सैनिक स्कूल की फीस कितनी है 2023? | Sainik school ki fees kitni hai

जिन विद्यार्थियों का सैनिक स्कूल में दाखिला हो जाता है या वे भी जो सैनिक स्कूल में दाखिला चाहते हैं उनके मन में एक कॉमन सवाल आता है कि सैनिक स्कूल की फीस कितनी है?

दोस्तों इस बात में तो कोई भी दो राय नहीं है कि शिक्षा हर किसी के जीवन का महत्वपूर्ण हिस्सा होना चाहिए और विद्यार्थी जितने अच्छे संस्थान से शिक्षा प्राप्त करें उतना ही अच्छा है।

शिक्षा के मामले में सबसे अच्छे संस्थानों में सैनिक स्कूल का भी नाम आता है।

बहुत से अभ्यार्थी और बहुत से अभ्यर्थीयों के अभिभावक भी चाहते हैं कि उनके बच्चे सैनिक स्कूल से पढ़ाई करें।

पर हर छात्र इस में दाखिला नहीं ले पाता क्योंकि इसके लिए राष्ट्रीय स्तर की प्रवेश परीक्षा से गुजरना होता है। 

सैनिक स्कूल की फीस कितनी है?

या सैनिक स्कूल से पढ़ने में कितना खर्च आता है? और यहां इस आर्टिकल में हम मुख्यत: इसी के बारे में बात करेंगे जानेंगे कि सैनिक स्कूल से पढ़ने की फीस कितनी लगती है?

क्या हर विद्यार्थी को समान फीस ही लगती है या वर्ग के अनुसार इसमें छूट का भी प्रावधान है? आदि। Fees के साथ-साथ इससे जुड़ी दूसरी कुछ जरूरी बातों को भी जानेंगे।

सैनिक स्कूल में फीस कितनी लगती है 2023

शीर्ष सैनिक स्कूलों की सालाना फीस 1,35,000-1,40,000 के लगभग रहती है। एक औसतन बात करें तो सैनिक स्कूलों की फीस 50,000 से लेकर 1,00,000 रुपए सालाना तक रहती है। Fees school की popularity और उसकी शिक्षा व्यवस्था के हिसाब से ली जाती है। 

जाहिर है Top सैनिक schools की fees ज्यादा होगी, और जो थोड़े कम popular या कहें थोड़े कम सुविधाएं वाlले सैनिक स्कूल होते हैं उनकी फीस पहले की तुलना में कम होती है। 

कई बार विद्यार्थियों के मन में यह सवाल भी आ सकता है कि क्या सैनिक स्कूल से पढ़ना फ्री होता है? क्योंकि जवाहर नवोदय विद्यालय जैसे institution में भी राष्ट्रीय स्तर पर आयोजित परीक्षा देकर दाखिला लिया जाता है और यहां से पढ़ना फ्री है। 

पर सैनिक स्कूल के मामले में ऐसा नहीं है, सैनिक स्कूल प्रतिवर्ष standards, infrastructure facilities, curricular, co-curricular activities और quality के हिसाब से फीस लेते हैं।

अलग-अलग राज्यों के अलग-अलग सैनिक स्कूलों की फीस में थोड़ा-बहुत अंतर देखने को मिल सकता है, लेकिन आमतौर पर सभी सैनिक स्कूलों की फीस लगभग एक समान ही रहता है।

सैनिक स्कूल द्वारा ली जाने वाली फीस में कई सारी चीजें शामिल होती हैं, और उन सभी को मिलाकर 1 साल की कुल फीस बनती है।

आज के समय में भारत के अलग अलग राज्य में 33 सैनिक स्कूल संचालित किए जा रहे हैं।

फीस की बात करें तो उदाहरण के लिए सबसे ज्यादा फीस लेने वाला सैनिक स्कूल आंध्र प्रदेश में स्थित ‘कालीकिरी सैनिक स्कूल’ है, यहां की एक साल की फीस ₹1,39,000 से ज्यादा है।

वही दूसरे नंबर पर कर्नाटक राज्य का बिजापुर सैनिक स्कूल आता है जहां 1 साल की फीस ₹1,34,000 से ज्यादा है।

S.NoDescriptionFor Gen/Def categoryFor sc/st category
1.Tuition Fee87,84687,846
2.Dietary Charges32,45032,450
3.Clothing fee   1,5001,500
4.Pocket Money1,5001,500
5.Incidental charges13,00013,000
6.Incidental charges3,0001,500

ऊपर दिए गए टेबल में सैनिक स्कूल्स के फीस के बारे में विस्तार से जानकारी दी गई है।

सैनिक स्कूल की fees में tuition fee, clothing fee, Dietary charges, incidental charges, pocket money और caution money शामिल होते हैं। इन सबको मिलाकर सैनिक स्कूल की 1 साल की फीस बताई जाती है। इन सभी के बारे में एक एक करके बात कर लेते हैं।

सैनिक स्कूल की ट्यूशन फीस –

सैनिक स्कूल में पढ़ाई के लिए जो सबसे पहली फीस लगती है वह ट्यूशन फीस ही होती है। यानी कि सिर्फ टीचर से पढ़ने के लिए आप जो फीस देते हैं।

यही फीस सबसे ज्यादा होती है। Sainik school में tuition fees 87,846 रुपए है यानी कि लगभग 88 हज़ार। चाहे आप सामान्य वर्ग के विद्यार्थी हो या फिर ओबीसी या एससी/एसटी यह फीस हर किसी के लिए समान है।

सैनिक स्कूल की Dietary charges –

Dietary charges का मतलब होता है आहार शुल्क। यानी कि सैनिक स्कूल में पढ़ने के दौरान आप वही रहेंगे और उस दौरान आपके खाने पीने का जो खर्च होगा उसकी फीस।

सैनिक स्कूल में 1 साल का Dietary charges ₹32,450 है। सभी वर्गों के विद्यार्थियों के लिए यह फीस समान ही रहती है। इस fees में खाने की चीजों के बढ़ते या घटते दाम के साथ अंतर भी हो सकता है।

सैनिक स्कूल की Clothing Fees –

Clothing फीस का मतलब है कि इस स्कूल में पढ़ने के दौरान आपको स्कूल की तरफ से यूनिफॉर्म इत्यादि दिए जाते हैं और उसके लिए आपको फीस देनी होती है।

Clothing fees के तौर पर हर साल विद्यार्थियों से 1,500 रुपए लिए जाते हैं, यह रकम भी हर वर्ग के विद्यार्थी के लिए समान है।

सैनिक स्कूल की Pocket Money –

इसके अलावा सैनिक स्कूल में पढ़ने के दौरान 1 साल की फीस में विद्यार्थी की पॉकेट मनी भी शामिल होती है, pocket money भी अभिभावकों को ही देनी होती है। आमतौर पर विद्यार्थियों को 1,500 रुपए की पॉकेट मनी दी जाती है।

सैनिक स्कूल की Incidental Charges

सैनिक स्कूल में दाखिले के समय अभिभावकों से इंसीडेंटल चार्जेस के रूप में भी फीस जमा कराई जाती है।

Incidental charges का मतलब है कि स्कूल से जब विद्यार्थियों को किसी trip आदि में ले जाया जाता है या फिर इस तरह की ही एक्टिविटीज के लिए इंसीडेंटल चार्जेस जमा करना होता है।

Incidental charges भी सभी वर्ग के विद्यार्थियों के लिए एक समान ही है, सामान्यतः इसकी रकम ₹13000 होती है।

सैनिक स्कूल की Caution Money –

कॉशन मनी को सिक्योरिटी डिपॉजिट के तौर पर समझ सकते हैं। असल में विद्यार्थी के दाखिले के समय स्कूल में कॉशन मनी जमा करनी होती है जो कि बाद में जब विद्यार्थी स्कूल छोड़ता है तो उसे वापस कर दिया जाता है।

सामान्य वर्ग के विद्यार्थियों के लिए ₹3000 कॉशन मनी जबकि एससी एसटी छात्रों के लिए 1,500 रुपए कॉशन मनी के रूप में जमा करने होते हैं।

सैनिक स्कूल की फीस कितनी है?

सैनिक स्कूल की एक साल की फीस ₹1,39,000 से ज्यादा है।

सैनिक स्कूल की ट्यूशन फीस कितनी है?

Sainik school में tuition fees 87,846 रुपए है यानी कि लगभग 88 हज़ार।

सैनिक स्कूल की Clothing Fees

Clothing fees के तौर पर हर साल विद्यार्थियों से 1,500 रुपए लिए जाते हैं, यह रकम भी हर वर्ग के विद्यार्थी के लिए समान है।

Conclusion

ऊपर दिया गया इस आर्टिकल में हमने मुख्य तौर पर सैनिक स्कूल की फीस के बारे में बात की है।

आज के समय में हर कोई अच्छे से अच्छे संस्थान से शिक्षा पाना चाहता है, और सैनिक स्कूल का नाम ऐसे ही अच्छे शिक्षण संस्थानों में आता है। 

इसमें दाखिले के लिए हर साल लाखों छात्र आवेदन करते हैं और उनमें से प्रवेश परीक्षा (All India Sainik schools entrance exam) में अच्छे अंक लाने वाले ही दाखिला ले पाते हैं।

सैनिक स्कूल से पढ़ने की सोचने वाले विद्यार्थियों के लिए इसकी फीस के बारे में सही जानकारी होना जरूरी है जिससे बाद में उन्हें financially किसी तरह की कोई दिक्कत ना हो।

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *