एमए (MA) के बाद क्या करें? | M.A ke baad kya Kare

दोस्तों जो विद्यार्थी आर्ट्स स्ट्रीम से पढ़ाई करते हैं, उनमें से कई विद्यार्थी 12वीं के बाद बीए और फिर बीए के बाद एम ए का कोर्स करते हैं।

जिन विद्यार्थियों की m.a. की पढ़ाई पूरी हो चुकी होती है, उनके सामने एक बहुत बड़ा सवाल रहता है कि अब m.a के बाद क्या करें? 

बी ए करके m.a. में दाखिला लेने वाले विद्यार्थियों के मन में भी यह सवाल रहता है कि वे m.a. के बाद क्या कर सकते हैं?

वर्तमान में बहुत से विद्यार्थी m.a के कोर्स में दाखिला लेते हैं, ऐसे में उनके लिए m.a. के बाद के सारे ऑप्शंस के बारे में जानकारी होना जरूरी है।

चाहे वह m.a. के बाद आगे और पढ़ने के options की बात हो, या फिर m.a. के बाद के नौकरी के options की।

आज इस आर्टिकल में हम यहां मुख्य रूप से m.a. के बाद क्या करें? इसी सवाल के जवाब पर चर्चा करेंगे।

एमए के बाद क्या करें?

यहां हम m.a. के बाद कौन से courses कर सकते हैं, इसकी बात करेंगे।

या फिर यदि m.a. पास विद्यार्थी नौकरी चाहता है, तो हम एमए के बाद उपलब्ध नौकरी के अवसरों के बारे में भी जानेंगे।

M.a के बाद क्या करें?

M.a. के बाद के ऑप्शंस की बात करें तो यदि विद्यार्थी की आगे पढ़ने में रुचि है तो वह आगे और पढ़ कर और अच्छा करियर बनाने की तरफ देख सकता है, या फिर यदि m.a. करने के बाद विद्यार्थी नौकरी की तरफ जाना चाहते हैं तो वे सरकारी और प्राइवेट दोनों ही क्षेत्रों में नौकरी भी प्राप्त कर सकते हैं।

एमए पूरी कर लेने के बाद के विकल्पों के बारे में विस्तार से जानने से पहले थोड़ा सा एमए कोर्स की बात कर लेते हैं।

MA का पुरा नाम मास्टर ऑफ आर्ट्स है, जोकि आर्ट्स स्ट्रीम से ग्रेजुएशन के बाद पोस्ट ग्रेजुएशन की डिग्री है।

जिस सब्जेक्ट में विद्यार्थी बीए करते हैं उस सब्जेक्ट की और विस्तार से पढ़ाई के लिए ma का कोर्स है, यह स्नातकोत्तर की डिग्री है।

M.a. पूरी कर लेने के बाद जो विद्यार्थी आगे पढ़ाई में समय दे सकते हैं, और जिनकी पढ़ने में रुचि भी हो वे ma के बाद दुसरे courses की तरफ जाते हैं जिन्हें करने के बाद वे और अच्छे पद पर नौकरी ले सकते हैं।

जिनकी इच्छा एम ए करने के बाद आगे पढ़ाई ना करके जितनी जल्दी हो सके नौकरी लेने की हो, वे बहुत सी गवर्नमेंट जॉब के लिए अप्लाई कर सकते हैं या फिर उनके लिए प्राइवेट क्षेत्र में भी नौकरी के अवसर होते हैं।

M.a. के बाद कौन-से courses कर सकते हैं?

Higher education हमेशा फायदा ही देता है। यदि आप m.a. करने के बाद आगे और पढ़ाई करना चाहते हैं, तो यह आपके लिए ही अच्छा रहता है क्योंकि आगे और बड़ी और काम की डिग्री लेकर आप आसानी से अच्छे पदों पर नौकरी प्राप्त कर सकते हैं। 

एम ए करने के बाद करने के लिए उपलब्ध courses में निम्नलिखित मुख्य नाम आते हैं –

  • B.Ed (bachelor of education)
  • PhD (doctor of philosophy)
  • M.Phil. (Master of philosophy)              
  • अन्य कुछ courses

इन courses के बारे में एक-एक करके थोड़ा संक्षेप में जान लेते हैं –

B.Ed (bachelor of education)

B.Ed कोर्स का चुनाव मुख्य तौर से टीचर बनने के इच्छुक विद्यार्थी करते हैं।

यदि आप अपने विषय में शिक्षक बनना चाहते हैं, आप को पढ़ाने में इंटरेस्ट है, तो आप m.a. के बाद 2 साल की अवधि वाले इस b.Ed कोर्स को कर सकते हैं। 

हालांकि आप बी ए करने के बाद भी b.Ed में दाखिला ले सकते हैं लेकिन m.a. करने के बाद b.Ed करने से pgt पूरी मानी जाती है।

M.a. के बाद b.Ed करने से उम्मीदवार सरकारी और प्राइवेट दोनों ही स्कूलों में 12वीं तक के विद्यार्थियों को पढ़ा सकता है।

PhD (doctor of philosophy)

जो विद्यार्थी अपने विषय में रिसर्च आदि करना चाहते हैं, वे पीएचडी का कोर्स करते हैं।

पीएचडी के दौरान उम्मीदवार को अपने विषय में थिसिस लिखना और रिसर्च करना होता है। पीएचडी कर के उम्मीदवार कॉलेज या यूनिवर्सिटी के बच्चों को पढ़ा सकते हैं, यानी वे बड़े जानवर सिटीज में प्रोफेसर बन सकते हैं।

यह 3 से 6 साल की अवधि का कोर्स है, depending की आप अपनी थ्योरी और रिसर्च कितनी जल्दी पूरी करते हैं।

M.Phil. (Master of philosophy)         

एम फिल को आप पीएचडी जैसा समझ सकते हैं, लेकिन यह उससे थोड़ी नीचे की डिग्री होती है।

एमफिल में भी विद्यार्थी को अपने चुने हुए सब्जेक्ट में research करना होता है।

यह 2 साल का कोर्स होता है, जिसमे थ्योरी और प्रैक्टिकल दोनों शामिल होते हैं।

एम फिल करने के बाद भी उम्मीदवार किसी संगठन में जुड़कर रिसर्च जैसे काम कर सकता है या फिर बड़े एजुकेशनल इंस्टीट्यूट या कहें बड़े कॉलेजों में ऊंचे क्लास के विद्यार्थियों को पढ़ा सकता है।

अन्य कुछ courses

M.a. करने के बाद विद्यार्थियों के पास अन्य कुछ courses के विकल्प भी रहते हैं।

जैसे कि यदि कोई विद्यार्थी समाज सेवा में जाना चाहता है तो उसके लिए वह BSW यानी बैचलर ऑफ सोशल वर्क का कोर्स कर सकता है।

यह भी 3 साल का कोर्स है,  जिसमें सोशल वर्क के बारे में बताया जाता है।

इसके अलावा m.a. के बाद के लिए उपलब्ध अन्य courses में event management course, Journalism course, fashion designing course, interior Designing course, bachelor of law, master of Business administration और hotel management जैसे कई ऑप्शंस होते हैं। 

M.a. के बाद कौन सी नौकरी ले सकते हैं? 

नौकरी की बात करने पर सबसे पहले सरकारी नौकरी ही दिमाग में आता है। M.a. पूरा कर चुके विद्यार्थियों के पास कई सरकारी नौकरियों के ऑप्शन रहते हैं। वहीं प्राइवेट नौकरीयों में भी, एमए करने के बाद विद्यार्थियों के पास कुछ ऑप्शंस मौजूद होते हैं।

M.a. के बाद गवर्नमेंट जॉब

M.a. पूरी करने के बाद आप पोस्ट ग्रेजुएट विद्यार्थी हो जाते हैं, और लगभग हर major सरकारी नौकरी के लिए आवेदन करने के योग्य रहते हैं।

यदि आप बैंक में सरकारी नौकरी चाहते हैं तो clerk या पी ओ का एग्जाम पास करके बैंक में नौकरी ले सकते हैं। RRB group , RRB NTPC जैसी परीक्षाएं पास करके रेलवे में अलग-अलग पदों पर नौकरी ले सकते हैं।

डिफेंस क्षेत्र में सरकारी नौकरी के लिए एनडीए, सीडीएस आईएफसी, सीएपीएफ आदि एग्जाम की तैयारी कर सकते हैं।

इसके बाद यदि सिविल सर्विसेज में जाना चाहते हैं, तो आप यूपीएससी की परीक्षा में भी बैठ सकते हैं।

General competition की लगभग हर परीक्षा में m.a. पास विद्यार्थी बैठ सकते हैं।

M.a. के बाद प्राइवेट जॉब

प्राइवेट नौकरियों में, वर्तमान में कई ऐसी कंपनियां हैं जो पोस्ट ग्रेजुएट  उम्मीदवारो को हायर करती है।

जैसे कि बड़ी ई-कॉमर्स websites, Amazon, Flipkart, Myntra, TCS, Snapdeal और Reliance आदि कंपनियों द्वारा समय-समय पर अलग-अलग पदों पर प्राइवेट नौकरी के आवेदन मांगे जाते हैं।

M.a. पास विद्यार्थी इन नौकरियों के लिए आवेदन कर सकते हैं।

इसके अलावा PGDM जैसे कई courses उपलब्ध हैं, जिन्हें विद्यार्थी m.a. के बाद कर सकते हैं।

और private companies इस तरह के कोर्स किए हुए विद्यार्थीयों  को अच्छे पदों पर नौकरी offer करते हैं।

Conclusion

ऊपर दिए गए इस आर्टिकल में हमें बात की, कि m.a. के बाद क्या कर सकते हैं?

12वीं के बाद b.a. और फिर m.a. का कोर्स पूरा के चुके विद्यार्थी अक्सर यह सर्च करते हैं कि m.a. के बाद क्या करें?

इस आर्टिकल में हमने m.a. के बाद के लिए उपलब्ध courses और इसके साथ साथ m.a. के बाद उपलब्ध सरकारी और प्राइवेट नौकरियों के बारे में भी जाना है। 

Leave a Comment

Your email address will not be published.