MPPSC में कितने सब्जेक्ट होते हैं? | How many subjects in MPPSC

इस आर्टिकल में हम बात करेंगे कि MPPSC में कितने सब्जेक्ट होते हैं? MPPSC की परीक्षा में कितने सब्जेक्ट होते हैं? 

हर राज्य की अपनी पब्लिक सर्विस कमिशन यानी PSC होती है, जो उस राज्य में अलग-अलग उच्च सरकारी पदों पर नियुक्ति के लिए परीक्षा लेती है। 

आपने इनमें UPPSC, JPSC, BPSC के बारे में जरूर सुना होगा। यहां हम MPPSC की बात कर रहे हैं। 

मध्य प्रदेश में वहां के पब्लिक सर्विस कमीशन के अंतर्गत आने वाले पदों पर नियुक्ति के लिए एमपीपीएससी परीक्षा लेता है। 

मध्य प्रदेश और दूसरे राज्यों के भी बहुत से विद्यार्थी एमपीपीएससी की परीक्षा की तैयारी करते हैं। 

MPPSC में कितने सब्जेक्ट होते हैं?

MPPSC की परीक्षा की तैयारी शुरू करने की सोचने वाले विद्यार्थियों के मन में यह एक सवाल जरुर आता है कि MPPSC में कितने सब्जेक्ट होते हैं? 

यहां हम इसी के बारे में विस्तार से बात करेंगे। 

यहां हम एमपीपीएससी की परीक्षा और इसके subjects के बारे में विस्तार से जानकारी प्राप्त करेंगे, इसलिए हमारे इस लेख को अंत तक जरूर पढ़ें।

MPPSC में कितने सब्जेक्ट होते हैं?

MPPSC prelims में दो paper होते हैं, GS 1 और GAT. और Mains में 4 GS papers और 2 हिंदी के papers रहते हैं। 

GS Paper 1 में 

  • सामान्य विज्ञान एवं पर्यावरण, 
  • राष्ट्रीय एवं अन्तर्राष्ट्रीय महत्व की वर्तमान घटनाएँ, 
  • इतिहास, 
  • भूगोल, 
  • राजनीति, 
  • अर्थव्यवस्था, 
  • खेलकूद, 
  • मध्यप्रदेश का भूगोल, 
  • इतिहास तथा संस्कृति, 
  • मध्यप्रदेश की राजनीति एवं अर्थव्यवस्था, 
  • सूचना एवं संचार प्रौद्योगिकी 
  • आदि 

विषय या कहें topics रहते हैं। 

और GAT में 

  • बोधगम्यता, 
  • संचार कौशल सहित अंतर वैयक्तिक कौशल, 
  • तार्किक कौशल एवं विश्लेषणत्मक क्षमता,
  • निर्णय लेना एवं समस्या समाधान, 
  • सामान्य मानसिक योग्यता जैसे topics से प्रश्न रहते हैं। 

इसके बाद MPPSC mains में कुल 6 papers होते हैं जिसमें 4 GS के papers – 

  • GS paper 1, 
  • GS paper 2, 
  • GS paper 3 और 
  • GS paper 4 
  • Hindi
  • Hindi essay

और 2 हिन्दी के essay/descriptive type पेपर होते हैं। 

इन अलग-अलग GS papers में अलग-अलग विषयों के प्रश्न रहते हैं जिसके बारे में हम आगे विस्तार से बात करेंगे। 

असल में MPPSC की परीक्षा के विषयों की विस्तार से जानकारी के लिए हमें MPPSC परीक्षा के बारे में विस्तार से जानना होगा। 

एमपीपीएससी की परीक्षा दूसरे पब्लिक सर्विस कमिशन की परीक्षाओं की तरह तीन चरणों में आयोजित होती है। Prelims, Mains और  interview. 

जैसा कि हम ऊपर बता ही चुके हैं कि prelims में दो पेपर, और उसे क्वालीफाई करने के बाद mains में बैठ सकते हैं जिसमें कुल 6 पेपर की परीक्षा देनी होती है। 

तो इस तरह से लिखित परीक्षा में कुल 8 papers देने होते हैं।  

Mains क्वालीफाई करने के बाद इंटरव्यू लिया जाता है, जिसमें उम्मीदवार से चयन करने वाले बोर्ड के मेंबर बैठकर साक्षात्कार करते हैं। 

Interview का को निर्धारित विषय और सिलेबस नहीं होता है, इसमें उम्मीदवार से एमपीपीएससी के पूरे सिलेबस और किसी भी विषय से प्रश्न पूछे जा सकते हैं। 

चूंकि हम यहां mppsc की परीक्षा में आने वाले विषयों की बात कर रहे हैं, इसीलिए हम एक-एक करके एमपीपीएससी prelims और फिर mains के विषयों के बारे में विस्तार से बात कर लेते हैं।  

इन्हें भी पढ़ें

MPPSC prelims में कितने subject होते हैं?

Prelims में 2 पेपर होते हैं, जिसमें से पहला  GS paper 1 रहता है, जिसमें कि वस्तुनिष्ठ प्रकार यानी ऑब्जेक्टिव टाइप क्वेश्चन होते हैं।  

इस पेपर में निम्नलिखित विषयों से प्रश्न रहते हैं –

GS paper 1

  • History of India and Independent India
  • Indian Polity and Economy
  • Sports
  • Geography (of World and Madhya Pradesh)
  • History and Culture of M.P
  • Polity and Economy of M.P
  • Information and Communication Technology
  • General Science and Environment
  • Current Events of National & International Importance
  • Constitution Government 
  • National and Regional Constitutional/Statutory Bodies
  • आदि 

दूसरा पेपर जनरल एप्टीट्यूड टेस्ट (General Aptitude Test – GAT) का होता है। इस पेपर में निम्नलिखित विषयों से प्रश्न आते हैं –

GAT paper

  • Basic numeracy
  • General mental ability
  • Comprehension
  • Logical reasoning and analytical ability
  • Decision making and problem-solving
  • Hindi Language Comprehension Skill (Class X level)
  • Interpersonal skills including communication skills
  • आदि

Prelims qualify करने के बाद उम्मीदवार Mains की परीक्षा में बैठ सकते हैं। 

MPPSC Mains में कितने subject होते हैं?

Mains की परीक्षा के कुल 6 पेपर्स में 4 GS यानी general studies के papers होते हैं और दो हिंदी के papers होते हैं। 

GS के चारों papers के सब्जेक्ट के बारे में अब हम एक-एक करके बात कर लेते हैं।

GS paper 1 

  • History & Culture 
  • World History 
  • Indian History – Moguls and their administration Impact of British Rule on Indian economy and society, 
  • Geography (World and India)
  • Indian Culture and Heritage, 
  • Water Management, 
  • Disaster & its Management
  • Indian Renaissance : Emergence of India as a Republic
  • आदि 

इसमें हिस्ट्री और जोग्राफी में कई units होते हैं जिसमें इन के अलग-अलग टॉपिक्स से प्रश्न रहते हैं। 

GS paper 2

  • The Political and Administrative Structure of Governance
  • Constitution 
  • Security issues: External and Internal
  • Social & Some important Legislation
  • Social Sector – Health, Education & Empowerment
  • Public Services
  • Public Expenditure and Accounts
  • International Organizations
  • Education systems
  • Human resource development
  • Welfare programs
  • आदि 

विषयों/topics से प्रश्न रहते हैं।

 GS paper 3

  • Reasoning and Data Interpretation
  • Indian Economy
  • Science
  • Technology
  • Environment and Sustainable Development
  • Emerging Technologies
  • Energy
  • आदि 

विषयों/topics से प्रश्न रहते हैं।

GS paper 4

  • Case studies
  • Aptitude
  • Emotional intelligence
  • Human needs and motivation
  • Philosophers/Thinkers,Social workers/Reformers
  • Corruption

विषयों/topics से प्रश्न रहते हैं।

Hindi

  • पल्लवन, 
  • सन्धि 
  • समास
  • अनुवाद
  • संक्षेपण
  • प्रयोग, शब्दावली तथा प्रारंभिक व्याकरण
  • अपठित गद्यांश, प्रतिवेदन (प्रशासनिक, विधि, पत्रकारिता, साहित्य व सामाजिक)

Hindi essay 

  • पहला निबंध लगभग 1000 शब्दों में – अंक 50 का 
  • दूसरा निबंध लगभग 250 शब्दों में – अंक 25 का
  • तीसरा निबंध लगभग 250 शब्दों में – अंक 25

MPPSC Interview में कितने subject होते हैं?

इंटरव्यू यानी साक्षात्कार में उम्मीदवार से एमपीपीएससी के पूरे सिलेबस के किसी भी विषय और किसी भी टॉपिक से प्रश्न पूछे जा सकते हैं। 

उम्मीदवारों को इंटरव्यू की तैयारी भी बहुत ही अच्छे से करनी चाहिए क्योंकि देखा जाए तो इसका सिलेबस और भी ज्यादा vast होता है।

Conclusion

ऊपर दिए गए इस आर्टिकल में हमने बात की है कि MPPSC में कितने सब्जेक्ट होते हैं? 

या MPPSC की परीक्षा में कितने सब्जेक्ट से प्रश्न पूछे जाते हैं? आशा करते हैं कि यह जानकारी आपके लिए लाभदायक रही होगी। 

मन में किसी तरह का कोई प्रश्न बाद ही रह जाने पर आप हमें नीचे कमेंट सेक्शन में पूछ सकते हैं।

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *