रेलवे ग्रुप डी में पास होने के लिए कितने नंबर चाहिए? | Passing marks for Railway Group D

दोस्तों इस आर्टिकल में हम बात करेंगे कि रेलवे ग्रुप डी में पास होने के लिए कितने नंबर चाहिए?

ग्रुप डी की नौकरी पाने के लिए लिखित परीक्षा में कितने नंबर आने चाहिए? दोस्तों एक सरकारी नौकरी लेकर सेटल हो जाना बहुत से विद्यार्थियों का सपना होता है।

और सरकारी नौकरी में रेलवे का नाम कुछ सबसे पहले नामों में आता है।

रेलवे कई अलग-अलग पदों पर भर्ती के लिए कुछ अलग-अलग परीक्षाएं लेता है, और इसमें से रेलवे ग्रुप डी (Railway group D) एक लोकप्रिय नाम है।

रेलवे द्वारा समय-समय पर ग्रुप डी की परीक्षाएं ली जाती है, जिसमें बहुत बड़ी संख्या में विद्यार्थी बैठते हैं।

जो विद्यार्थी रेलवे ग्रुप डी की नौकरी लेना चाहते हैं उनके मन में एक सवाल निश्चय ही आता है कि आखिर रेलवे ग्रुप डी में पास होने के लिए कितने नंबर चाहिए?

रेलवे ग्रुप डी में पास होने के लिए कितने नंबर चाहिए?

कितने अंक लाने पर ग्रुप डी की परीक्षा पास कर सकते हैं?

यहां इस लेख में हम मुख्य तौर पर इसी की बात करेंगे, जानेंगे कि रेलवे ग्रुप डी की परीक्षा पास करने के लिए कितने अंक लाने जरूरी होते हैं?

Railway group D क्या है ? 

पहले थोड़ा सा railway group D के बारे में बात करते हैं। Railway Group D रेलवे के non gazetted posts में आता है।

रेलवे में यह सबसे lower category मानी जाती है। इनमें भर्ती रेलवे रिक्रूटमेंट बोर्ड के जरिए की जाती है।

इसके तहत Trackman, Assistant pointsman, Gunman, Cabinman, Helper, Peon, Hospital attendant, Gateman, Porter, Tracker आदि के posts पर नियुक्ति की जाती है।

Group D के लिए minimum qualification 10वीं पास होती है। हालांकि कुछ पोस्ट के लिए ITI भी मांगी जाती है।

Group D के पदों पर नौकरी पाने के लिए उम्मीदवार को आरआरबी द्वारा आयोजित प्रतियोगी परीक्षा अपने वर्ग के हिसाब से अच्छे अंकों के साथ पास करना जरूरी होता है।

Railway group D में पास होने के लिए कितने नंबर चाहिए?

रेलवे ग्रुप डी में पास होने के लिए कितने नंबर चाहिए, इससे ज्यादा सही प्रश्न यह रहेगा कि रेलवे ग्रुप डी की परीक्षा में cut off marks कितना होता है।

Cut off marks का मतलब होता है कि उम्मीदवारों को लिखित परीक्षा पास करके आगे बढ़ने के लिए इस cut off से ज्यादा अंक लाने होते हैं।

रेलवे ग्रुप डी एक प्रतियोगी परीक्षा होती है, और इसमें पास होने से ज्यादा यह मायने रखता है कि आपने कुल अंक में से कितने अंक प्राप्त किए हैं।

आप जितने ज्यादा अंक लाएंगे, आपकी नौकरी लगने की उतनी ही ज्यादा संभावना होगी।

ग्रुप डी की परीक्षा में अलग-अलग वर्गों के विद्यार्थी यानी जनरल, ओबीसी, एससी/एसटी बैठते हैं, और अलग-अलग वर्गों के candidates के लिए अलग cut off marks निर्धारित  होते हैं।

निर्धारित होते हैं, का मतलब है कि हर बार ये cut off marks same नहीं होते हैं।

अलग-अलग वर्गों के विद्यार्थियों ने group D की परीक्षा में कैसा परफॉर्म किया है, उसी आधार पर कट ऑफ मार्क्स बनाए जाते हैं।

और हर बार cut off marks अलग जाता है।

General category के उम्मीदवारों के लिए कटऑफ सबसे ज्यादा जाता है यानी सामान्य वर्ग के विद्यार्थियों को group D की परीक्षा पास करने के लिए सबसे ज्यादा नंबर लाने होते हैं।

उसके बाद OBC वर्ग के विद्यार्थी आते हैं।

और SC/ST वर्ग के विद्यार्थियों का कटऑफ कम जाता है, यानी SC/ST होने पर आप general और OBC category के उम्मीदवारों से कम अंक लाने पर भी group D में select किए जा सकते हैं।

PwD (नेत्रहीन, बधीर आदि), पूर्व सैनिक, CCAA candidates के लिए cut off और भी कम जाता है।

इन्हें group D पास करने के लिए और भी कम अंक लाने होते हैं।

Railway group D 2022 का अनुमानित cut off

तो रेलवे ग्रुप डी की परीक्षा पास करने के लिए उम्मीदवार को कितने अंक लाने होंगे यह निर्भर करता है कि उम्मीदवार किस वर्ग (category) का है, और उस वर्ग के लिए ग्रुप डी का कट ऑफ कितना गया है।

वर्तमान की बात करें तो इस साल 2022 में ग्रुप डी की परीक्षा होनी है, हालांकि इसके लिए आवेदन काफी पहले ही किए जा चुके हैं।

विद्यार्थी जो ग्रुप डी में नौकरी लेना चाहते हैं, वे अच्छे से ग्रुप डी की लिखित परीक्षा की तैयारी कर रहे हैं।

रेलवे ग्रुप डी कट ऑफ स्कोर (railway group D cut off score) लिखित परीक्षा संपन्न होने के बाद जारी की जाती है।

हालांकि पिछली परीक्षाएं आदि को देखते हुए एक अनुमानित cut off marks बताया जा सकता है।

लेकिन असल cut off तो परीक्षा होने के बाद ही पता चलता है, और यह अनुमानित cut off से अलग हो सकता है।

CBT (computer based test) में उम्मीदवार के द्वारा प्राप्त अंकों को अंतिम merit list तैयार करने में गिना जाता है।

इसलिए candidates को negative marking को ध्यान में रखकर ज्यादा से ज्यादा marks लाने का प्रयास करना चाहिए।

CBT में उम्मीदवारों की योग्यता के आधार पर ही उन्हें अधिसूचित posts की कुल vacancies के हिसाब से अगले चरण के लिए बुलाया जाता है।

अब हम RRB ग्रुप D कट ऑफ 2022 (जो अनुमानित है) के बारे में जान लेते हैं।

इससे एक idea लेकर candidates RRB ग्रुप D कट ऑफ को समझ कर उस हिसाब से अपने परीक्षा की तैयारी कर सकते हैं।

  • Unreserved/General Category) – 81.53  marks
  • SC Category – 72.76  marks
  • ST Category  –  63.66  marks
  • OBC Category  –  78.45  marks
  • पूर्व सैनिक  – 31.51 marks
  • CCAA  –  31.34  marks
  • PwD (नेत्रहीन)  –  42.47 marks
  • PwD (बधिर)  –     47.87 marks
  • PwD (LD)  –  55.68  marks
  • PwD (MD) –  32.01 marks

ये अनुमानित कटऑफ है यानी कि 2022 ग्रुप डी की परीक्षा में इन अलग-अलग वर्गों के विद्यार्थियों को इतने अंक लाने पड़ सकते हैं।

हालांकि असल cut off परीक्षा के बाद जारी की जाएगी। और वह cut off निर्भर करेगा के अलग-अलग वर्गों के विद्यार्थियों ने परीक्षा में कैसा परफॉर्म किया है।

RRB Group D Minimum Qualifying marks

उम्मीदवारों को यह भी पता होना चाहिए कि RRB Group D Cut off के अलावा आरआरबी द्वारा तय न्यूनतम क्वालीफाइंग मार्क्स प्राप्त करना भी अनिवार्य होता है।

हालांकि मुख्य, cut off marks ही होता है। उसी के आधार पर आपका selection होता है।

  • SC –    30%
  • ST –    30%
  • OBC (नॉन क्रीमी लेयर) – 30%
  • Unreserved –    40%
  • EWS –    40%

यह मायने नहीं रखता है, आपको cut off पार करना होता है।

आप अपने cut off से जितने ज्यादा अंक लाएंगे, आपको उतना ही ज्यादा फ़ायदा होगा।

Conclusion

ऊपर दिए गए इस आर्टिकल में हमने बात की है कि रेलवे ग्रुप डी में पास होने के लिए कितने नंबर चाहिए?

ग्रुप डी रेलवे की एक लोकप्रिय परीक्षा है, जिसके लिए बहुत बड़ी संख्या में विद्यार्थी तैयारी करते हैं।

विद्यार्थियों के मन में अक्सर यह सवाल रहता है कि ग्रुप डी में पास होने के लिए उन्हें कितने नंबर लाने होंगे?

यह cut off होता है जो हर बार अलग-अलग बनता है। यहां हमने आने वाले 2022 group D exam के अनुमानित कटऑफ score की बात की है।

Leave a Comment

Your email address will not be published.