Driving Licence की फीस कितनी है? | How much is the fees for Driving Licence

Driving licence की फीस कितनी है? Driving licence बनवाने के लिए कितनी फीस लगती है? ड्राइविंग लाइसेंस बनवाने के लिए कितने पैसे लगते हैं? इस तरह के सवालों के बारे में बहुत सारे लोग सर्च करते हैं।

दोस्तों अलग-अलग प्रकार के वाहन चलाना आज के समय में हमारे जीवन का एक अहम हिस्सा बन चुका है, रोजमर्रा के जीवन में हमें कई कामों के लिए वाहन चलाने की जरूरत पड़ती है, और एक वाहन चलाने के लिए व्यक्ति के पास एक ड्राइविंग लाइसेंस होना जरूरी होता है।

जो लोग नए नए वाहन चलाना सीखते हैं, उन्हें ड्राइविंग लाइसेंस बनवाना पड़ता है, जो कि एक सरकारी कागज की तरह है जिसका मतलब है आप वह वाहन चलाने के योग्य है और आपको सरकार द्वारा इसकी इजाजत है।

जो लोग नए ड्राइविंग लाइसेंस बनवाते हैं, उन्हें पता होना चाहिए कि ड्राइविंग लाइसेंस की फीस कितनी होती है।

आज यहां इस लेख में हम मुख्यतः इसी की बात करेंगे कि ड्राइविंग लाइसेंस बनवाने में कितना खर्च आता है?, साथ ही यह भी जानेंगे कि ड्राइविंग लाइसेंस कैसे बना सकते हैं?, इसके लिए क्या लगता है?, और इससे संबंधित दूसरी जरूरी चीजों को भी जानेंगे।

Driving Licence की फीस कितनी है?

Driving Licence बनवाने की फीस

लाइसेंस बनाने की फीस की बात करो करें तो अलग-अलग राज्यों के लिए यह अलग अलग हो सकती है, पर फीस में बहुत ज्यादा अंतर भी नहीं होता है।

असल में ड्राइविंग लाइसेंस भी कई तरह के बनते हैं। जैसे कि learning licence, permanent licence, lite motor vehicle licence, heavy motor vehicle licence, international licence आदि।

शुरुआत में आपको लर्निंग लाइसेंस बनवाना पड़ता है, जोकि स्कूटी और बाइक के लिए बनता है, उसके बाद आप कार और दूसरे बड़े वाहनों के लिए लाइसेंस बनवा सकते हैं।

डीएल के लिए औसतन फीस की बात करें तो

  • लर्निंग लाइसेंस के लिए फीस 150 रूपए।
  • लाइसेंस परीक्षण शुल्क या पुनरावृति परीक्षण शुल्क 50 रुपए।
  • परीक्षण के लिए, या दोहराए जाने वाले परीक्षण के लिए (वाहन के प्रत्येक वर्ग के लिए) शुल्क 300 रुपए।
  • driving licence जारी करने के लिए 200 रुपए, कमर्शियल ड्राइविंग लाइसेंस की फीस 200 रुपए।
  • अंतर्राष्ट्रीय ड्राइविंग परमिट जारी करने के लिए 1000 रुपए, driving licence renew करने की फीस 200 रूपए।
  • ड्राइविंग लाइसेंस में पते में बदलाव के लिए किसी आवेदन पर शुल्क 200 रुपए।
  • कंडक्टर लाइसेंस की फीस ड्राइविंग लाइसेंस की फीस की आधी।
  • डुप्लीकेट लाइसेंस जारी करने की फीस 200 रुपए।
  • डुप्लीकेट कंडक्टर लाइसेंस के लिए भी फीस डीएल शुल्क का आधा लगता है।

ज्यादातर Driving License की अवधि 20 साल तक की होती है उसके बाद आपको रिन्यू कराना पड़ता है।

हमने ऊपर भी कहा कि ड्राइविंग लाइसेंस बनवाने की फीस या इसके अलावा जो अन्य फीस लगती है, वह अलग-अलग राज्यों में अलग-अलग हो सकती है, हालांकि उनमें बहुत ज्यादा अंतर नहीं होता, on average शुल्क लगभग एक समान ही रहते हैं।

Driving Licence के लिए पात्रता और जरूरी दस्तावेज

ड्राइविंग लाइसेंस बनाने के लिए अब सड़क परिवहन और राजमार्ग मंत्रालय द्वारा ऑनलाइन वेबसाइट शुरू कर दी गयी है, डीएल बनाने के लिए अब आपको कहीं भी जाने की जरूरत नहीं है, आप घर बैठे ही आवेदन कर सकते हैं।

ड्राइविंग लाइसेंस Online बनाने के लिए कुछ दस्तावेजों की आवश्यकता होती हैं।

  • इनमें आधार कार्ड
  • निवास प्रमाण पत्र
  • पते का सबूत ( राशन कार्ड, पेन कार्ड, बिजली का बिल )
  • जन्म तिथि का प्रमाण पत्र ( आप अपने जन्म तिथि प्रमाण पत्र के लिए 10th की मार्कशीट, जन्म प्रमाण पत्र, पहचान पत्र दे सकते है ),
  • पासपोर्ट साइज फोटो, हस्ताक्षर, लर्निंग लाइसेंस नंबर और मोबाइल नंबर आदि लगते हैं।

आवेदन के लिए उम्मीदवार को ड्राइविंग लाइसेंस के लिए निर्धारित की गई पात्रताओं को भी पूरा करना होता है।

इन पात्रताओं में उम्मीदवार भारत का स्थायी नागरिक होना चाहिए, मानसिक रूप से स्वस्थ होना चाहिए, बिना गियर वाले वाहन चालक के लिए 16 वर्ष के उम्मीदवार आवेदन करने के पात्र होते हैं, इसके लिए परिवार की रजामंदी होनी आवश्यक है, आवेदनकर्ता को ट्रेफिक के सभी नियमो के बारे में पता होना चाहिए, गियर वाले वाहन के लिए आवेदनकर्ता की आयु 18 वर्ष या इससे ऊपर होनी चाहिए।

Learning Licence और फिर Driving Licence कैसे बनाएं?

ड्राइविंग लाइसेंस प्राप्त करने से पहले आपके पास लर्निंग लाइसेंस होना जरुरी है। यदि आप गाड़ी चलाने का प्रयास बाहर कर रहे है तो आपको लर्निंग लाइसेंस के लिए अप्लाई करना होगा।

अप्लाई करने की प्रक्रिया में सबसे पहले उम्मीदवार

  • सड़क परिवहन विभाग मंत्रालय की आधिकारिक वेबसाइट पर जाएँ
  • वेबसाइट के होम पेज पर अपने राज्य का चयन करें
  • फिर नया पेज खूलने पर आपको new learner License पर क्लिक करें, फिर आपको लाइसेंस बनाने के लिए बताएं गए कुछ निर्देश फॉलो करने होंगे।
  • नए पेज पर continue पर क्लिक करने के बाद आपकी स्क्रीन पर आवेदन फॉर्म आ जायेगा।
  • आवेदन फॉर्म को आप अपने अनुसार सही सही भरेंगे
  • इसके बाद आपको सभी important documents upload करने होंगे
  • अब आप LL Test Slot Online पर क्लिक करेंगे और फिर सब्मिट के बटन पर क्लिक कर दें।

इसके बाद आपको RTO office जाना होगा, वहां आपको अपना टेस्ट देना होगा। अगर आप टेस्ट में पास हो जाते है तो आपको Learning License दे दिया जाता है।

लर्निंग लाइसेंस कुछ महीनों के लिए वैध होता है। इसी दौरान आपको गाड़ी चलाना सीखना होता है।

लर्निंग लाइसेंस की समय सीमा खत्म होने से पहले आपको लाइसेंस के लिए फिर से अप्लाई करना होता है।

  • इसके लिए उम्मीदवार सड़क परिवहन और राजमार्ग मंत्रालय की ऑफिसियल वेबसाइट पर जाएँ।
  • State select करें
  • Apply online पर क्लिक करके
  • New driving licence पर क्लिक करें
  • अगले पेज में ड्राइविंग लाइसेंस के लिए स्टेज दिए हुए होंगे आप continue पर क्लिक करें
  • फिर अपना लर्नर लाइसेंस नंबर और जन्मतिथि को भरके ok पर क्लिक करें,उसके बाद आपकी स्क्रीन पर आवेदन फॉर्म आ जायेगा।

आपको फॉर्म में सारी जानकारी भरनी होगी और मांगे गए सारे दस्तावेज अपलोड करने होंगे फिर next करें।

अब आपको डीएल के अपॉइंटमेंट के लिए समय का चयन करना होगा। समय और दिन के चयन करने के बाद आपको उसी समय उसी दिन पर आरटीओ ऑफिस में प्रस्तुत होना होगा।

इसके बाद आपको ऑनलाइन फीस का भुगतान करना होगा। प्रोसेस पूरा करने के बाद आपको सब्मिट के बटन पर क्लिक कर दें।

दिए हुए समय के अनुसार कर्मचारियों द्वारा आपका टेस्ट लिया जायेगा। इस test में पास होने के बाद आपका ड्राइविंग लाइसेंस आपको भेज दिया जायेगा।

Driving licence कब बनवाना चाहिए?

इसका सीधा जवाब तो यही होगा कि जैसे ही आप driving सीखते हैं, आपको अपना ड्राइविंग लाइसेंस बनवा लेना चाहिए। 

बता दें कि 1988 के Motor Vehicle Act के तहत कोई भी व्यक्ति बिना ड्राइविंग लाइसेंस के वाहन का प्रयोग नहीं कर सकता है। 

यहां ध्यान देने वाली बात यह है कि ड्राइविंग लाइसेंस से पहले आपके पास लर्निंग ड्राइविंग लाइसेंस होना जरुरी है, और इसके लिए भी आपको वाहन चलाना आना चाहिए। 

जैसे ही आप वाहन चलाना सीख जाते हैं तुरंत ड्राइविंग टेस्ट देकर अपना लाइसेंस बनवा लें। 

बिना लाइसेंस के वाहन चलाना गलत भी है और सुरक्षा के दृष्टिकोण से भी सही नहीं है। 

Conclusion

ऊपर इस आर्टिकल में हमने driving licence बनवाने की fees के बारे में बात की है।

यहां हमने driving licence बनवाने की fees से संबंधित हर जरूरी बात बताने का प्रयास किया है। 

हम उम्मीद करते हैं कि यह जानकारी आपके लिए फायदेमंद रहेगी। 

यदि आपके मन में कोई प्रश्न रह गया हो तो हमें नीचे कमेंट सेक्शन में पूछ सकते हैं। 

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *