डाई  बनाने जैसी चीजें सिखाई जाती है।

यह रासायनिक इंजीनियरिंग से संबंधित विषय है। 1 वर्ष की अवधि में इस कोर्स को पूरा करके आप डिप्लोमा प्राप्त कर सकते हैं।

4. शीट मेटल वर्कर 

शीट मेटल वर्कर मेटल की सीट्स के साथ काम करता है, मेटल शीट का इस्तेमाल बहुत सी चीजों को बनाने के लिए किया जाता है, इस कोर्स में आप यही सीखते हैं। देश के कई सारे आईटीआई कॉलेजेस में यह कोर्स उपलब्ध है।

5. turner 

Turner उसे कहते हैं जो तेल आदि के शिपयार्ड में काम करता है। आईटीआई के अंतर्गत इसका भी कोर्स उपलब्ध है।

दसवीं पास करके 2 वर्ष की अवधि का कोर्स आप कर सकते हैं, आपको आसानी से नौकरी भी मिल सकती है।

6. welder gas and electric 

यह काम भी वेल्डिंग से ही जुड़ा होता है। आईटीआई में यदि आप इस कोर्स को चुनते हैं तो आपको गैस और बिजली के इस्तेमाल से वेल्डिंग जैसी चीजें सिखाई जाती है।

इस कोर्स में भी नौकरी के अवसर अच्छे होते हैं, आप इसे आईटीआई में कर सकता है।

7. draughtsman mechanical 

आईटीआई के कोर्स के अंतर्गत 2 वर्ष का ड्राफ्ट्समैन का कोर्स भी होता है। कोर्स के अंतर्गत आपको ड्राफ्टमैन के कामों के बारे में सिखाया जाता है।

दसवीं पास करके आईटीआई में आप यह कोर्स कर सकते हैं। प्रशिक्षण लेकर 3 साल तक का भी हो सकता है, लेकिन नियोजित होने के लिए सही रहता है।

8. machinist 

इसका मुख्य काम मशीनों से ही जुड़ा है। आईटीआई में मशीनिस्ट 2 साल का कोर्स है जिसे आप दसवीं पूरी होने के बाद कर सकते हैं।

इस कोर्स में डिप्लोमा की डिग्री रहने पर नौकरी की अच्छी संभावना होती है।

9. painter general 

इस कोर्स के अंतर्गत पेंट लगाने, सतह को समाप्त करने, सामग्री समतल करने जैसे काम आते हैं।

आईटीआई में इसके लिए भी कोर्स है, 2 वर्ष की अवधि के साथ इसमें 4 सेमेस्टर होते हैं, आईटीआई में आप किस कोर्स का भी चुनाव कर सकते हैं।

नौकरी मिलने की संभावना इसमें भी काफी होती है।

10. computer hardware mechanic 

कंप्यूटर हार्डवेयर का मतलब कंप्यूटर के अलग-अलग पार्ट्स होते हैं, इस कोर्स में आपको इन्हीं की मरम्मत आदि के बारे में पढ़ाया जाता है।

आज के समय में कंप्यूटर्स का इस्तेमाल काफी हो रहा है, इसीलिए यह एक सही क्षेत्र है आईटीआई में आप इस कोर्स को कर सकते हैं।

11. refrigeration and air conditioner mechanic 

मैकेनिक में फ्रिज और एसी आदि के लिए भी अलग से कोर्स होते हैं। ITI में आप इस फोर्स की भी पढ़ाई कर सकते हैं, दसवीं पास की न्यूनतम योग्यता के साथ आप आईटीआई में इस कोर्स में दाखिला ले सकते हैं।

12. मैकेनिक मशीन टूल्स रखरखाव 

इस कोर्स के अंतर्गत इस्तेमाल होने वाले अलग-अलग मशीनों और उनके टूल्स और पार्ट्स के रखरखाव के बारे में पढ़ाया जाता है।

आज के समय में नौकरी के लिए यह भी एक अच्छा क्षेत्र है। दसवीं के बाद आईटीआई में आप यह कोर्स भी कर सकते हैं।

13. फाऊंडरीमैन 

जिनकी पढ़ाई में उतनी ज्यादा रुचि नहीं है, वह भी नौकरी पाने के लिए आईटीआई में फाउंड्री मैन का कोर्स कर सकते हैं।

इस कोर्स की अवधि 1 वर्ष की ही होती है। Foundryman का काम एक आसान काम है इसीलिए कम शिक्षित उम्मीदवारों के लिए भी यह अच्छा विकल्प है।

14. बढ़ई

बढ़ई का काम लकड़ी से संबंधित वस्तुओं को बनाने वाली रिपेयर करने आदि का होता है।

आईटीआई के अंतर्गत इसके लिए भी अलग से कोर्स है। इस विषय में यदि रुचि है तो आप iti में यह कोर्स कर सकते हैं।

15. फिटर

फिटर का काम मशीनों और उपकरणों आदि की फिटिंग से ही जुड़ा है। कम कुशल उम्मीदवार भी यह कोर्स कर सकते हैं।

अपने दसवीं पूरी करने के बाद आईटीआई में आप इस 2 वर्ष की अवधि के कोर्स में दाखिला ले सकते हैं। इसमें भी नौकरी की संभावना अच्छी रहती है।

16. pattern maker 

Pattern निर्माता एक औद्योगिक फाउंड्री से जुड़ा पाठ्यक्रम है। दसवीं के बाद यदि आप आईटीआई में दाखिला लेते हैं और आपको इसमें रुचि है तो आप 2 वर्ष की अवधि के इस कोर्स को कर सकते हैं।

17. bookbinder 

बुक बाइंडर का काम बुक बाइंडिंग करने का होता है, यानी अलग-अलग जगह से जानकारी इकट्ठा करके एक जगह जमा करना।

आईटीआई में इसके लिए भी कोर्स है। दसवीं पूरी  करने के बाद आप आईटीआई के इस कोर्स में दाखिला ले सकते हैं।

18. plumber 

जो हमारे घरों में पानी की पाइप और नलों इत्यादि की मरम्मत करता है उसे plumber कहते हैं। आईटीआई में इसके लिए भी कोर्स है।

कई क्षेत्रों में कंपनियों आदि में प्लंबर की नौकरी मिलती है, इच्छुक उम्मीदवार आईटीआई में इसे चुन सकते हैं।

19. wireman 

Wireman का जॉब भी आसानी से उपलब्ध है, इसमें तारों का रखरखाव और मेंटेनेंस करना होता है।

ITI में 1 वर्ष की समय अवधि के इस course को आप कर सकते हैं। इसके लिए न्यूनतम योग्यता 10वीं पास ही है।

20. mason building constructor 

इस कोर्स के दौरान आपको कंस्ट्रक्शन से संबंधित काम जैसे नवीकरण और मिशन आदि का काम करने के बारे में सीखना होता है। आईटीआई के अंतर्गत यह 1 वर्ष का कोर्स है जिसे आप दसवीं के बाद कर सकते हैं।

21. उन्नत velder 

आईटीआई के अंतर्गत आने वाले इस कोर्स में आप वेल्डिंग का काम सीखते हैं। आजकल बहुत से ऐसे औद्योगिक क्षेत्र हैं जहां अच्छे वेल्डरों की जरूरत रहती है, ऐसे में आप यह कोर्स करके आसानी से नौकरी  पा सकते हैं।

22. motor vehicle mechanic 

Motor vehicles का इस्तेमाल तो हमारे जीवन में बहुत होता है, इसीलिए मोटर व्हीकल मैकेनिक की जरूरत भी उतनी ही है।

आईटीआई के अंतर्गत आप इस कोर्स को भी कर सकते हैं। दसवीं के बाद आईटीआई में यह एक अच्छा करियर हो सकता है।

23. watch and clock mechanic 

घड़ियों के लिए अलग मैकेनिक होते हैं, जो उनकी मरम्मत से लेकर मेंटेनेंस तक करते हैं।

आईटीआई में आप वॉच एंड क्लॉक मैकेनिक का कोर्स भी कर सकते हैं, दसवीं के 12 यह 2 वर्ष की अवधि का कोर्स होता है।

24. मशीन उपकरण रखरखाव 

औद्योगिक क्षेत्र, फैक्ट्रियों आदि में मशीनों और मशीन उपकरण के रखरखाव के लिए आदमियों की जरूरत रहती है।

आईटीआई के अंतर्गत इसके लिए भी अलग से कोर्स है। यह कोर्स करके भी आप कई क्षेत्र में आसानी से नौकरी पा सकते हैं।

25. electronic mechanic 

आईटीआई के इस कोर्स के अंतर्गत बेसिक इलेक्ट्रॉनिक्स के बारे में पढ़ाया जाता है। ये इलेक्ट्रीशियन से काफी अलग होते हैं।

आईटीआई में यह 2 वर्ष की अवधि के साथ 4 सेमेस्टर का कोर्स होता है। इच्छुक उम्मीदवार इसे करके इससे संबंधित क्षेत्रों में नौकरी पा सकते हैं।

26. network technician 

एक नेटवर्क तकनीशियन का काम नेटवर्क से संबंधित टेक्नोलॉजिकल चीजों से deal करना होता है। आईटीआई में नेटवर्क टेक्निशियन का कोर्स 6 महीने तक का भी हो सकता है।

दसवीं पास करने के बाद नेटवर्क फील्ड में डिप्लोमा आपके लिए कई क्षेत्रों में नौकरी के अवसर खोलता है।

27. प्रिंसिपल ऑफ टीचिंग 

आईटीआई के अंतर्गत टीचिंग का भी कोर्स होता है। खासतौर से महिलाओं के लिए यह आसान और सुविधाजनक होता है।

यह 1 वर्ष लंबा कोर्स होता है जिसमें आप शिक्षण के बारे में सीखते हैं। पढ़ाने में रुचि रखने वालों के लिए यह बेहतरीन रहता है।

28. former preparatory school management helper 

इस कोर्स के दौरान आपको स्कूल प्रबंधन से संबंधित कार्य सिखाए जाते हैं। दसवीं पास  करने के बाद आप आईटीआई में 2 वर्ष की अवधि के इस कोर्स को कर सकते हैं जिससे आप शिक्षण क्षेत्र में 1 डिग्री पा लेते हैं।

29. English stenography 

इसके अंतर्गत शॉर्ट हैंड पत्राचार रिपोर्ट इत्यादि के बारे में सिखाया जाता है। आईटीआई के अंतर्गत यह 1 वर्ष का कोर्स होता है, जिसे आप दसवीं के बाद आईटीआई में कर सकते हैं।

30. secretarial practice 

हिंदी में से सचिवीय अभ्यास कहा जाता है, इसके दौरान आप टाइपिंग मूल कंप्यूटर और रिसेप्शनिस्ट आदि का काम सीखते हैं। टेन प्लस टू छात्रों के लिए यह और भी बेहतर रहता है। आईटीआई में आप यह कोर्स भी कर सकते हैं।

31. radio and television mechanic 

Radio and television mechanic का आईटीआई में अलग से कोर्स होता है इसमें आप खास तौर पर इन उपकरणों के बारे में सीखते हैं। यदि आपकी इन में रूचि हो तो आप यह कोर्स कर सकते हैं, इसमें रोजगार के अवसर भी अच्छे रहते हैं।

32. Diesel mechanic 

डीजल वाहनों से संबंधित मैकेनिक की भी आईटीआई के अंतर्गत अलग से पढ़ाई होती है। इस कोर्स का भी भविष्य में अच्छा स्कोप रहता है। दसवीं के बाद आईटीआई में आप यह कोर्स कर सकते हैं।

33. metrology and engineering inspection 

आई टी आई का यह कोर्स तकनीकी है, इसके लिए कुछ शैक्षिक पृष्ठभूमि की आवश्यकता है। डिप्लोमा कोर्स 3 साल का हो सकता है और iti में इस कोर्स के लिए आवेदन करने से पहले आपको 10 वीं पास होना चाहिए।

34. electroplater 

सोने चांदी जैसे धातुओं की कोटिंग के बारे में इस कोर्स के अंतर्गत पढ़ाया जाता है। आईटीआई में दसवीं के बाद यह 2 साल का कोर्स होता है। रुचि रहने पर आप यह कोर्स कर सकते हैं, इसमें भी रोजगार के अवसर अच्छे रहते हैं।

35. computer operator and programming helper 

कंप्यूटर का इस्तेमाल तो आजकल हर क्षेत्र में हीं हो रहा है, इसमें प्रोग्रामिंग हेल्पर और कंप्यूटर ऑपरेटर की जरूरत हर क्षेत्र में रहती है। आईटीआई के अंतर्गत आप इस कोर्स को करके अच्छी नौकरी पा सकते हैं।

36. विद्युत रखरखाव 

इस कोर्स के अंतर्गत विद्युत से जुड़े उपकरणों आदि के रखरखाव के बारे में पढ़ाया जाता है। यह इलेक्ट्रीशियन से थोड़ा बहुत मिलता जुलता है, दसवीं के बाद आईटीआई में आप यह कोर्स भी चुन सकते हैं।

37. सिलाई बुनाई

खासतौर से महिलाओं के लिए तो सिलाई बुनाई आदि का काम अच्छा होता है। दसवीं के बाद आईटीआई में महिलाएं इसका चुनाव कर सकती है, इस कोर्स में डिग्री होने पर महिलाओं के लिए रोजगार के कई अवसर बनते हैं।

38. हलवाई और बेकर 

आईटीआई के अंतर्गत हलवाई और बेकरी के लिए भी कोर्स उपलब्ध है। कोर्स में आपको इससे जुड़ी हर किस्म की जानकारी दी जाती है। दसवीं के बाद आईटीआई में इस क्षेत्र में रुचि रखने वाले या कोर्स कर सकते हैं। यह स्वरोजगार में भी सक्षम बनाता है।

39. बाल और त्वचा की देखभाल

आईटीआई में इस कोर्स के लिए भी खास करके महिलाए बाल और त्वचा में आईटीआई डिप्लोमा कर सकती हैं। यह सिर्फ 1 वर्ष के लिए है, और आपको इस आई टी आई कोर्स के लिए 10 वीं पास होना है।

40. interior designer

Interior designer का काम घर और अपार्टमेंट आदि के आंतरिक सजावट का होता है। आज के समय में यह काम काफी चलन में है। आईटीआई के अंतर्गत आप इंटीरियर डिजाइनर का कोर्स करके कई क्षेत्रों में अच्छी नौकरी पा सकते हैं 

41. CAD CAM 

आईटीआई के अंतर्गत यह एक कंप्यूटर से संबंधित कोर्स है, CAM का पूरा नाम कंप्यूटर एडेड manufacturing होता है। आईटीआई के अंतर्गत यह भी एक काम के डिग्री है। दसवीं पास करके आईटीआई में आप यह कोर्स कर सकते हैं।

42. Driver come mechanic for light motor vehicles 

हल्के मोटर वाहनों के लिए driver और साथ ही mechanic का कोर्स भी आईटीआई के अंतर्गत उपलब्ध है। इस कोर्स की अवधि 6 महीने तक की भी हो सकती है जिस में दाखिले के लिए आपका 10 वीं पास होना जरूरी है। 

43. Heat engine automobile 

Automobile engine में रुचि रखने वालों के लिए आईटीआई में यह एक अच्छा कोर्स है। ज्यादा लोगों को इस course के बारे में पता नहीं होता है। इस कोर्स की डिग्री भी कई क्षेत्रों में नौकरी के लिए फायदेमंद रहती है।

ये सारे courses ITI के अंतर्गत आने वाले प्रमुख courses में से थे, इनके अलावा और भी कुछ कोर्स हो सकते हैं। सबसे अच्छा यही रहता है कि आप जिस संस्थान में आईटीआई में दाखिला ले रहे हो उससे इस बारे में पूरी जानकारी ले लें।

Conclusion

ऊपर इस आर्टिकल में हमने आईटीआई के अंतर्गत आने वाले अलग-अलग कोर्स (subjects) के बारे में जाना। आईटीआई आपको कई सारे नौकरियों के लिए योग्य बनाता है।

यदि आप आईटीआई पूरी कर लेते हैं, तो कई नौकरियों के लिए आईटीआई की डिग्री मांगी जाती है, यह डिग्री रहने पर आप आसानी से कई नौकरीयो के योग्य हो जाते हैं।

विद्यार्थी 10वीं के बाद या 12वीं के बाद भी आईटीआई का कोर्स कर सकते हैं।

अब जो भी विद्यार्थी यह कोर्स करना चाहता है, उसके लिए यह जरूरी है कि उसे इस कोर्स से संबंधित सारी जरूरी जानकारी पता हो, और आईटीआई के अंतर्गत आने वाले सभी कोर्स की जानकारी भी इसी में से एक है, और इसी के बारे में हमने इस आर्टिकल में जाना।

1 thought on “ITI में कितने सब्जेक्ट होते है? | ITI Subject list in hindi”

Leave a Comment

Your email address will not be published.