DMLT कितने साल का है? | DMLT Course Duration 

दोस्तों Medical field में विद्यार्थियों के पास चुनने के लिए बहुत सारे विकल्प होते हैं। 

इनमें Medical Lab Technician जो कि अस्पतालों और क्लीनिको में diagnosis का काम करते हैं, भी एक काफी अच्छा करियर ऑप्शन है और बहुत से विद्यार्थी इसकी तरफ जाते भी हैं। 

Medical Lab Technician बनने के लिए इसका कोर्स करना जरूरी होता है, जिसमें DMLT यानी Diploma in Medical Laboratory Technology सबसे प्रसिद्ध नाम है। 

बहुत बड़ी संख्या में विद्यार्थी DMLT कोर्स का चुनाव करते हैं। 

जो विद्यार्थी इस कोर्स को चुनने की सोचते हैं उनके लिए यह जरूरी है कि उन्हें इस course से संबंधित हर जरूरी बात की जानकारी हो। 

DMLT कितने साल का है?

इस कोर्स से संबंधित बहुत से विद्यार्थियों के मन में यह सवाल भी रहता है कि DMLT कितने साल का है? या DMLT course की अवधि कितनी होती है?

इस आर्टिकल में हम मुख्य तौर पर इसी की चर्चा करेंगे। यहां हम DMLT की अवधि के साथ-साथ इस कोर्स जुड़े सभी जरूरी बातों को जानेंगे। 

DMLT कितने साल का होता है?

कुल मिलाकर, DMLT कोर्स की अवधि 2.5 साल की होती है। 

वैसे तो DMLT कोर्स की अवधि 2 साल की बताई जाती है, परंतु internship को मिलाकर देखें तो इसकी कुल अवधि 2 साल 6 महीने की हो जाती है। 

DMLT का पुरा नाम Diploma in Medical Laboratory Technology होता है जो कि एक Medical Lab Technology में Diploma स्तर का कोर्स है। 

इस कोर्स में academic study 2 साल की ही होती है, यानी कि कोर्स के दौरान जितनी चीजें पढ़नी होती हैं वह आप इन 2 सालों में ही पढ़ते हैं, लेकिन पढ़ाई पूरी होने के बाद आपको 6 महीने की mandatory internship भी करनी होती है, जो कि आप किसी भी सरकारी या फिर प्राइवेट अस्पताल के medical lab में कर सकते हैं।

तो हम कह सकते हैं कि डीएमएलटी 2 साल और 6 महीने का कोर्स है जिसे करने के बाद आप एक मेडिकल लैब टेक्नीशियन के रूप में काम शुरू कर सकते हैं। 

एक professional medical degree के हिसाब से डीएमएलटी को काफी अच्छा कोर्स कहा जा सकता है। 

2.5 साल के इस कोर्स को पूरा करने के बाद विद्यार्थी आसानी से और अच्छी जगह पर भी जॉब पा लेते हैं। 

इस 2.5 साल में आप क्या पढ़ते हैं?

DMLT की कुल अवधि में 2 साल की academic study और 6 महीने की internship शामिल है। 

Academic study की बात करें तो, इस कोर्स का नाम डिप्लोमा इन मेडिकल लैब टेक्नोलॉजी है तो जाहिर है इसमें मेडिकल के क्षेत्र में लैबोरेट्री में जो भी जरूरी काम किए जाते हैं उन्हीं के बारे में पढ़ाया जाता होगा। 

DMLT कोर्स के दौरान विद्यार्थियों को 1st year में –

  • Basic Hematology
  • Basics in Laboratory Equipment and Chemistry
  • Blood Banking & Immune Hematology
  • Clinical Pathology (body fluids) and Parasitological

जैसे मुख्य विषय और 2nd year में –

  • Clinical Biochemistry
  • Microbiology
  • Immunology

ये विषय पढ़ने होते हैं। 

हालांकि इन मुख्य विषयों के अलावा इसमें एडिशनल विषय और प्रैक्टिकल आदि भी शामिल होते हैं। 

इसे अच्छे से जानने के लिए हम Semester wise इस कोर्स की पढ़ाई की बात कर लेते हैं।

DMLT में 4 semester होते हैं –

DMLT की 2 वर्ष की पढ़ाई की अवधि को 4 semesters में बांटा जाता है। 

Semester wise ही इसके परीक्षा भी ली जाती है, और हर semester में विद्यार्थियों को डीएमएलटी के अलग-अलग विषयों को पढ़ना होता है। 

पहले, दूसरे, तीसरे और चौथे semester में विद्यार्थियों को निम्नलिखित विषयों को पढ़ना होता है –

Semester 1

  • Human Anatomy
  • Fundamentals of MLT
  • Basics of clinical Biochemistry
  • Basic Human Science
  • English Communication
  • Professional Activities

Semester 2

  • Human Physiology
  • Basic Pathology
  • Fundamental Biochemistry
  • Microbial Instrumentation
  • Information and Communication Technology
  • Community Development

Semester 3

  • Human Physiology II
  • Clinical Hematology
  • Metabolic and Technical Biochemistry
  • Technical Microbiology
  • Community Development Activities II

Semester 4

  • Histopathological Techniques
  • Clinical Biochemistry
  • Clinical Microbiology
  • Clinical Pathology
  • Pathology Lab

DMLT कब कर सकते हैं?

वैसे जो विद्यार्थी डीएमएलटी करने का मन बना रहे होते हैं उन्हें तो इसकी जानकारी होती ही है। 

DMLT कोर्स आप 12वीं पूरी करने के बाद कर सकते हैं। DMLT का कोर्स करने के लिए विद्यार्थियों पर साइंस स्ट्रीम से बायोलॉजी विषय लेकर पढ़ाई करना जरूरी है। 

DMLT में दाखिले के लिए विद्यार्थी का 12वीं में कम से कम 50% अंकों के साथ या फिर अनुसूचित जाति और अनुसूचित जनजाति वर्ग के विद्यार्थियों के लिए कम से कम 45% के साथ पास करना जरूरी है। 

इसके अलावा दाखिले के लिए उम्मीदवार की उम्र 17 वर्ष से कम की होनी चाहिए। 

तो दसवीं के बाद फिजिक्स, केमिस्ट्री और बायोलॉजी चुनने वाले विद्यार्थी 12वीं पूरी करने के बाद डीएमएलटी कोर्स को कर सकते हैं।

इन्हें भी पढ़ें : 12वीं के बाद मेडिकल कोर्स कौन से हैं?

इन्हें भी पढ़ें : पैरामेडिकल कोर्स के लिए योग्यता क्या चाहिए? |

DMLT में admission कैसे होता है?

DMLT में दाखिला प्रवेश परीक्षा के जरिए और मेरिट बेसिस दोनों तरीके से होता है। 

देश के जो टॉप सरकारी colleges/universities हैं, उनमें दाखिले के लिए विद्यार्थियों को प्रवेश परीक्षा पास करनी होती है। 

जबकि ज्यादातर प्राइवेट कॉलेजों में दाखिला आप के 12वीं के अंकों के आधार पर ही हो जाता है। Govt. Aided colleges में दाखिला भी आसानी से हो जाता है। 

DMLT में दाखिले के लिए होने वाली प्रवेश परीक्षा सामान्यतः स्तर राज्य स्तर पर आयोजित की जाती है। 

इसके लिए आयोजित प्रवेश परीक्षा में 11वीं और 12वीं स्तर के ही फिजिक्स, केमिस्ट्री और बायोलॉजी विषय से कुछ 100 अंको के प्रश्न रहते हैं। 

प्रवेश परीक्षा के लिए आप इसकी आधिकारिक वेबसाइट पर जाकर रजिस्ट्रेशन कर सकते हैं और परीक्षा में बैठ सकते हैं। 

Direct admission के लिए आप सीधा कॉलेज के ऑफिशल वेबसाइट पर जाकर अप्लाई कर सकते हैं। 

कॉलेज द्वारा लिस्ट निकाले जाने पर उसमें आपका नाम रहता है तो आप कॉलेज में एडमिशन ले सकते हैं। 

निष्कर्ष

ऊपर दिए गए इस आर्टिकल में हमने डीएमएलडी कोर्स की अवधि के बारे में बात की है। 

शुरुआत में बहुत से विद्यार्थियों के मन में यह सवाल रहता है कि डीएमएलडी कोर्स कितने साल का होता है। 

यहां हमने इसी विषय पर डीएमएलटी कोर्स से संबंधित कुछ बातें विस्तार से बताई हैं। 

हम उम्मीद करते हैं कि हमारा यह आर्टिकल आपको पसंद आया होगा। 

इससे संबंधित यदि कोई प्रश्न आदि आपके मन में हो, तो आप हमें नीचे कमेंट सेक्शन में पूछ सकते हैं, हम जल्दी से जल्दी आपके प्रश्न का उत्तर देने का प्रयास करेंगे।

Leave a Comment

Your email address will not be published.