B.Sc Nursing के बाद Doctor कैसे बनें?

B.sc nursing के बाद डॉक्टर कैसे बन सकते हैं? B.sc nursing के बाद डॉक्टर बनने के लिए क्या करना होता है? बीएससी नर्सिंग का कोर्स पूरा कर चुके विद्यार्थी डॉक्टर कैसे बन सकते हैं?

इस तरह के सवाल ऐसे विद्यार्थी जिन्होंने बीएससी नर्सिंग का कोर्स पूरा कर लिया हो और अब वह एक डॉक्टर बनना चाहते हैं, उनके मन में आना स्वभाविक रहता है।

अपनी 12वीं की पढ़ाई पूरी करने के बाद बहुत से छात्र बीएससी नर्सिंग में दाखिला लेते हैं, जिसमें उन्हें मुख्य तौर पर एक नर्स बनने की ट्रेनिंग और पढ़ाई कराई जाती है।

दोस्तों आज यहां इस लेख में हम मुख्य तौर पर इसी पर बात करेंगे की बीएससी नर्सिंग की पढ़ाई पूरी करने के बाद यदि कोई विद्यार्थी डॉक्टर बनना चाहता है तो उसके लिए क्या प्रक्रिया निर्धारित है।

बीएससी नर्सिंग का कोर्स भले ही उम्मीदवार को एक नर्स बनने की ट्रेनिंग देता है लेकिन यह कोर्स पूरा करके डॉक्टर भी बना जा सकता है, लेकिन इसकी प्रक्रिया अलग हो जाती है।

B.Sc Nursing के बाद Doctor कैसे बनें?

जानते हैं बीएससी नर्सिंग के बाद डॉक्टर कैसे बना जा सकता है, इसके साथ ही पहले संक्षिप्त में बीएससी नर्सिंग क्या है, और इससे जुड़े दूसरी जरूरी बातों को भी जानेंगे।

B.sc nursing क्या है?

आसान भाषा में, B.sc nursing उम्मीदवार को nurse की पढ़ाई कराता है और उसकी ट्रेनिंग देता है।

बैचलर ऑफ़ साइंस इन नर्सिंग (bachelor of science in nursing) यानी नर्सिंग में विज्ञान स्नातक, जिसे आमतौर पर बीएससी नर्सिंग के रूप में जाना जाता है, चिकित्सा विज्ञान के क्षेत्र में 4 साल का एक स्नातक ( under graduation ) पाठ्यक्रम है।

नर्सिंग विद्यार्थी/उम्मीदवारों को स्वास्थ्य क्षेत्र के साथ काम करने और जरूरतमंद लोगों की मदद करने और उनकी सेवा करने का अवसर प्रदान करती है।

हर जगह ही मरीजों की देखभाल और मेडिकल के दूसरे कामों के लिए नर्सेज की जरूरत पड़ती है। यह पढ़ाई नर्स के लिए है, डॉक्टर के लिए नहीं, इसलिए यदि विद्यार्थी इस कोर्स को करके डॉक्टर बनना चाहते हैं तो ऐसा नहीं हो सकता है।

B.sc Nursing के बाद Doctor कैसे बने?

यदि अभी के समय की बात करें तो इस कोरोना महामारी के कारण डॉक्टर्स की जरूरत पहले से कई ज्यादा बढ़ी है, इन्हें corona warriors का नाम दिया गया है।

बीएससी नर्सिंग का कोर्स पूरा करने के बाद विद्यार्थी के पास करियर के कई सारे विकल्प खुलते हैं।

सरकारी और प्राइवेट अस्पतालों, क्लिनिको और भी कई जगहों पर nurse का काम करने वालों की जरूरत रहती है, इन पदों की सैलरी अच्छी रहती है और जैसे जैसे आपका अनुभव बढ़ता है आपकी salary और भी बढ़ती है।

इसीलिए बीएससी नर्सिंग के बाद डॉक्टर बनने के अलावा भी कैरियर के कई सारे ऑप्शन रहते हैं।

लेकिन यदि आपको डॉक्टर बनना ही है और वह भी बीएससी नर्सिंग का कोर्स पूरा करने के बाद, तो आपको उसी प्रक्रिया से गुजरना होगा जिससे डॉक्टर बनने के लिए दूसरे विद्यार्थी गुजरते हैं, कहने का मतलब है कि आपको बीएससी नर्सिंग की पढ़ाई का कोई अतिरिक्त लाभ नहीं मिलेगा, एक डॉक्टर बनने के लिए आपको भी वह जरूरी कोर्स करना होगा जो दूसरे विद्यार्थी करते हैं।

हम यहां एमबीबीएस (mbbs) की बात कर रहे हैं, आपने बीएससी नर्सिंग का कोर्स पूरा कर लिया है, इसका महत्व नहीं होगा।

डॉक्टर बनने के लिए आपको एमबीबीएस के कोर्स की पढ़ाई करनी ही होगी तभी आप एक डॉक्टर बन पाएंगे।

B.Sc Nursing के बाद डॉक्टर के लिए Mbbs

बीएससी नर्सिंग की पढ़ाई पूरी करने के बाद डॉक्टर बनने की इच्छा रखने वाले विद्यार्थियों को एमबीबीएस का कोर्स करना ही होता है।

बीएससी नर्सिंग का कोर्स करने के बाद आप एमबीबीएस का कोर्स कर सकते हैं, इसमें किसी प्रकार की कोई दिक्कत नहीं है, लेकिन एमबीबीएस के कोर्स में दाखिले के लिए प्रक्रिया वही होगी जो दूसरे विद्यार्थियों के लिए होती है यानी कि आपको नीट (NEET) की परीक्षा पास करनी होगी।

मतलब यही हुआ कि इस बात से कोई फर्क नहीं पड़ेगा कि आपने बीएससी नर्सिंग का कोर्स पूरा कर लिया है, आपको भी अन्य किसी विद्यार्थी की तरह NEET की परीक्षा देनी होगी, और उसे पास करके ही आपका एमबीबीएस में दाखिला हो सकेगा।

कुछ विद्यार्थियों के मन में ऐसा रह सकता है कि यदि उन्होंने बीएससी नर्सिंग का कोर्स किया है तो उन्हें एमबीबीएस में डायरेक्ट ऐडमिशन या फिर किसी तरह की कोई छूट इत्यादि मिलेगी, पर ऐसा होता नहीं है।

आपको NEET से गुजरना ही होगा और उसके बाद ही आप एमबीबीएस कर पाएंगे। आपके किए हुए b.sc course का कोई लाभ नहीं मिलता है।

क्या B.sc Nursing के बाद MBBS करके Doctor बनना सही है?

हमने जान लिया कि BSc nursing के बाद डॉक्टर बनने के लिए विद्यार्थि को एमबीबीएस का कोर्स अनिवार्य रूप से करना ही होता है। पर क्या बीएससी नर्सिंग करने के बाद एमबीबीएस करके डॉक्टर बनना सही रहता है? देखा जाए तो इसका कोई एक उत्तर नहीं है।

हमने ऊपर जाना कि बीएससी नर्सिंग करने के बाद भी विद्यार्थी के पास करियर के कई सारे विकल्प खुलते हैं, लेकिन क्योंकि हम यहां बीएससी नर्सिंग के बाद डॉक्टर बनने के बात पर चर्चा कर रहे हैं इसीलिए इसके लिए तो एमबीबीएस करना ही होगा।

यदि डॉक्टर बनना ही आपका लक्ष्य है, तो आप बीएससी नर्सिंग करने के बाद NEET क्लियर करके एमबीबीएस में दाखिला लेंगे, नीट पास करके एमबीबीएस में एडमिशन के बाद आपको कम से कम साढ़े 4 साल का वक्त लगेगा अपने एमबीबीएस को पूरा करने में।

यानी b.sc के बाद साढ़े 4 साल का समय, और वह भी तब जब आप पहली बार में ही NEET clear कर लेते हैं, यदि पहली बार में NEET क्लियर नहीं हुआ तो आपका एमबीबीएस में दाखिला नहीं होगा और इस तरह आपके एमबीबीएस पूरे करने की अवधि बढ़ती चली जाएगी।

यदि आपके पास इतना समय और उसके साथ-साथ एमबीबीएस की फीस आदि है, तो आप प्रयत्न कर सकते हैं।

फिर यह भी है कि यदि आपका लक्ष्य ही डॉक्टर बनना है, तब तो आप इसे करेंगे ही। पर यदि शुरुआत से ही लक्ष्य डॉक्टर बनना हो तो आप बीएससी नर्सिंग करना ही नहीं चाहिए, डॉक्टर बनने के लिए जो प्रक्रिया है यानी एमबीबीएस में दाखिला आदि आपको शुरुआत से ही उस पर ध्यान केंद्रित करना चाहिए।

Leave a Comment

Your email address will not be published.