बीसीए के बाद क्या करें? | BCA ke baad kya Karein

दोस्तों जिन विद्यार्थियों की कंप्यूटर में रुचि होती है, उनमें से कई दसवीं और 12वीं पूरी करने के बाद ग्रेजुएशन में बीसीए का कोर्स करते हैं।

वर्तमान में बीसीए के कोर्स में दाखिला लेने वाले विद्यार्थियों की संख्या काफी है। 

बी सी ए का कोर्स पूरा कर लेने के बाद बीसीए ग्रैजुएट्स के मन में कई बार यह सवाल आता है कि अब बीसीए के बाद क्या करें?

या फिर जो विद्यार्थी बीसीए के कोर्स में दाखिला लेना चाहते हैं उनके मन में भी यह सवाल आ सकता है कि वे बीसीए के बाद क्या कर सकते हैं?

आज इस आर्टिकल में हम मुख्य तौर पर इसी की बात करेंगे कि बीसीए के बाद उम्मीदवार क्या कर सकते हैं?

बीसीए के बाद क्या करें?

बीसीए की पढ़ाई पूरी कर लेने के बाद उम्मीदवार आगे किन courses के लिए जा सकते हैं?

या फिर यदि वे नौकरी करना चाहते हैं तो बीसीए के बाद उनके लिए किन क्षेत्रों में किन नौकरियों के अवसर रहते हैं?

BCA के बाद क्या करें?

BCA के बाद के ऑप्शंस के बारे में जानने से पहले थोड़ा सा बीसीए कोर्स की बात कर लेते हैं।

बीसीए का पूरा नाम bachelor of Computer application है, यह कोर्स करके मुख्य रूप से विद्यार्थी IT क्षेत्र में करियर बनाने के लिए देखते हैं।

बीसीए काफी अच्छा कोर्स है लेकिन यदि इसके बाद फिर पोस्ट ग्रेजुएशन लेवल पर सही कोर्स चुना जाए, तो विद्यार्थी के लिए और भी ज्यादा सुनहरे career options खुल जाते हैं।

अब bca पूरी कर लेने के बाद के options को देखे तो या तो विद्यार्थी higher education के लिए जा सकते हैं जिसका मतलब है कि वे bca के बाद फिर इसके आगे के कोर्स में दाखिला लेंगे। 

या फिर दूसरा ऑप्शन है कि विद्यार्थी बीसीए पूरी करने के बाद आगे और पढ़ाई ना करके नौकरी लेने की तरफ जाएं। जिसमें वे सरकारी और प्राइवेट क्षेत्रों में नौकरी के अवसरों के लिए देख सकते हैं।

BCA के बाद करने के लिए मुख्य courses

दोस्तों कंप्यूटर से संबंधित, BCA एक अच्छा कोर्स है। इसे करने के बाद विद्यार्थी यदि आगे इसी क्षेत्र में और पढ़ना चाहते हैं, तो उनके पास इसके लिए कई विकल्प हैं।

BCA के बाद विद्यार्थी निम्नलिखित मुख्य courses की तरफ जा सकते हैं –

  • MCA (Masters in Computer Application)
  • MBA (Master of Business Administration)
  • MIM (Masters in Information Management)
  • ISM (Information Security Management)
  • PGPCS (Post Graduate Diploma in Computer Application)
  • MCM (Masters in Computer Management)

अब बीसीए के बाद के इन courses के बारे में एक-एक करके संक्षिप्त में जानते हैं।

MCA (Masters in Computer Application)

Computer application में बीसीए बैचलर की डिग्री है, तो एमसीए उसके बाद की यानी मास्टर्स की। बीसीए के बाद सबसे ज्यादा विद्यार्थी एमसीए के लिए ही जाते हैं।

इस कोर्स के अंतर्गत विद्यार्थियों को कंप्यूटर एप्लीकेशन सॉफ्टवेयर, कंप्यूटर ऑपरेटिंग सिस्टम, प्रोग्राम और programming language आदि के बारे में और विस्तार से पढ़ाया जाता है।

MCA के बाद आईटी सेक्टर जैसे क्षेत्र में उम्मीदवारों के लिए software engineer, system analyst आदि जैसे करियर के और बेहतर ऑप्शंस खुलते हैं।

MBA (Master of Business Administration)

सिर्फ बीसीए के बाद ही नहीं, एमबीए वैसे भी पोस्ट ग्रेजुएशन लेवल पर सबसे ज्यादा चुने जाने वाले कोर्स में से है।

बिजनेस एडमिनिस्ट्रेशन का मतलब व्यापार और उसके प्रबंधन की पढ़ाई है। इस कोर्स के अंतर्गत विद्यार्थियों को एकाउंटिंग के प्रिंसिपल्स, मैक्रो और माइक्रो इकोनॉमिक्स और बिजनेस लॉ आदि के बारे में पढ़ाया जाता है।

एमबीए का कोर्स विद्यार्थियों को मैनेजमेंट सेक्टर में उच्च पदों पर नौकरियों के लिए तैयार करता है। बीसीए करने के बाद इस क्षेत्र में जाने की इच्छा रखने वाले विद्यार्थी एमबीए भी कर सकते हैं।

MIM (Masters in Information Management)

बीसीए करने के बाद बहुत से विद्यार्थी एम आई एम कोर्स का भी चुनाव करते हैं।

आसान भाषा में यह कोर्स आईटी सेक्टर के मैनेजमेंट की पढ़ाई से संबंधित है। इस कोर्स के अंतर्गत उम्मीदवारों को साइबर सिक्योरिटी मैनेजमेंट बिजनेस एनालिटिक्स जैसे विषयों को पढ़ना होता है, जिसका इस क्षेत्र में ज्यादा इस्तेमाल है।

इस कोर्स के बाद खासतौर से आईटी सेक्टर में उम्मीदवारों के लिए कई जॉब ऑप्शंस खुलते हैं जिनमें सिस्टम एनालिस्ट, वेब डेवलपर/ डिजाइनर आदि प्रमुख हैं।

ISM (Information Security Management)

ISM course भी बीसीए के बाद बहुत से विद्यार्थियों द्वारा चुना जाता है। जैसा कि इसके नाम में है, यह कोर्स मुख्य रूप से डाटा प्रोटेक्शन के अलग-अलग सॉफ्टवेयर्स के बारे में सीखने का है।

बीसीए के बाद यह कोर्स भी एक अच्छा विकल्प हो सकता है।

इसके बाद कंप्यूटर से संबंधित क्षेत्रों में उम्मीदवार अच्छे सैलरी के साथ जॉब पा सकते हैं, जैसे कि नेटवर्क सिक्योरिटी इंजीनियर या सिक्योरिटी आर्किटेक्ट के तौर पर।

PGPCS (Post Graduate Diploma in Computer Application)

यह कोर्स असल में 1 साल का डिप्लोमा प्रोग्राम होता है, और ऐसे विद्यार्थी जो कंप्यूटर एप्लीकेशंस में रुचि रखते हैं इसका चुनाव कर सकते हैं।

इसीलिए बीसीए के बाद बहुत से विद्यार्थी इस कोर्स के लिए भी जाते हैं। कोर्स के अंतर्गत कुछ अलग अलग क्षेत्रों में कंप्यूटर एप्लीकेशन के इस्तेमाल के बारे में सिखाया जाता है।

इस तरह के कोर्स के बाद भी उम्मीदवार कंप्यूटर से संबंधित क्षेत्र में अच्छी सैलरी वाली नौकरी ले सकते हैं।

MCM (Masters in Computer Management)

BCA के बाद यह कोर्स मुख्य द्वार से कंप्यूटर सॉफ्टवेयर और मैनेजमेंट क्षेत्र के topics की पढ़ाई है। Basically, इसमें भी विद्यार्थियों को डेटाबेस एप्लीकेशन और सॉफ्टवेयर प्रोग्रामिंग आदि के बारे में ही पढ़ाया जाता है।

आईटी सेक्टर में करियर बनाने की इच्छा रखने वाले विद्यार्थियों के लिए बीसीए के बाद एमसीएम भी एक अच्छा विकल्प रहता है।

BCA के बाद नौकरी के अवसर

ऊपर हमने बीसीए के बाद उपलब्ध अलग-अलग कोर्स के बारे में बात की है। पर यदि विद्यार्थी आगे higher studies के लिए ना जाकर नौकरी की तरफ जाना चाहते हैं, तो उनके पास यह विकल्प भी होता है।

बीसीए बैचलर लेवल का कोर्स है यानी कि इसके बाद आप एक ग्रेजुएट विद्यार्थी हो जाते हैं।

और यदि सरकारी नौकरी की बात करें तो इन जनरल जितनी भी सरकारी नौकरियों के लिए वैकेंसी निकलती है, जैसे कि रेलवे, एसएससी, बैंकिंग या डिफेंस फील्ड में आप उन सब में आवेदन करने के योग्य होते हैं।

बीसीए पास विद्यार्थी इनमें से सभी सरकारी नौकरियों के लिए आवेदन कर सकता है और परीक्षा पास करके सरकारी नौकरी प्राप्त कर सकता है।

वहीं यदि प्राइवेट क्षेत्र की बात करें तो आईटी सेक्टर आज के समय में काफी बड़ा है।

बीसीए किए हुए विद्यार्थियों के लिए वहां कैरियर के कई ऑप्शन होते हैं। जैसे कि आप किसी अच्छी आईटी कंपनी में अच्छे पद पर नौकरी ले सकते हैं बशर्ते आपकी किसी एक विषय पर अच्छी पकड़ हो।

बहुत सी कंपनियां बीसीए graduates को अच्छी नौकरियां ऑफर करती है इनमें शुरुआती सैलरी 20 से 25 हजार तक रहती है और फिर वर्क एक्सपीरियंस बढ़ने के साथ इसमें और भी बढ़ोतरी होती है।

Conclusion

ऊपर दिए गए इस आर्टिकल में हमने बीसीए के बाद के ऑप्शंस के बारे में बात की है।

बीसीए करने के बाद क्या करें? यह सवाल बहुत से विद्यार्थियों के लिए आम है।

इस आर्टिकल में हमने बीसीए के बाद के लिए उपलब्ध अलग-अलग courses के बारे में चर्चा की है, साथ ही हमने बीसीए के बाद के लिए सरकारी और प्राइवेट क्षेत्रों में नौकरी के विकल्पों पर भी बात की है।

Leave a Comment

Your email address will not be published.