आईटीआई की फीस कितनी है? | ITI ki fees kitni hai

आईटीआई की फीस कितनी है? या आईटीआई करने में कितना खर्च आता है?

आईटीआई कोर्स से संबंधित इस तरह के सवाल कई विद्यार्थियों के मन में आते हैं।

आज के समय में दसवीं पूरी होने के बाद ही बहुत से विद्यार्थीयों को करियर की tension होने लगती है, उन्हें आगे क्या बनना है उसी अनुसार वे आगे की पढ़ाई करते हैं।

ऐसे में जो विद्यार्थी जल्दी नौकरी पाना चाहते हैं उनके लिए ITI एक अच्छा टेक्निकल कोर्स होता है।

आज यहां इस लेख में हम आईटीआई कोर्स के फीस बारे में ही बात करेंगे।

ITI course की फीस से संबंधित कई सारे सवाल विद्यार्थी जानना चाहते हैं।

आईटीआई की फीस कितनी होती है?

एक सरकारी आईटीआई कॉलेज और एक प्राइवेट आईटीआई कॉलेज की फीस में कितना अंतर हो सकता है?

यह सारी बातें आईटीआई के कोर्स में दाखिला लेने वाले या आईटीआई (ITI) का फ़ॉर्म भरने वाले विद्यार्थियों को पता होनी चाहिए।

ITI में क्या पढ़ाया जाता है?

आईटीआई का पूरा नाम इंडस्ट्रियल ट्रेनिंग इंस्टिट्यूट (industrial training institute) जिसे हिंदी में औद्योगिक प्रशिक्षण संस्थान कहा जाता है।

मतलब कह सकते हैं कि आईटीआई कोई कोर्स नहीं बल्कि एक संस्थान है जिससे आप टेक्निकल क्षेत्र के कई courses में से अपनी इच्छा अनुसार किसी भी कोर्स की पढ़ाई कर सकते हैं।

आईटीआई भारत सरकार के ‘श्रम एवं नियोजन मंत्रालय’ द्वारा संचालित संस्थान है, जिसके अंतर्गत छात्रों को इंडस्ट्री में कार्य करनें हेतु प्रशिक्षण दिया जाता है।

ITI में लगभग 100 से अधिक कोर्स होते है, जिनको दो भागो में विभाजित किया गया है, पहला technical यानी engineering trade, जिसमें टेक्नोलॉजी से संबंधित ज्यादा अच्छे से पढ़ाई होती है।

आईटीआई के अलग अलग कोर्स के लिए हमें अलग-अलग आईटीआई (ITI) विषय को पढ़ना होता हैं।

और दूसरा non- technical यानी non- engineering trade जो technology से थोड़े अलग चीजों से संबंधित होता है।

आईटीआई करने के लिए कोई बहुत ज्यादा योग्यता नहीं चाहिए, विद्यार्थी 8th या 10th के बाद ITI कर सकते हैं। आप चाहे तो 12वीं के बाद भी इस कोर्स में admission ले सकते हैं।

आज के समय में बहुत से क्षेत्रों में बहुत सी नौकरियों के लिए टेक्निकल डिग्री चाहिए होती है।

आईटीआई की फीस कितनी होती है?

आईटीआई की फीस की बात करें तो यह कोई बहुत ज्यादा महंगा कोर्स नहीं है।

इस कोर्स की फीस कितनी होगी यह निर्भर करता है कि आप किस तरह के आईटीआई कॉलेज से अपनी आईटीआई का कोर्स करते हैं।

किस तरह के कॉलेज से यहां मतलब है कि एक सरकारी आईटीआई कॉलेज या फिर एक प्राइवेट आईटीआई कॉलेज।

जाहिर है सरकारी आईटीआई संस्थान आपसे इस कोर्स की कम फीस लेंगे जबकि प्राइवेट आईटीआई संस्थान में सरकारी के मुकाबले तो फीस ज्यादा ही होगी।

सरकारी ITI की फीस

यदि आप किसी सरकारी ITI college से यह कोर्स करते हैं तो काफी कम खर्च में आप अपना आईटीआई का कोर्स पूरा कर लेंगे।

लेकिन अच्छे सरकारी आईटीआई कॉलेज में दाखिले के लिए प्रवेश परीक्षा देनी पड़ सकती है।

जो छात्र आईटीआई की प्रवेश परीक्षा में अच्छे अंक प्राप्त करते है, उन्हें सरकारी कॉलेज मिलता है।

सरकारी आईटीआई कॉलेज में छात्रों को फ़ीस के रूप में लगभग 5000 रुपए तक देना होता है।

यह एक औसत फीस है, अलग-अलग राज्यों के अलग-अलग सरकारी आईटीआई संस्थानों में इस फीस में थोड़ा बहुत अंतर हो सकता है।

पर ज्यादातर सरकारी आईटीआई कॉलेज में fees ज्यादा से ज्यादा 5-6 हजार रुपए तक ही जाती है।

सरकारी आईटीआई कॉलेज में दाखिले के लिए होने वाली प्रवेश परीक्षा भी कोई बहुत ज्यादा कठिन नहीं होती, इस परीक्षा में विद्यार्थियों के level के ही प्रश्न रहते हैं।

Private ITI की फीस

जिन छात्रों को सरकारी कॉलेज में एडमिशन नहीं मिल पाता, वह प्राइवेट कॉलेज में एडमिशन ले सकते हैं, जाहिर है प्राइवेट आईटीआई संस्थान सरकारी की तुलना में ज्यादा फीस ही लेंगे।

ऐसे में लगभग सभी private colleges ही सिर्फ विद्यार्थियों के 10वीं या 12वीं के अंको के basis पर ही उन्हें दाखिला दे देते हैं।

इनकी फीस की बात करें तो Private ITI संस्थानों में विद्यार्थियों को औसतन 10 से 30 हजार तक की फ़ीस जमा करनी होती है।

अब यह भी प्राइवेट आईटीआई संस्थानों की औसतन फीस है अलग-अलग राज्यों के अलग-अलग संस्थानों के अनुसार इसमें भी अंतर हो सकता है।

Fees की सही जानकारी के लिए सबसे अच्छा यही रहता है कि विद्यार्थी जिस भी आईटीआई कॉलेज में दाखिला चाहते हैं, वहां जाकर college से ही fees से संबंधित सारी जानकारी प्राप्त कर लें।

चाहे सरकारी कॉलेज से आईटीआई करें या फिर प्राइवेट कॉलेज से डिग्री में तो कोई अंतर तो होता नहीं।

इसीलिए एक सरकारी आईटीआई संस्थान से ही पढ़ाई करना अच्छा रहता है, इसका सबसे बड़ा कारण है इसकी कम फीस।

पर इसके लिए यह जरूरी है कि विद्यार्थी एंट्रेंस एग्जाम की तैयारी अच्छे से करे।

हालांकि सस्ते private ITI colleges भी होते हैं।

कई प्राइवेट आईटीआई कॉलेज से भी आप 5-10 हजार रूपए तक की fees में अपनी आईटीआई की पढ़ाई पूरी कर सकते हैं।

पर generally private ITI colleges की fees सरकारी के मुकाबले तो ज्यादा ही होती है।

ITI college में दाखिले के लिए योग्यता

ITI के कोर्स में दाखिले के लिए कोई बहुत ज्यादा योग्यता नहीं चाहिए होती है।

आईटीआई कोर्स में एडमिशन के लिए अभ्यार्थी का किसी भी मान्यता प्राप्त बोर्ड से 10वीं पास होना जरूरी है, 12वीं उतीर्ण अभ्यर्थी भी आईटीआई कोर्स कर सकते हैं।

आईटीआई के अंतर्गत बहुत से courses ऐसे हैं जिन्हें आठवीं पास विद्यार्थी भी कर सकते हैं इसीलिए बहुत से संस्थान आठवीं के बाद भी आईटीआई में दाखिला देते हैं।

आईटीआई में एडमिशन के लिए न्यूनतम उम्र सीमा 14 वर्ष और अधिकतम उम्र सीमा 40 वर्ष है।

आयु सीमा में आरक्षित, पूर्व सैनिकों, सैनिकों की विधवाओं और दिव्यांग अभ्यार्थियों आदि को निर्धारित नियम के अनुसार छूट भी दी जाती है।

SC, ST और OBC candidates को अधिकतम उम्र सीमा में 3 वर्ष से लेकर 5 वर्ष की छूट दी जाती है।

Conclusion

ऊपर इस आर्टिकल में हमने आईटीआई कोर्स की फीस के बारे में बात की।

आज के समय में बहुत से विद्यार्थी 10वीं और 12वीं के बाद आईटीआई का कोर्स करके जल्दी कोई नौकरी पाना चाहते हैं।

ऐसे में उन्हें इस कोर्स से संबंधित सारी जरूरी जानकारी पता होनी चाहिए और फीस भी उन्हीं में से एक है।

अलग-अलग राज्यों के आईआईटी संस्थानों की फीस में थोड़ा बहुत अंतर देखने को मिल सकता है पर on average fees एक समान ही रहती है।

Leave a Comment

Your email address will not be published.