B.SC Nursing की Fees कितनी है? | B.SC Nursing Fees

B.sc nursing की फीस कितनी होती है? बीएससी नर्सिंग की पढ़ाई करने में कितना खर्च आता है? कितने तक के खर्च में बीएससी नर्सिंग की पढ़ाई पूरी की जा सकती है? इस तरह के सवाल मेडिकल के क्षेत्र में nursing field में अपना करियर बनाने की सोचने वाले कई सारे विद्यार्थियों के मन में आता होगा।

बीएससी इन नर्सिंग भारत में सबसे लोकप्रिय नर्सिंग पाठ्यक्रमों में से एक है, जो विभिन्न वातावरण में नर्सिंग का अभ्यास करने के लिए उम्मीदवारों को प्रशिक्षित करता है, यह कोर्स भारत के कुछ सर्वश्रेष्ठ नर्सिंग कॉलेजों द्वारा प्रस्तुत किया जाता है।

यहां इस लेख में हम मुख्य तौर पर यह बात करेंगे कि बीएससी नर्सिंग की फीस कितनी होती है। medical line में nursing क्षेत्र में करियर बनाना आज के समय में एक अच्छा विकल्प है।

इससे आप कई जगहों पर nurse के काम करने के योग्य हो जाते हैं, जिसके बाद अस्पतालों और क्लीनिक आदि जैसे जगहों पर नौकरी प्राप्त कर सकते हैं।

नर्सिंग की पढ़ाई करने की सोचने वाले विद्यार्थियों के लिए यह जरूरी हो जाता है कि उन्हें इस course के फीस के बारे में सही जानकारी हो। Fees के साथ-साथ b.sc nursing क्या है, और इसके बारे में दूसरी जरूरी चीजें भी संछिप्त में जानेंगे।

B.SC Nursing की फीस कितनी होती है?

B.SC Nursing क्या है?

B.sc nursing की fees के बारे में जानने से पहले संक्षिप्त में यह जान लेते हैं कि बीएससी नर्सिंग क्या है। आसान भाषा में, यह कोर्स उम्मीदवार को nurse की पढ़ाई कराता है और उसकी ट्रेनिंग देता है।

हर जगह ही मरीजों की देखभाल और मेडिकल के दूसरे कामों के लिए नर्सेज की जरूरत पड़ती है। बीएससी नर्सिंग एक डिग्री कोर्स है, जिसमे आपको किसी भी मरीज़ की देखभाल कैसे करते हैं, और उसके लिए दवाईयों के बारे में भी बहुत कुछ सिखने को मिलता है।

भारत में BSc नर्सिंग एक 4 साल का यूजी कोर्स है, जो विज्ञान में अकादमिक डिग्री प्रदान करने और प्रमाणित शिक्षा प्रदाता द्वारा मान्यता प्राप्त नर्सिंग में विस्तृत प्रशिक्षण देने के उद्देश्य से 8 सेमेस्टर में विभाजित होता है।

B.SC Nursing की फीस कितनी होती है?

अगर बात करें इस कोर्स के लिए लगने वाले fees की तो दूसरे किसी भी कोर्स की तरह fees की रकम इस बात पर निर्भर करती है कि आप किस तरह के कॉलेज से बीएससी नर्सिंग की पढ़ाई करते हैं।

किस तरह के कॉलेज से मतलब है कि सरकारी कॉलेज या फिर प्राइवेट कॉलेज। जैसा कि और किसी भी कोर्स के लिए होता है, यदि बीएससी नर्सिंग की पढ़ाई के लिए आप एक सरकारी कॉलेज में दाखिला ले पाते हैं तो आपकी पढ़ाई काफी कम खर्च में पूरी हो जाती है, क्योंकि जाहिर तौर पर सरकारी कॉलेज फीस के रूप में कम रकम लेते हैं।

लेकिन यदि आपको एक सरकारी कॉलेज नहीं मिल पाता है तो आपको प्राइवेट कॉलेज से यह कोर्स करना होगा।

और private college की फीस किसी सरकारी कॉलेज की फीस की तुलना में काफी अधिक होती है।

दरअसल प्राइवेट कॉलेज में दाखिला लेना किसी भी छात्र की पहली चॉइस नहीं होती है।

पर बीएससी नर्सिंग में दाखिले के लिए entrance exam देना होता है जिसमें आए अंकों के आधार पर विद्यार्थी को सरकारी कॉलेज मिल पाता है। यदि एंट्रेंस एग्जाम के नंबर कम हो तब विद्यार्थी को प्राइवेट कॉलेज में दाखिला लेना पड़ता है और इसीलिए इसकी फीस ज्यादा होती है।

बीएससी नर्सिंग फीस इन गवर्नमेंट कॉलेज

भारत में BSC नर्सिंग प्रवेश प्रक्रिया entrance exam के marks और योग्यता दोनों के माध्यम से आयोजित की जाती है, हालांकि भारत में शीर्ष मेडिकल कॉलेज ज्यादातर प्रवेश परीक्षाओं पर विचार करते हैं।

भारत में BSc नर्सिंग में प्रवेश के लिए JIPMER, AJEE, AUAT, SUAT, BHU, UET निम्न बीएससी नर्सिंग एंट्रेंस एग्जाम हैं। अगर आप BSc Nursing का कोर्स किसी सरकारी कॉलेज से कर रहे तब आपकी फीस कम होती है।

वैसे तो हर सरकारी कॉलेज की फीस भी अलग-अलग होती है जिसके बारे में कॉलेज वेबसाइट से पता किया जा सकता है।

बीएससी नर्सिंग फीस इन गवर्नमेंट कॉलेज (b.sc nursing fees in government colleges)

सरकारी कॉलेज में बीएससी नर्सिंग कोर्स की 1 साल की फीस करीब 15000-25000 रूपये हो सकती है।

बीएससी नर्सिंग का कोर्स 4 साल की अवधि का होता है, इसलिए बीएससी नर्सिंग की फीस 60 हजार से 1 लाख तक पहुंच जाती है।

यह सिर्फ कॉलेज फीस है या नहीं इतनी रकम आपको कॉलेज में फीस के रूप में भरनी होती है।

Fees के अलावा भी पढ़ाई के दौरान दूसरे कई सारे खर्चे हो सकते हैं, जैसे कि यदि आप कोर्स के दौरान घर से बाहर रहते हैं तो रहने का खर्च, फिर उसमे उसमें खाने-पीने का खर्च और यातायात आदि का खर्च भी जुड़ जाता है।

B.sc Nursing की Private College की Fees

बीएससी नर्सिंग की पढ़ाई के लिए एक प्राइवेट कॉलेज ज्यादातर विद्यार्थियों की पहली choice नहीं ही होती है।

हर विद्यार्थी एंट्रेंस एग्जाम निकालकर एक सरकारी कॉलेज में दाखिला लेना चाहता है जिसका जाहिर कारण प्राइवेट कॉलेज की ज्यादा फीस होती है।

जहां हमने ऊपर जाना की सरकारी कॉलेज की इस कोर्स के लिए 1 साल की फीस 15 से 25000 तक हो सकती है वहीं प्राइवेट कॉलेज में बीएससी नर्सिंग के कोर्स के लिए सिर्फ 1 साल की फीस 80000 से लेकर 1 लाख से भी ज्यादा, 1 लाख 20-30 हजार तक भी जा सकती है।

यह 1 साल की फीस है और इस हिसाब से यदि हम 4 साल के लिए जोड़े तो fees की कुल रकम 4 से 5 लाख रुपए तक भी जाती है।

इसीलिए दोस्तों यह बहुत जरुरी हो जाता है कि आप थोड़ी सी मेहनत कर के BSc Nursing Entrance Exam निकल लें जिससे कि कम खर्च में यह कोर्स पूरा कर पाए।

कई सारे बड़े प्राइवेट मेडिकल कॉलेजों में कॉलेज के द्वारा भी एंट्रेंस एग्जाम दिया जाता है, जिसमें यदि विद्यार्थी अच्छे नंबर लाते हैं तो उन्हें फीस में कुछ छूट या scholarship आदि भी प्रदान की जाती है।

हालांकि सरकारी और प्राइवेट कॉलेजों की डिग्रि में कोई अंतर नहीं होता लेकिन फीस ज्यादा होने के कारण प्राइवेट कॉलेज में facilities ज्यादा अच्छी होती है।

जिससे विद्यार्थी को बेहतर नॉलेज और अनुभव प्राप्त हो सकता है जो इस क्षेत्र में आगे उसके करियर में काम आता है।

Leave a Comment

Your email address will not be published.