पायलट कोर्स की फीस कितनी है? | Fees for Pilot Course 

इस आर्टिकल में हम पायलट कोर्स की फीस की बात करेंगे। बहुत से विद्यार्थियों का सपना आगे चलकर एक पायलट बनने का होता है। 

आज के समय में सबसे prestigious job profiles की बात आने पर उसमें पायलट का नाम भी होता है। 

Pilot एक reputed job profile है, ऐसे में जाहिर है कि एक पायलट बनने के लिए खर्च भी अच्छा खासा होता है। 

जिन विद्यार्थियों की पायलट बनने में रूचि होती है, उनके मन में सबसे पहला और सबसे महत्वपूर्ण सवाल यही आता है की आखिर पायलट कोर्स की फीस कितनी होती है? या Pilot Course की फीस कितनी है? 

इस आर्टिकल में मुख्य तौर पर इसी सवाल के जवाब को जानेंगे। 

यहां हम बात करेंगे जी पायलट कोर्स की फीस कितनी होती है? या पायलट बनने में कुल कितना खर्च आता है या आ सकता है? 

यहां हम Pilot बनने की fees से संबंधित सभी जरूरी बातों पर भी चर्चा करेंगे।

Pilot Course की Fees

एक Pilot बनने की औसतन फीस भारत में 30,00,000 से लेकर 1,00,00,000 रुपए तक है। 

जी हां, यदि भारत में आपको एक पायलट बनना है जो किसी एक अच्छे एयरलाइन के लिए काम करता हो तो आपको इसके लिए कुल फीस के रूप में इतने रुपए देने पड़ते हैं। 

Pilot बनने की आपकी exact fees कितनी होगी यह निर्भर करता है कि आप किस flying school/institute को join करते हैं। 

अलग-अलग flying schools की facilities आदि अलग अलग होती है और उसी के हिसाब से वे fees charge करते हैं। 

कुछ flying schools में पायलट ट्रेनिंग की फीस 20 से 25 लाख भी हो सकती है, लेकिन वहां भी फीस के अलावा अन्य खर्चो को मिलाने पर वह रकम आसानी से 35-40 लाख या इससे ज्यादा चली ही जाती है। 

हम यहां एक कमर्शियल पायलट बनने की फीस की बात कर रहे हैं, यानी जो commercial planes उड़ाते हैं। 

अन्य प्रकार के भी पायलट होते हैं लेकिन सबसे common यही है, ज्यादातर विद्यार्थी जो पायलट बनने का सपना देखते हैं वह यही कमर्शियल पायलट होते हैं।

Pilot Course की फीस अधिक क्यों होती है?

यदि आप एक पायलट बनने का सपना देख रहे हैं तो आपको इसकी फीस के लिए कम से कम 50-60 लाख रुपए तो रखने ही होंगे। 

इसके अलावा यदि आप cadet program के लिए जाना चाहते हैं तो उसकी फीस आसानी से 1 करोड़ तक रहेगी। 

Cadet Program सबसे ज्यादा महंगा होता है लेकिन इसे पूरा करने के बाद आप pilot के उच्च rank पर पहुंच भी जाते हैं। 

अगर आपके पास फीस के रूप में देने के लिए एक करोड़ रुपए तक हैं तो आप इसके लिए जा सकते हैं। 

यदि आप एजुकेशन लोन आदि की तरफ जाते हैं तो at the end interest के साथ आपको कुल मिलाकर इससे भी ज्यादा रकम चुकानी पड़ेगी।

पायलट ट्रेनिंग की फीस काफी ज्यादा होती है क्योंकि इस दौरान न सिर्फ आपको पढ़ाया जाता है, साथ ही साथ आपको प्लेन उड़ाने की ट्रेनिंग भी दी जाती है। 

और आपकी जो फीस है वह हर उड़ान के हिसाब से लगती है। एक कमर्शियल पायलट बनने के लिए आपको मिनिमम 250 घंटे का flying experience होना जरूरी होता है। 

1 उड़ान की fees ही काफी ज्यादा होती है, इसीलिए कुल मिलाकर आपको इतने तक की फीस लगती है।

Air Force Pilot बनने की Fees

अब कुछ विद्यार्थियों के मन में यह सवाल भी रहता है एयर फोर्स का पायलट बनने में कितना खर्च आता है? या एयरफोर्स पायलट की फीस कितनी होती है। 

तो सीधे-सीधे कहे तो एयरफोर्स में पायलट बनने के लिए एक तरह से आपको कोई भी fees नहीं लगती है। 

सेना में पायलट के लिए आप NDA की परीक्षा अच्छे अंको से पास करके जा सकते हैं। 

इसके अलावा एयर फोर्स में नियुक्ति के लिए और भी कई परीक्षाएं जैसे सीडीएस आदि ली जाती हैं। 

एक बार एयर फोर्स में आपका सिलेक्शन हो जाए तो फिर आपकी ट्रेनिंग का पूरा खर्चा सरकार देती है, आपको पैसा नहीं लगता है। बस आपको परीक्षा अच्छे अंकों के साथ पास करनी जरुरी है।

इन्हें भी पढ़ें

भारत के कुछ Top Flying Schools की fees 

आपको अपनी flight training किसी DGCA approved flying school से ही करनी जरूरी होती है। 

DGCA का पूरा नाम Directorate General of Civil Aviation होता है, यह एक regulatory body है सभी airlines आदि के लिए rules set करता है। 

ये देश के कुछ Top Flying Schools हैं, जहां से आप अपनी पायलट की ट्रेनिंग ले सकते हैं। 

इस सूची में आप इनके नाम और पायलट ट्रेनिंग के लिए इनकी फीस देख सकते हैं –

  • इंदिरा गांधी राष्ट्रीय उड़ान अकादमी (IGRUA – Indira Gandhi Rashtriya Uran Akademi) – कुल फीस 45 लाख (–Full CPL)
  • बॉम्बे फ्लाइंग क्लब (BFC – Bombay Flying Club) – कुल फीस  41 लाख  (– Full CPL)
  • मध्य प्रदेश फ्लाइंग क्लब (MPFC – Madhya Pradesh Flying Club) –  Fees 8.5 लाख (– Per Year)
  • अहमदाबाद एवियशन एंड एयरोनॉटिक्स लिमिटेड (AAA – Ahmedabad Aviation & Aeronautics Ltd. – कुल फीस 24.6 लाख (– Full CPL)
  • नेशनल फ्लाइंग ट्रेंनिंग इंस्टीट्यूट (NFTI – National Flying Training Institute) – कुल फीस 34.6 लाख (– Full CPL)

ये सिर्फ इनकी फ्लाइंग ट्रेनिंग की फीस होती है इसके अलावा आपको हॉस्टल फीस और खाने-पीने का खर्च आदि आपको अलग से लगेगा। 

Pilot Course Fees में असल में फीस आप अपनी फ्लाइट ट्रेनिंग की ही देते हैं, यानी जब आप प्लेन उड़ाना सीखते हैं। 

सबसे जरूरी यही होता है कि आप अपने flying hours पूरे करें और अपने पायलट का लाइसेंस प्राप्त करें। उसके बाद में आप किसी एयरलाइन आदि में जॉब के लिए जा सकते हैं। 

Conclusion

इस आर्टिकल में हमने pilot course की fees के बारे में बात की है।

यहां हमने भारत में कमर्शियल पायलट बनने  के लिए लगने वाले औसतन फीस के बारे में जाना है। 

साथ ही हमने देश के कुछ टॉप फ्लाइंग स्कूल्स की CPL की fees को भी देखा। हम उम्मीद करते हैं कि हमारे द्वारा दी गई यह जानकारी आपके लिए सहायक रही होगी। 

इससे संबंधित कोई प्रश्न आदि हो तो आप हमें नीचे कमेंट सेक्शन में पूछ सकते हैं। हम जल्द से जल्द उसका जवाब देने का प्रयास करेंगे। 

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *