पीएम (PM) की सैलरी कितनी होती है? | How much is the salary of PM

इस आर्टिकल में हम बात करेंगे कि पीएम की सैलेरी कितनी होती है? भारत में प्रधानमंत्री की सैलरी कितनी होती है? 

दोस्तों हम अक्सर देश की सबसे ज्यादा सैलरी वाली नौकरियों की बात करते हैं, तो इसमें CA या किसी बड़ी कंपनी में किसी बड़ी पोस्ट की नौकरी का नाम आता है। 

बेशक सरकारी नौकरियों में भी अच्छी खासी सैलरी होती है। 

जहां सरकार के अंतर्गत अलग-अलग पोस्ट पर काम करने वाले कर्मचारियों की सैलरी अलग-अलग होती है, वहीं एक सवाल यह भी आता है कि सरकार चलाने वाले यानी हमारे leader, भारत के प्रधानमंत्री की सैलरी कितनी होती है? 

PM की सैलरी कितनी होती है? यह सवाल बहुत से लोगों के मन में रहता है।

इसीलिए इस आर्टिकल में हम इसी के बारे में बात करेंगे।

PM की सैलरी कितनी होती है?

जानेंगे PM की सैलरी कितनी होती है? 

और हमारे भारत के पीएम के साथ-साथ हम कुछ दूसरे मुख्य देशों के प्राइम मिनिस्टर की सैलरी के बारे में भी बात करेंगे, और देखेंगे कि भारत के प्रधानमंत्री और अन्य देशों के प्रधानमंत्री की सैलरी में कितना अंतर होता है।

PM की सैलरी कितनी होती है?

भारत के प्रधानमंत्री की in hand salary (30% tax काटकर) ₹1,60,000 है। PM की बेसिक सैलरी 50,000 रुपए, निर्वाचन क्षेत्र भत्ता 45,000 रुपए, रोज़ का भत्ता 2000 रुपए यानि 1 महीने का 62,000 रुपए और व्‍यय भत्ता 3000 रुपए है। 

इस तरह कुल मिलाकर हमारे माननीय PM श्री नरेन्द्र मोदी जी को 1.6 लाख रुपए प्रति महीने की सैलरी मिलती है। 

अब जिन्हें इस बारे में ज्यादा नहीं पता है कि देश के प्रधानमंत्री या दूसरे बड़े नेता महीने का कितना कमाते हैं, तो उनके लिए प्रधानमंत्री की यह सैलरी काफी अच्छी ही है। 

लेकिन जिन लोगों को पता होता है कि दूसरे देशों के प्रधानमंत्री या लीडर या फिर अपने देश में भी एक अच्छा नेता महिने का कितना कमाता है वे बता सकते हैं कि हमारे भारत के पीएम की यह सैलरी बहुत ज्यादा नहीं है। 

आज के समय में भारत विश्व की पांचवीं सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था है। 

पर इतने महत्वपूर्ण देश भारत, के प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की सैलरी दुनिया के अन्य राष्ट्र अध्यक्षों की तुलना में काफी कम है। 

उदाहरण के लिए बताएं तो, मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक AAP के कई विधायकों की सैलरी 2.35 लाख है, जो कि PM की salary से काफी ज्यादा ही है। 

आज के समय में भारत के हर व्यक्ति को पता है कि हमारे प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी हैं, ये 2014 से ही हमारे PM हैं। 

इनकी सैलरी के बारे में थोड़ा बात करें तो PM Office के मुताबिक़, हमारे PM नरेंद्र मोदी ज़्यादातर अपनी सैलरी दान ही कर देते हैं। 

इंडिया के PM से पहले, जब गुजरात के CM भी थे तब भी वे अपनी सैलरी दान करते थे। 

गुजरात CM का पद छोड़ते वक्त उन्होंने 21 लाख रुपये गुजरात में बेटियों के नाम कर दिया था। 

PM की 30% salary काटी जाती है

हमने ऊपर कहा कि प्रधानमंत्री को इन हैंड सैलेरी ₹160000 मिलती है। 

असल में पीएम की सैलेरी ₹200000 प्रति महीने होती है। 

पर साल 2020 में सूचना और प्रसारण मंत्री प्रकाश जावड़ेकर ने जानकारी दी थी कि राष्ट्रपति, उपराष्ट्रपति, प्रधानमंत्री, राज्यपालों और सांसदों सभी के वेतन में से 30% कटौती करने की बात को कैबिनेट से मंजूरी दे दी गई है। 

यानी अब राष्ट्रपति हो या प्रधानमंत्री, उनकी सैलरी का 30% हिस्सा कट जाता है। 

उस समय केंद्रीय मंत्री प्रकाश जावड़ेकर ने बताया था कि, कोरोना से लड़ने के लिए राष्ट्रपति, उपराष्ट्रपति, राज्यपालों ने स्वेच्छा से वेतन कटौती का यह फैसला किया था।

PM को मिलने वाली अन्य सुविधाएं और भत्ते

दोस्तों प्रधानमंत्री का आप देश का सबसे प्रमुख व्यक्ति कह सकते हैं। इसीलिए सरकार के प्रमुख को सैलरी के साथ-साथ जितनी भी सुविधाएं चाहिए होती हैं, वे सब प्रदान की जाती हैं। 

Salary के अलावा, हमारे pm व्यक्तिगत स्टाफ, विशेष जेट, सरकारी निवास, और संसद सदस्य के रूप में भत्ते आदि समेत और भी बहुत कुछ प्राप्त करते हैं। 

भारत के जितने भी पूर्व प्रधानमंत्री हैं, उन्हें pension प्रदान किया जाता है। 

  • उन्हें जीवन भर के लिए किराया-मुक्त आवास मिलता है। 
  • ईलाज की सभी सुविधाएं
  • 14 सचिवीय कर्मचारी
  • वास्तविक व्यय के साथ-साथ कार्यालय व्यय
  • 6 executive class flight tickets 
  • etc.
  • पहले 5 सालों के लिए मुफ्त ट्रेन यात्रा
  • 1 साल के लिए SPG cover 
  • Retirement के 5 साल के बाद : 1 निजी सहायक और चपरासी, मुफ्त हवाई और रेल टिकट और office खर्च के लिए 6,000 रुपए 

इन्हें भी पढ़ें

कुछ अन्य मुख्य देशों के PMs और उनकी salary

यहां हम दूसरे कुछ देशों के प्रधानमंत्रियों की सैलरी को देखेंगे। 

जिससे हमें एक बेहतर आइडिया मिलेगा कि भारत के प्रधानमंत्री की सालाना सैलरी अन्य देशों के प्रधानमंत्रियों की सैलरी की तुलना में कितनी कम है। 

हालांकि इस संबंध में एक बहुत जरूरी बात यह है कि जिस तरह भारत में सबसे प्रमुख प्रधानमंत्री होता है, उस तरह हर देश में प्रधानमंत्री ही मुख्य नहीं होता। 

अमेरिका और चीन जैसे देश में राष्ट्रपति प्रमुख होता है। तो ऐसे तो भारत के प्रधानमंत्री के सैलरी की तुलना उनसे की जानी चाहिए। 

पर समझने में आसानी के लिए हम यहां बाकी देशों के प्रधानमंत्री की सैलरी के बारे में ही बात करते हैं। हालांकि ये जो सारे देशों के प्रधानमंत्री हैं, वे अपने-अपने देश में सबसे प्रमुख ही होते हैं। 

  • Édouard Philippe – Prime Minister of France, Annual salary (US dollars में) : $220,505
  • Katrín Jakobsdóttir – Prime Minister of Iceland, Annual salary : $242,619
  • Stefan Löfven – Prime Minister of Sweden, Annual salary : $244,615
  • Lars Løkke Rasmussen – Prime Minister of Denmark, Annual salary : $249,774
  • Adrian Hasler – Prime Minister of the Principality of Liechtenstein, Annual salary : $254,660
  • Charles Michel – Prime Minister of Belgium, Annual salary : $262,964
  • Justin Trudeau – Prime Minister of Canada, Annual salary : $267,041
  • Xavier Bettel – Prime Minister of Luxembourg, Annual salary : $278,035
  • Jacinda Ardern – Prime Minister of New Zealand, Annual salary : $339,862
  • Scott Morrison – Prime Minister of Australia, Annual salary : $378,415
  • Lee Hsien Loong – Prime Minister of Singapore, Annual salary : $1,610,000

इनकी तुलना में भारत के प्रधानमंत्री की सालाना सैलरी को डॉलर्स में देखें तो यह $ 23,268.50 के करीब बनती है जोकि अन्य प्रधानमंत्रियों की सैलरी की तुलना में देखें तो काफी ज्यादा कम है। 

Salary भले ही कम हो लेकिन प्रधानमंत्री देश के लीडर होते हैं, और भारत जैसे महत्वपूर्ण देश के लीडर की और भी ज्यादा अहमियत है। 

आज दुनिया भर के सबसे पॉपुलर पॉलीटिशियंस में भारत के पीएम प्रधानमंत्री का नाम top स्थानों में आता है। 

Conclusion

इस आर्टिकल में हम जानेंगे कि पीएम की सैलेरी कितनी होती है? 

यहां हमने भारत के प्रधानमंत्री की सैलरी और उन्हें मिलने वाले अन्य भक्तों के बारे में भी जाना है। 

उम्मीद करते हैं कि लेख आपके लिए informative रहा होगा। 

इससे संबंधित कोई प्रश्न आदि हो तो आप हमें नीचे कमेंट सेक्शन में पूछ सकते हैं।

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *