डी एल एड (D.El.Ed) की फीस कितनी है?

डी एल एड की फीस कितनी है? D.El.Ed की fees कितनी होती है? डी एल एड का कोर्स करने में कितना खर्च आता है? इस तरह के सवाल D.El.Ed का कोर्स करने की सोचने वाले विद्यार्थियों के मन में जरूर ही आता होगा।

जिन अभ्यर्थियों की टीचिंग लाइन में रुचि होती है और उसमें भी वह जो प्राथमिक स्तर के बच्चों को पढ़ाने में रुचि रखते हैं उनके लिए इस कोर्स का निर्माण किया गया है।

आज इस लेख में हम यहां मुख्यतः डी एल एड कोर्स की फीस की ही बात करेंगे। बहुत से विद्यार्थियों के मन में इस कोर्स से संबंधित यह प्रश्न रहता है।

डी एल एड की फीस के साथ साथ, डी एल एड का कोर्स क्या है, इसके लिए क्या योग्यताएं चाहिए होती है, D.El.Ed का syllabus, इसके बाद क्या कर सकते हैं, और इस कोर्स से संबंधित दूसरी सभी चीजों के बारे में भी अच्छे से जानेंगे।

D.El.Ed का कोर्स क्या है?

Basically, Secondary Schools में Government Teacher बनने के लिए D.el.ed Course कराया जाता है।

D.El.Ed का फुल फॉर्म डिप्लोमा इन एलीमेंट्री एजुकेशन (diploma in elementary education) होता है।

यह eligibility criteria का एक ऐसा कोर्स है जिसे करके आप प्राथमिक स्तर के शिक्षक बनने की पात्रता प्राप्त कर लेते हैं। यह एक राज्य स्तरीय डिप्लोमा कोर्स है।

इस कोर्स में उम्मीदवारों को प्राथमिक स्तर यानी कि छोटे बच्चों को पढ़ाना सीखना होता है, इसीलिए इस कोर्स के उम्मीदवारों को बाल विकास, शिक्षण विधि, और समग्र बाल विकास में शिक्षकों की भूमिका जैसे विषयों को पढ़ाया जाता है।

डी एल एड का कोर्स अभ्यार्थी रेगुलर या फिर डिस्टेंस दोनों में से किसी भी तरीके से कर सकते हैं।

D.El.Ed एक 2 साल का कोर्स है जिसे 4 सेमेस्टर में विभाजित किया गया है। हर वर्ष के अंत में एक इंटर्नशिप भी शामिल होती है।

D.El.Ed का कोर्स पूर्ण होने के बाद राज्य सरकार द्वारा आयोजित TET (teacher eligibility test) या केंद्र सरकार द्वारा आयोजित CTET (Central teacher eligibility test) परीक्षा को पास करना होता है, जिसके बाद आप प्राइमरी टीचर बन सकते हैं।

डी एल एड के कोर्स को अलग-अलग नाम से भी जाना जाता है जैसे राजस्थान में बीएसटीसी, उत्तर प्रदेश मे बीटीसी आदि, ये सभी एक ही कोर्स है।

D.El.Ed की फीस कितनी है?

डी एल एड का कोर्स किसी भी Govt. College अथवा मान्यता प्राप्त प्राइवेट कॉलेज से किया जा सकता है। डीएलएड कोर्स की फीस कितनी होगी यह निर्भर करता है कि आप एक सरकारी कॉलेज से यह कोर्स करते हैं, या किसी प्राइवेट कॉलेज से।

यह कोई बहुत ज्यादा महंगा कोर्स नहीं है, private college से करने पर भी आप कम खर्च में इसकी पढ़ाई पूरी कर सकते हैं।

यदि आप एक सरकारी कॉलेज से d.El.Ed का फोर्स करते हैं तो आपको 10200 रुपए की फीस देनी होती है, और यह 1 साल की fees होती है, इस तरह यदि सरकारी कॉलेज से पूरी फीस की बात करें तो डी एल एड का कोर्स करने के लिए आपको लगभग लगभग 20,500 फीस लगती है।

यदि किसी कारणवश आप सरकारी कॉलेज से डी एल एड का कोर्स ना करके एक प्राइवेट कॉलेज चुनते हैं, तो उसकी फीस सरकारी कॉलेज से काफी ज्यादा होती है।

Private college से डी एल एड का कोर्स करने पर आपको 1 साल की फीस लगभग 41000 रूपए लगते हैं, और इस तरह 2 साल के लिए d.El.Ed की कुल फीस 82,000 रुपए हो जाती है।

यह सिर्फ कॉलेज की फीस है, इसके अलावा दूसरे भी कुछ खर्चे हो सकते हैं। इसीलिए हर तरह से बेहतर तो यही रहेगा कि आप डीएलएड कोर्स की पढ़ाई एक सरकारी कॉलेज स ही करें।

जिन candidates की मेरिट ज्यादा होती है, उन्हें काउंसलिंग के आधार पर सरकारी कॉलेज मिल जाता है और जिसकी मेरिट कम होती है वे कैंडिडेट अपनी सुविधानुसार प्राइवेट कॉलेज ले सकते हैं।

डी एल एड के कोर्स में एडमिशन के लिए कोई भी प्रवेश परीक्षा नहीं आयोजित की जाती है।

D.El.Ed कोर्स के लिए Eligibility

जो छात्र इस कोर्स में दाखिले के लिए आवेदन फॉर्म भरना चाहते हैं उन्हें किसी भी मान्यता प्राप्त स्कूल बोर्ड से सीनियर सेकेंडरी यानी 12वीं कक्षा की परीक्षा उत्तीर्ण करनी चाहिए, या इसके समकक्ष की कोई डिग्री भी मान्य होती है।

Arts Science या Commerce के छात्र आवेदन कर सकते हैं। 12वीं कक्षा में विद्यार्थी को कम से कम 50% अंक लाने जरूरी है, इसमें SC, ST, OBC, PH अभ्यर्थियों को 5 %अंकों की छूट दी जाती है।

यानी जनरल श्रेणी के लिए 50% और आरक्षित श्रेणी के लिए 45% चाहिए होते हैं। उम्मीदवार की आयु न्यूनतम 18 वर्ष और अधिकतम 35 वर्ष रखी गई है, यह आयु female और Male Candidates दोनों के लिए समान है।

D.El.Ed Course का Syllabus

डी एल एड 2 वर्ष की अवधि का कोर्स है जिसमें 4 सेमेस्टर होते हैं, इन चारों semesters में निम्नलिखित सिलेबस है –

Semester 1

  • बाल विकास एवं सीखने की प्रक्रिया
  • अधिगम के सिद्धांत
  • सामाजिक अध्ययन
  • संस्कृत गणित
  • हिंदी
  • विज्ञान
  • Computer
  • कला /संगीत /शारीरिक शिक्षा
  • Internship

Semester 2

  • वर्तमान भारतीय समाज और प्रारंभिक शिक्षा
  • प्रारंभिक शिक्षा के नवीन प्रयास
  • सामाजिक अध्ययन
  • विज्ञान
  • गणित
  • हिंदी
  • अंग्रेजी
  • समाजोपयोगी उत्पादक कार्य
  • कला संगीत शारीरिक शिक्षा
  • Internship

Semester 3

  • सैनिक मूल्यांकन क्रियात्मक शोध एवं नवाचार
  • समावेशी शिक्षा
  • विज्ञान शिक्षण
  • गणित शिक्षण
  • सामाजिक अध्ययन शिक्षण
  • हिंदी शिक्षण
  • संस्कृत शिक्षण
  • उर्दू शिक्षण
  • कंप्यूटर शिक्षा
  • कला एवं संगीत शिक्षण
  • शारीरिक शिक्षा एवं स्वास्थ्य शिक्षा
  • Internship

Semester 4

  • आरंभिक स्तर पर भाषा लेखन, पठन एवं गणितीय क्षमता विकास
  • शैक्षिक प्रबंधन एवं प्रशासन
  • विज्ञान शिक्षण
  • गणित शिक्षण
  • सामाजिक अध्ययन शिक्षण
  • हिंदी शिक्षण
  • अंग्रेजी शिक्षा
  • शांति शिक्षा एवं सतत विकास
  • कला एवं संगीत शिक्षण
  • शारीरिक शिक्षा एवं स्वास्थ्यशिक्षा
  • Internship

D.El.Ed में दाखिला कैसे ले सकते हैं?

Admission के लिए इसमें निर्धारित समय अवधि में उम्मीदवार को आवेदन करना होता है। विद्यार्थी ऑनलाइन आवेदन कर सकते हैं।

अंतिम तिथि के बाद परीक्षा नियामक मेरिट लिस्ट जारी करता है, जिसे आवेदक इसकी आधिकारिक website पर में देख सकते हैं।

कुछ समय बाद परीक्षा नियामक प्राधिकारी द्वारा काउंसलिंग कराई जाती है, इसमें पहले से निर्धारित मेरिट तक के छात्रों को प्रतिभाग करने का अवसर प्रदान किया जाता है।

यदि प्रथम मेरिट लिस्ट में सभी सीटें नहीं भर पाती है तो दूसरी तथा तीसरी काउंसलिंग आयोजन किया जाता है।

काउंसलिंग के बाद छात्रों को मेरिट के अनुसार कॉलेज आवंटन किया जाता है, फिर सभी छात्र काउंसलिंग के बाद अपने अपने कॉलेजों में आवश्यक डॉक्यूमेंट ले जाकर प्रवेश प्राप्त करते हैं।

इन documents में D.El.Ed का एडमिट कार्ड, 10वीं की मार्कशीट, 12वीं की मार्कशीट, आधार कार्ड, OBC/SC/ST उम्मीदवारों के लिए जाति प्रमाण पत्र, जन्म प्रमाण पत्र की तारीख, चरित्र प्रमाण पत्र, 2 रंगीन पासपोर्ट size फोटो आदि आते हैं।

Leave a Comment

Your email address will not be published.