मेडिकल लाइन कोर्स लिस्ट (Medical Course List) | डॉक्टर कोर्स नाम लिस्ट

दोस्तों वर्तमान में करियर की बात आने पर विद्यार्थी कुछ गिने-चुने क्षेत्रों की तरफ सबसे ज्यादा देखते हैं, और मेडिकल field उनमें सबसे प्रमुख में से है।

बहुत से विद्यार्थियों का बचपन से सपना एक डॉक्टर बनने का होता है। 

जब हम मेडिकल लाइन की बात करते हैं तो उनमें सबसे पहले डॉक्टर और उसके लिए एमबीबीएस कोर्स का नाम ही हमारे दिमाग में आता है।

पर मेडिकल फील्ड से जुड़े विद्यार्थी जानते होंगे कि एमबीबीएस या इसके अलावा बीडीएस और nursing जैसे courses के अलावा भी मेडिकल फील्ड में और कई options हैं।

मेडिकल के क्षेत्र में करियर बनाने की सूचना वाले विद्यार्थियों के मन में कई बार यह सवाल आता होगा कि आखिर मेडिकल लाइन में कुल कितने courses होते हैं?

मेडिकल लाइन कोर्स लिस्ट

यहां इस आर्टिकल में हम मेडिकल लाइन कोर्स लिस्ट (medical line courses list) और डॉक्टर कोर्स नाम लिस्ट (doctor course name list) को देखेंगे। जानेंगे कि मेडिकल लाइन में सबसे मुख्य courses कौन-कौन है।

मुख्य courses के साथ-साथ मेडिकल लाइन की दूसरे सभी courses की list भी देखेंगे और उनके बारे में जानेंगे।

मेडिकल लाइन कोर्स लिस्ट (Medical Course List)

जो विद्यार्थी मेडिकल लाइन में करियर बनाना चाहते हैं उन्हें दसवीं के बाद साइंस स्ट्रीम चुननी होती है, और उसमें भी उन्हें फिजिक्स,केमिस्ट्री और biology यानी कि PCB का चुनाव करना होता है।

इन विषयों के साथ 12वीं पास करने के बाद वे अपनी इच्छा के अनुसार अलग-अलग medical courses में दाखिला ले सकते हैं।

जिसके लिए उन्हें एंट्रेंस एग्जाम में जो भी प्रक्रिया निर्धारित है, उससे गुजरना होता है।

यानी कि मुख्यतः विद्यार्थी 12वीं के बाद ही मेडिकल लाइन के अपने पसंद के कोर्स में एडमिशन लेते हैं।

इसीलिए हम यहां 12वीं के बाद भारत में उपलब्ध सभी मुख्य medical courses के बारे में बात करेंगे।

मेडिकल लाइन कोर्स लिस्ट (Medical line Course List)

  • MBBS
  • BDS
  • B.Sc nursing
  • BUMS
  • BAMS
  • BPT
  • B. Pharma
  • D. Pharma, etc

डॉक्टर कोर्स नाम लिस्ट

जैसा कि हम जानते कि मेडिकल लाइन में बहुत सारे कोर्स होते हैं पर सारे कोर्स करने के बाद आपको डॉक्टर की डिग्री प्राप्त नहीं होती है डॉक्टर की डिग्री है इसलिए आपको अलग पोस्ट करने होते हैं इसलिए हम कौन से कोर्स करने के बाद डॉक्टर डिग्री मिलती है।

डॉक्टर कोर्स नाम लिस्ट

  • MBBS
  • BDS

1. MBBS

देश में सबसे लोकप्रिय मेडिकल कोर्स एमबीबीएस को ही माना जाता है। डॉक्टर बनने के इच्छुक विद्यार्थी सबसे पहले एमबीबीएस के कोर्स में ही दाखिले के लिए कड़ी मेहनत करते हैं।

एमबीबीएस का पूरा नाम bachelor of medicine and bachelor of surgery होता है।

एमबीबीएस का कोर्स पूरा करने के बाद आप एक एमबीबीएस डॉक्टर बन सकते है और लोगों का इलाज कर सकते हैं।

एमबीबीएस 5.5 साल का कोर्स है जिसमें 4.5 साल की एकेडमिक पढ़ाई और 1 साल की mandatory internship करनी पड़ती है।

MBBS करने के बाद आप आगे फिर किसी एक क्षेत्र में स्पेशलाइजेशन का कोर्स भी कर सकते हैं। MBBS में दाखिला NEET की परीक्षा के माध्यम से होती है।

2. BDS

मेडिकल लाइन में एमबीबीएस के बाद जो दूसरा सबसे लोकप्रिय कोर्स आता है, वह बीडीएस ही है।

BDS का पूरा नाम bachelor of dental surgery होता है। यानी कि इस कोर्स के बाद विद्यार्थी dentist बन सकते हैं जो की दांतो का इलाज करता है।

BDS के कोर्स में दाखिला भी नीट की परीक्षा यानी National eligibility come entrance test के जरिए होती है जो कि राष्ट्रीय स्तर पर आयोजित की जाती है।

BDS कोर्स की अवधि भी 5.5 साल की की होती है, जिसमें 4.5 साल की पढ़ाई और 1 साल की इंटर्नशिप शामिल होती है।

बहुत से विद्यार्थी मेडिकल लाइन में बीडीएस के कोर्स में दाखिला चाहते हैं।

3. B.Sc nursing

डॉक्टरी के अलावा ऐसे विद्यार्थी जो नर्सिंग के क्षेत्र में यानी कि एक नर्स के तौर पर करियर बनाना चाहते हैं, वह b.sc nursing का चुनाव कर सकते हैं।

ऐसे विद्यार्थी जो 12वीं के बाद मेडिकल लाइन में जल्दी जॉब पाना चाहते हैं उनके लिए बीएससी नर्सिंग का विकल्प काफी अच्छा हो सकता है।

बीएससी नर्सिंग का फुल फॉर्म बैचलर ऑफ साइंस इन नर्सिंग होता है। और जैसा कि इसके नाम में है, यह विद्यार्थी को एक नर्स के तौर पर तैयार करता है।

बीएससी नर्सिंग में भी दाखिला अब नीट की परीक्षा के माध्यम से ही होता है। यह अंडर ग्रेजुएशन का कोर्स है जिसकी अवधि 4 साल तक की हो सकती है।

  1. बीएससी (B.SC) में कितने सब्जेक्ट होते हैं? | bsc me kitne subject hote hai
  2. B.SC Nursing की Fees कितनी है?
  3. B.Sc Nursing के बाद Government Jobs

4. BUMS

12वीं के बाद मेडिकल लाइन में अंडर ग्रेजुएशन के courses में BUMS भी एक मुख्य नाम है। BUMS का पूरा नाम bachelor of Unani medicine and surgery होता है।

मेडिकल के इस कोर्स के अंतर्गत डॉक्टर बनने वाले विद्यार्थियों को यूनानी तरीके से रोगों का इलाज करना सिखाया जाता है।

इस कोर्स में दाखिला भी NEET की परीक्षा के माध्यम से होता है। आपके NEET में जितने नंबर आएंगे उसी हिसाब से आपको मेडिकल कॉलेज मिलता है।

BUMS कोर्स की अवधि कुल मिलाकर 4.5 वर्ष का है जिसमें 4 वर्ष की पढ़ाई और 1 साल की इंटर्नशिप आती है।

5. BAMS

12वीं के बाद मेडिकल लाइन में BAMS भी एक लोकप्रिय अंडर ग्रेजुएशन मेडिकल कोर्स है।

फुल फॉर्म की बात करें तो इसका पूरा नाम bachelor of ayurvedic medicine and surgery होता है।

इस कोर्स के दौरान मेडिकल विद्यार्थियों को आयुर्वेद के विधियों और दवाओं का उपयोग करके इलाज करने की शिक्षा दी जाती है।

कोर्स अवधि की बात करें तो यह भी साडे 5 साल का कोर्स है जिसमें 4.5 वर्ष की academic पढ़ाई और 1 साल की इंटर्नशिप शामिल है।

इंटर्नशिप के दौरान आप अस्पतालों या दूसरे मेडिकल संस्थानों में डॉक्टरों के साथ रहकर उन्हें देखकर उनका काम सीखते हैं।

6. BPT

12वीं के बाद के मेडिकल क्षेत्र के कोर्स में BTP का नाम भी आता है। इस का फुल फॉर्म यानी पूरा नाम bachelor of physiotherapy है।

इस कोर्स के दौरान विद्यार्थी फिजियोथैरेपी के बारे में अच्छे से पढ़ कर बाद में उसकी प्रेक्टिस करते हैं।

NEET पास करने के बाद विद्यार्थी NEET में आए अंकों के आधार पर मेडिकल कॉलेज में इस कोर्स में दाखिला लेते हैं।

समयावधि की बात करें तो यह कोर्स करने पर इसकी अवधि 4.5 वर्ष की होती है, जिसमें 4 साल की पढ़ाई और 6 महीने की इंटर्नशिप आती है।

इसमें भी इंटर्नशिप के लिए वही बात है।

7. B.Pharma

मेडिकल लाइन में फार्मेसी का कोर्स करना भी बहुत से विद्यार्थियों के लिए फायदेमंद हो सकता है। इसका पूरा नाम bachelor of pharmacy होता है।

आसान कोर्स करके नौकरी पाने की इच्छा रखने वालों के लिए बी फार्मा अच्छा हो सकता है। काफी लोग इस कोर्स को 12वीं के बाद चुनते हैं।

बी फार्मा के अंतर्गत आप फार्मेसी, जीव विज्ञान, स्वास्थ्य विज्ञान, रसायन विज्ञान  आदि में बी फार्मा कर सकते हैं।

इसके बाद उम्मीदवारों के लिए मेडिकल लाइन में कई ऑप्शन खुलते हैं, जैसे कि वे खुद का मेडिकल स्टोर आदि भी खोल सकते हैं।

8. D. Pharma

D pharma का पूरा नाम डिप्लोमा इन फार्मेसी होता है। मुख्य तौर पर फार्मेसी हेल्थ सेक्टर के अंतर्गत ही आता है।

इस d pharma course के अंतर्गत मेडिकल के विद्यार्थियों को दवाइयों और मेडिकल से संबंधित रिसर्च कराई जाती है, और दवाइयां के बारे में विस्तार से पढ़ाया जाता है। 

9. अन्य Courses

इन सबके अलावा भी मेडिकल लाइन में courses और काफी सारे हैं। 

  • BHMS (bachelor of homeopathic medicine and surgery)
  • BNYS (bachelor of naturopathy and yogic sciences)
  • BMLT (bachelor of medical laboratory Technology)
  • BOT (bachelor of occupational therapy)
डिप्लोमा इन मेडिकल इमेजिंग टेक्नोलॉजीडिप्लोमा इन मेडिकल लैबोरेट्री टेक्नोलॉजी
डिप्लोमा इन नर्सिंग केयर असिस्टेंट डिप्लोमा इन फिजियोथैरेपीडिप्लोमा इन ओटी टेक्निशियन
डिप्लोमा इन एक्स-रे टेक्नोलॉजीडिप्लोमा इन एनेस्थीसिया
जीएनएमएएनएम
डिप्लोमा इन रूरल हेल्थ केयर

फिर पोस्ट ग्रेजुएशन लेवल पर भी M.D.(doctor of medicine) और M.S.(master of surgery) जैसे कई courses हैं।

Conclusion

ऊपर दिए गए इस आर्टिकल में हमने मेडिकल लाइन कोर्स लिस्ट को देखा।

मेडिकल लाइन में बहुत सारे कोर्सेज उपलब्ध होते हैं, और विद्यार्थी अपनी सुविधा के अनुसार उनमें से किसी का भी चयन कर सकते हैं।

Leave a Comment

Your email address will not be published.