आईटीआई के फॉर्म कब निकलते हैं? | ITI ke form kab nikalte hain

दोस्तों आज के समय में हर क्षेत्र में ही नौकरियों की अपेक्षा उम्मीदवारो की संख्या अधिक हैं जिससे की नौकरी पाने के लिए उम्मीदवार का अधिक से अधिक सक्षम और योग्य होना जरूरी है।

और इसकी नीव यदि स्कूल के स्तर से ही पड़ जाये तो यह किसी भी विद्यार्थी के लिए फायदेमंद ही रहता है।

आईटीआई आज के समय में एक ऐसा ही क्षेत्र हैं जहाँ आदमी अपनी योग्यता के हिसाब से आईटीआई का कोर्स कर सकता है, जिसके बाद उनकी  नौकरी की संभावनाएं बढ़ जाती हैं। 

हमारे देश में हर राज्य भी पर्याप्त नंबर में आईटीआई कॉलेज हैं।

और बहुत से विद्यार्थी हर साल आईटीआई के कोर्स में दाखिला भी लेते हैं। ITI की degree से विद्यार्थी जल्दी अच्छी नौकरी पा सकते हैं।

ऐसे में जो विद्यार्थी आईटीआई के कोर्स में दाखिला लेने का सोचते हैं उनके मन में यह सवाल जरूर ही आ सकता है कि आई टी आई में दाखिले के लिए फॉर्म कब निकलते हैं?

आईटीआई के फॉर्म कब निकलते हैं?

और यहां इस आर्टिकल में हम मुख्यत: इसी की बात करेंगे।

जानेंगे कि आईटीआई के लिए फॉर्म कब निकलते हैं, और किस प्रक्रिया के द्वारा विद्यार्थी आईटीआई में admission ले सकते हैं।

ITI में admission के लिए form कब निकलते हैं?

ITI courses में प्रवेश के लिए अलग अलग राज्यों में थोड़ा अलग-अलग प्रावधान हो सकता हैं।

लेकिन ज्यादातर राज्यों लगभग एड्मिशन के लिए एक जैसी ही प्रक्रिया follow होती है।

admission लेने के इच्छुक उम्मीदवार को application form दिये गए समय के अनुरूप ही भरना होता है।

विद्यार्थियों को यही सुझाव रहता है कि एप्लिकेशन फ़ॉर्म भरने से पहले योग्यता मानको को ध्यानपूर्वक जाँच लेने के बाद  ही आवेदन करें।

Application fee का भुगतान करना अनिवार्य होता है, यदि कोई अभ्यर्थी अपना आवेदन बिना शुल्क के जमा करता है, तो उसका आवेदन स्वीकार नहीं किया जायेगा।

Form निकलने के समय की बात करें तो ITI में दाखिले के लिए generally हर साल जुलाई में एडमिशन फॉर्म मिलने शुरू हो जाते हैं।

विद्यार्थीयों को पहले आईटीआई की ऑफिशियल वेबसाइट (https://iti.nic.in) पर जाकर ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन करना होता है।

रजिस्ट्रेशन करने के बाद अपने नजदीकी आईटीआई या जहां भी वे दाखिला चाहते हैं, उस आईटीआई में जाकर उन्हें सारे certificates verify करवाने पड़ते हैं। 

सारे certificates verify होने के बाद आईटीआई की मेरिट लिस्ट (ITI Merit List) जारी की जाती है।

जी हां, आईटीआई में एडमिशन मेरिट के अनुसार होता है। उम्मीदवार के नंबर जितने अच्छे होंगे एडमिशन के chances उतने ही ज्यादा होते हैं।

मार्क्स के आधार पर ही आपको अपना मनपसंद कोर्स चुनने का विकल्प भी मिलता है।

आप अपने नजदीकी आईटीआई संस्थान में जाकर इस बारे में ज्यादा जानकारी प्राप्त कर सकते हैं।

Form भरने के बाद ITI में दाखिले की प्रक्रिया

Applicants online माध्यम से अपना आवेदन संबंधित राज्य के संबंधित विभाग के आधिकारिक website पर कर सकते हैं।

यह जरुरी है कि जो भी विद्यार्थी आईटीआई कोर्स में प्रवेश लेने के इच्छुक हैं सबसे पहले वे प्रवेश सबंधित सारी जरूरी सूचना एकत्र कर लें।

Admission के लिए अभ्यर्थी को 10वीं या 12वीं पास होना चाहिए, हालांकि कुछ विषय ऐसे जो 8वीं पास विद्यार्थी भी कर सकते हैं।

संबंधित विभाग उम्मीदवारों के योग्यता के अनुसार मेरिट लिस्ट बनाया जाता है जिसके आधार पर सीट आबंटन होता है।

उम्मीदवार को अपने सभी Original Documents को तैयार रखना होता है जो एड्मिशन से पहले सत्यापित किए जाते हैं।

अलग अलग courses की duration अलग-अलग होती है, कुछ कोर्स 6 महीने के, कुछ 1 साल के और कुछ 2 साल के होते हैं।

आवेदन करते समय सभी निर्देशों को ठीक से चेक कर लेना चाहिए, इसमें बाद में बदलाव नहीं हो पाता है।

Seat Allotment के बाद बिना किसी विलंब के आपको Allotted College में रिपोर्टिंग करनी होती है।

शुरू से लेकर step by step process में सबसे पहले अपने राज्य के अनुसार ऑफिसियल वेबसाइट पर जाए,

वेबसाइट में अकाउंट बनाए, फिर लॉग इन करे, उसके बाद कैंडिडेट्स रजिस्ट्रेशन आइकॉन पर क्लिक करके registration करें, योग्यता एवं अपनी रूचि के कोर्स के अनुसार फॉर्म भरे,

आवश्यक डाक्यूमेंट्स उपलोड करे, फॉर्म भरने के बाद पुनः चेक करे और सबमिट कर दे, सबमिट किए हुए फॉर्म की रेसिप्त प्रिंट कर ले और नए जानकारी के लिए वेबसाइट visit करते रहें।

ITI का form भरने के लिए जरूरी documents

ITI में में दाखिले के लिए उम्मीदवार के पास कुछ जरूरी documents होने चाहिए, जो संस्थान द्वारा मांगे जाते हैं।

form apply करने से पहले उम्मीदवार के पास आठवीं,  दसवीं या बारहवीं कक्षा की pass की marksheet होना बहुत ही जरूरी है, depending की आप इनमें से कौन सी कक्षा पास करने के बाद आईटीआई में दाखिला ले रहे हैं।

अन्य जरूरी documents में, आवेदक के पास Govt ID proof जैसे की आधार कार्ड, पैन कार्ड, वोटर कार्ड आदि होना चाहिए। फिर जाती और निवास आदि का सर्टिफिकेट भी मांगा जाता है। 

उम्मीदवार की बैंक डिटेल्स भी मांगी जाती है। उम्मीदवार के पास अपने बैंक अकाउंट का पासबुक, ATM कार्ड या इंटरनेट बैंकिंग होना भी बहुत ही जरूरी है। 

यदि आपके पास इनमें से कोई भी चीज नहीं है तो आप फार्म के लिए apply नहीं कर पाएंगे।

इसलिए बैंक अकाउंट की पासबुक अपने पास रखना बहुत ही जरूरी है। Form fee की राशि के भुकतान करने के लिए माध्यम होना चाहिए, जैसे क्रेडिट कार्ड, डेबिट कार्ड आदि।

एवं कुछ अन्य जरुरी डाक्यूमेंट्स भी लगते हैं, जैसे passport size photo इत्यादि। 

विद्यार्थियों के सभी डाक्यूमेंट्स सही-सही होने चाहिए क्योंकि इनके वेरिफिकेशन के बाद ही उन्हें कोर्स में दाखिला मिल सकता है।  

यदि certificates की जांच के  दौरान किसी प्रकार की कोई गड़बड़ी पाई जाती है तो विद्यार्थी का दाखिला रद्द कर दिया जाता है।

Conclusion

ऊपर दिए गए इस आर्टिकल में हमने बात की है कि ITI के form कब निकलते हैं। वर्तमान में बहुत बड़ी संख्या में छात्र आईटीआई कोर्स में दाखिला लेते हैं।

और इसीलिए बीते कुछ सालों से सरकारें भी चाहे वो भारत सरकार (Government of India) हो या राज्य सरकार, स्किल इंडिया प्रोग्राम के तहत इस क्षेत्र पर विशेष ध्यान दे रही है। 

देश में जगह जगह ग्रामीण क्षेत्रों में आईटीआई कॉलेज खुल रहे हैं। और विद्यार्थियों को इसकी सही जानकारी होनी चाहिए कि इसमें दाखिले के लिए वे फॉर्म कब भर सकते हैं।

Leave a Comment

Your email address will not be published.