नीट का कोर्स कितने साल का होता है? | NEET ka course kitne saal ka hota hai

दोस्तो आज के समय में मेडिकल लाइन करियर ऑप्शंस के मामले में सबसे ज्यादा चुने जाने वाले क्षेत्रों में से है। बहुत से विद्यार्थी एक डॉक्टर बनने या फिर मेडिकल लाइन में जो अन्य भी कुछ अच्छे करियर ऑप्शंस है, उनमें अच्छा करियर बनाना चाहते हैं।

दोस्तों यदि आप मेडिकल की फील्ड में एक अच्छा करियर जैसे कि डॉक्टर या फिर नर्स आदि बनना चाहते हैं तो आपने अब तक NEET का नाम तो जरूर ही सुना होगा।

यदि आप मेडिकल क्षेत्र में इंटरेस्टेड हैं तो आपने जरूर सुना होगा कि मेडिकल लाइन में अच्छा करियर बनाने के लिए NEET पास करना बहुत ही जरूरी है।

ऐसे में जो नए विद्यार्थी मेडिकल की तैयारी में जाते हैं, उनके मन में कई बार यह सवाल आ जाता है कि नीट का कोर्स कितने साल का होता है? या NEET कितने वर्ष की अवधि का कोर्स है?

नीट का कोर्स कितने साल का होता है?

दोस्तों यहां आज इस आर्टिकल में हम इसी के बारे में जानेंगे। नीट कितने साल का कोर्स है, इस सवाल का जवाब जानेंगे।

साथ ही NEET से संबंधित हर जरूरी बात पर भी अच्छे से चर्चा करेंगे।

NEET का कोर्स कितने साल का है? 

दोस्तों सबसे पहले तो बात यह है कि NEET असल में कोई कोर्स नहीं है, जिसकी एक निर्धारित अवधि होगी।

नीट कोई कोर्स नहीं बल्कि एक प्रवेश परीक्षा है जो कि राष्ट्रीय स्तर पर ली जाती है ताकि मेडिकल के विद्यार्थियों का एमबीबीएस, बीडीएस और नर्सिंग आदि जैसे अन्य कई कोर्स में दाखिला हो सके।

इसीलिए NEET का कोर्स कितने साल का है, इसका जवाब होगा की कितने भी साल का नहीं, क्योंकि यह कोर्स है ही नहीं।

हर विद्यार्थी जो मेडिकल के क्षेत्र में जाता है उसने नीट का नाम जरुर सुना होता है।

इसीलिए नए विद्यार्थियों के मन में यह प्रश्न या कहें यह कंफ्यूजन आ जाता है कि NEET का कोर्स कितने साल का है।

नीट कोई कोर्स नहीं है, बल्कि एक एंट्रेंस एग्जाम है। इस एग्जाम को पास करके विद्यार्थी जिस भी कोर्स में दाखिला लेंगे, वहां यह प्रश्न आना चाहिए कि अब यह कोर्स कितने साल का है। 

अब जब हम जान गए हैं कि NEET कोर्स नहीं बल्कि प्रवेश परीक्षा है तो संक्षिप्त में इसके बारे में भी जान लेते हैं।

NEET का पूरा नाम National eligibility cum interest test है, और अब भारत में एमबीबीएस, बीडीएस, बीएससी नर्सिंग और इसके अलावा पोस्ट ग्रेजुएशन मेडिकल courses में भी दाखिले के लिए NEET एकमात्र प्रवेश परीक्षा है।

NTA (National testing agency) हर साल देशभर के मेडिकल कॉलेजों में मुख्य मेडिकल courses में दाखिले के लिए NEET का आयोजन करता है।

जिसे पास करने के बाद विद्यार्थी काउंसलिंग आदि के बाद मेडिकल कॉलेज में अपने पसंद के मेडिकल कोर्स में एडमिशन ले सकते हैं।

NEET पास करके किन courses में दाखिला ले सकते हैं, और वे कितने साल के हैं?

मेडिकल लाइन में वैसे तो बहुत से courses उपलब्ध है, लेकिन उनमें से सबसे लोकप्रिय courses में सबसे पहले तो एमबीबीएस और उसके बाद बीडीएस कोर्स का नाम आता है।

सबसे ज्यादा विद्यार्थी नीट की तैयारी, एमबीबीएस के लिए ही करते हैं, और उसके बाद बीडीएस और फिर बीएससी नर्सिंग आदि में एडमिशन के लिए करते हैं।

NEET के बाद एमबीबीएस कितने साल का है?

जैसा कि हमने ऊपर बताया सबसे ज्यादा विद्यार्थी नीट की तैयारी एमबीबीएस में एडमिशन के लिए ही करते हैं। एमबीबीएस मेडिकल लाइन में सबसे लोकप्रिय कोर्स है, जिसका चुनाव सबसे ज्यादा विद्यार्थी करते हैं।

इसका पूरा नाम bachelor of medicine and bachelor of surgery होता है। और इस कोर्स की अवधि की बात करें तो यह कुल मिलाकर 5.5 साल का होता है।

इस 5.5 साल की कोर्स अवधि के दौरान मेडिकल के विद्यार्थी 4.5 साल तक पढ़ाई करते हैं, और उसके बाद उन्हें 1 साल का mandatory internship करना होता है।

जिसमें कि वे हॉस्पिटल आदि में डॉक्टरों के साथ रहकर डॉक्टर का काम सीखते हैं।

NEET के बाद BDS कितने साल का है?

NEET की तैयारी भारतीय विद्यार्थी बीडीएस कोर्स में दाखिले के लिए भी करते हैं। बी डी एस का पूरा नाम bachelor of dental surgery होता है।

इस कोर्स की अवधि की बात करें तो यह कोर्स कुल मिलाकर 5 साल का होता है और इसमें भी एमबीबीएस की ही तरह 4 साल तक आपको पढ़ाई करनी होती है और आखिरी के 1 साल आप अस्पताल या दूसरे मेडिकल संस्थान में इंटर्नशिप करते हैं।

बीडीएस करने के बाद विद्यार्थी MDS यानी कि इसी में मास्टर्स कर सकते हैं।

एमबीबीएस और बीडीएस को छोड़कर नीट पास करने के बाद के दूसरे courses में से कुछ मुख्य निम्नलिखित हैं –

1. BSMS

BSMS – इसका पूरा नाम bachelor of siddha medicine and surgery है। यह 5.5 वर्ष का कोर्स होता है जिसमें 4.5 वर्ष का एकेडमिक पढ़ाई और 1 साल की इंटर्नशिप होती है।

2. BAMS

BAMS – इसका पूरा नाम bachelor of ayurvedic medicine and surgery होता है। यह भी साडे 5 साल का कोर्स है जिसमें 4.5 वर्ष की academic पढ़ाई और 1 साल की इंटर्नशिप शामिल है।

3. BHMS

BHMS – इसका पूरा नाम bachelor of homeopathic medicine and surgery है। यह भी 5.6 साल की अवधि का कोर्स है जिसमें 4.5 साल पढ़ाई और 1 साल इंटर्नशिप करनी होती है।

4. BYNS

BNYS – इसका पूरा नाम bachelor of naturopathy and yogic sciences है। इस कोर्स की अवधि 5.5 वर्ष की है। जिसमें 4.5 वर्ष की पढ़ाई और 1 साल की इंटर्नशिप आती है।

5. BPT

BPT – इसका पूरा नाम bachelor of physiotherapy है। NEET पास करने के बाद यह कोर्स करने पर इसकी अवधि 4.5 वर्ष की होती है, जिसमें 4 साल की पढ़ाई और 6 महीने की इंटर्नशिप आती है।

6. BMLT

BMLT – इसका पूरा नाम bachelor of medical laboratory Technology है, यह 3 वर्ष की अवधि का कोर्स होता है।

7. BUMS

BUMS – इसका पूरा नाम bachelor of Unani medicine and surgery है। यह कोर्स कुल मिलाकर 4.5 वर्ष का है जिसमें 4 वर्ष की पढ़ाई और 1 साल की इंटर्नशिप आती है।

8. BOT

BOT – इसका पूरा नाम bachelor of occupational therapy है। यह कोर्स भी कुल मिलाकर 4.5 वर्ष की होती है।

आदि।

Conclusion

ऊपर इस आर्टिकल में हमने नेट का कोर्स कितने साल का होता है, इसके जवाब के बारे में जाना।

NEET असल में कोई कोर्स नहीं बल्कि प्रवेश परीक्षा है। जिसके माध्यम से मेडिकल विद्यार्थियों को अलग-अलग मेडिकल courses में देशभर के मेडिकल कॉलेजों में दाखिला मिलता है।

Leave a Comment

Your email address will not be published.