SSC का मतलब क्या है? | What is the meaning of SSC

इस आर्टिकल में हम SSC के बारे में बात करेंगे। SSC का मतलब क्या है? What is the meaning of SSC? 

दोस्तों विद्यार्थियो के लिए जब career की बात होने पर सरकारी नौकरी का उसमें एक अलग ही स्थान रहता है। 

सरकारी नौकरी ज्यादातर विद्यार्थियों की पहली preference रहती है। 

अगर आप भी सरकारी नौकरी की तैयारी करते हैं या करने की सोच रहे हैं तो आपने SSC का नाम तो निश्चय ही सुना होगा। 

सरकारी नौकरियों में SSC सबसे प्रतिष्ठित नामों में से एक है। 

सरकारी नौकरी की तैयारी से जुड़ने वाले विद्यार्थियों के लिए यह एक सबसे common नाम है। 

इस आर्टिकल में हम विस्तार से जानेंगे कि SSC का मतलब क्या है? 

SSC का मतलब क्या है?

अगर आप भी सरकारी नौकरी की तैयारी से जुड़े हैं या आगे जाकर तैयारी करने वाले हैं, तो आपने SSC के बारे में जरूर सुना होगा और यह जरूरी भी है। 

इस लेख में हम SSC के बारे में हर एक जरूरी चीज जानेंगे इसलिए यदि आपको इसकी पूरी जानकारी चाहिए तो इस आर्टिकल को ध्यान से पुरा पढ़े।

SSC का मतलब क्या है?

SSC का पुरा नाम Staff Selection Commission होता है, जिसे हिंदी में कर्मचारी चयन आयोग कहते हैं। यह हर साल लाखों उम्मीदवारों की भारत सरकार के अंतर्गत आने वाले अलग-अलग विभागों में ऑफिसर और अलग-अलग पदो पर अपनी परीक्षाओं के माध्यम से नियुक्ति करता है। 

स्टाफ सिलेक्शन कमीशन बहुत से अलग-अलग पदों पर नियुक्ति के लिए साल भर में अलग-अलग परीक्षाएं लेता है। 

सरकारी नौकरी की तैयारी कर रहा हर विद्यार्थी SSC से जरूर वाकिफ होता है। 

यह कहना तो सही नहीं होगा कि हर विद्यार्थी एसएससी की तैयारी करता है, लेकिन यदि आप किसी सरकारी नौकरी की तैयारी कर रहे सामान्य विद्यार्थी से पूछेंगे तो बहुत संभावना है कि वह एसएससी की किसी परीक्षा में बैठा हो।

जैसा कि ‘कर्मचारी चयन आयोग’ नाम से पता चलता है, SSC कर्मचारियों का चयन करके उनकी नियुक्ति करता है, और यह नियुक्ति सरकार के अंतर्गत आने वाले अलग-अलग विभागों में अलग-अलग पदों पर होती है। 

हर साल ssc कई सारी परीक्षाएं लेता है। 

SSC MTS, SSC CHSL, SSC CGL आदि परीक्षाओं के बारे में आपने निश्चय ही सुना होगा यदि आप सरकारी नौकरी की तैयारी करते हैं या फिर इसकी जानकारी रखते हैं। 

SSC कौन-कौन सी परीक्षाएं लेता है?

Staff Selection Commission अलग-अलग विभागों और अलग-अलग पदों पर नियुक्ति के लिए अलग-अलग परीक्षाएं आयोजित करता है। 

SSC की सबसे मुख्य परीक्षाओं में –

  • SSC MTS 
  • SSC CHSL 
  • SSC CGL 
  • SSC GD 
  • SSC steno
  • SSC CPO 
  • SSC JHT 
  • SSC JE

आदि नाम आते हैं। 

SSC द्वारा ली जाने वाली परीक्षाओं में यही सबसे मुख्य नाम हैं। 

इन सभी परीक्षाओं के बारे में हम एक-एक करके विस्तार से आगे बात करेंगे। 

ये सारे मुख्य परीक्षाएं हैं इनके अलावा भी कोई विशेष भर्ती निकलने पर एसएससी उसकी परीक्षा ले सकता है। 

पर generally  एसएससी या सरकारी नौकरी की तैयारी करने वाले इन्हीं परीक्षाओं में बैठते हैं। 

इन्हें भी पढ़ें

SSC के लिए योग्यता (Eligibility for SSC)

अब हम एसएससी के लिए जरुरी योग्यताओं के बारे में बात करते हैं, यानी कौन-कौन से उम्मीदवार SSC की परीक्षा में बैठ सकते हैं। 

असल में, हमने ऊपर एसएससी द्वारा ली जाने वाली जिन परीक्षाओं की बात की है, उन अलग-अलग परीक्षाओं के लिए अलग-अलग योग्यता जरूरी होती है। 

जैसे कि SSC MTS दसवीं के बाद दिया जा सकता है, SSC CHSL के लिए 12वीं की योग्यता जरूरी होती है और SSC CGL के लिए उम्मीदवार का ग्रेजुएशन पास होना जरूरी है। 

एसएससी द्वारा जब भी कोई भर्ती निकाली जाती है उसमें जरूरी योग्यताओं की जानकारी आधिकारिक अधिसूचना में दे दी जाती है। 

जिस भी post के लिए भर्ती निकलेगी उसकी official notification में आपको उसकी सारी जानकारी प्राप्त हो जाएगी। 

Age Limit –

SSC के लिए minimum age 16 वर्ष और maximum age आप 35 वर्ष के करीब कह सकते हैं। 

असल में एज लिमिट के साथ भी वही बात है कि आपको आधिकारिक अधिसूचना में इसकी सही जानकारी मिलेगी। 

फिर हर भर्ती में उम्मीदवारों के वर्ग के हिसाब से आयु सीमा में छूट आदि भी मिलती है। 

तो SSC की अलग-अलग परीक्षाओं के लिए उम्र सीमा अलग-अलग हो जाती है जिसकी जानकारी के लिए विद्यार्थियों को निकाले गए भर्ती का ऑफिशल नोटिफिकेशन देखना चाहिए। 

SSC में कौन-कौन सी जॉब मिलती है?

जब हम एसएससी की jobs की बात कर रहे हैं तो इसमें वह सभी नौकरियां ही आ जाएंगी, जोकि एसएससी द्वारा ली जाने वाली अलग-अलग परीक्षाओं के माध्यम से मिलती हैं। 

इसीलिए हम एक-एक करके एसएससी द्वारा ली जाने वाली सभी परीक्षाओं और उन परीक्षाओं के माध्यम से किन पदों पर भर्ती होती है इसके बारे में जान लेते हैं।

SSC MTS 

MTS का full form Multi Tasking Staff होता है। यह परीक्षा आप 10th के बाद दे सकते है। 

और इस परीक्षा को पास करने के बाद आप सरकार के अलग अलग विभागों में Peon, Daftary, जूनियर गेस्टेटनर ऑपरेटर, जमादार, चौकीदार, Gardener, सफाइवाला आदि पदों पर नौकरी पा सकते हैं। 

SSC CHSL

CHSL का पूरा नाम Combined Higher Secondary Level होता है। 

SSC CHSL  कोई भी 12th पास विधार्थी दे सकता है। 

CHSL के माध्यम से सरकार के अलग-अलग मंत्रालयों में Data Entry Operator, लोअर डिवीजन क्लर्क (LDC), जूनियर सचिवालय सहायक (JSA), डाक सहायक/छंटनी सहायक (PA/SA), न्यायालय लिपिक आदि पदों पर नौकरी पा सकते हैं।

SSC CGL 

CGL का पुरा नाम Combined Graduate Level एग्जाम होता है। 

इस परीक्षा में बैठने के लिए स्नातक (Graduation) जरूरी होता है। 

SSC CGL की परीक्षा पास करके उम्मीदवार आयकर, उत्पाद शुल्क, नारकोटिक्स, एनआईए, सीबीआई, डाक, आदि जैसे केंद्रीय सरकार के अलग-अलग विभागों में एक Inspector, Examiner या Assistant आदि जैसी अच्छी post पर नौकरी पा सकते हैं।

SSC GD (Constable) 

यहां GD का पुरा नाम General Duty Constable होता है। 

SSC GD परीक्षा के तहत हर साल भारत सरकार के Central Armed Police Forces (CAPFs ), NIA, SSF and Rifleman (GD) in Assam Rifles, आदि विभागों में Constable के पदों पर भर्ती होती है। 

इसके लिए शारीरिक, मानसिक और शैक्षणिक तौर पर अलग अलग मापदंडो को पूरा करना होता है। 

इस परीक्षा के लिए भी qualification 10th पास है।

SSC steno (Stenographer)

SSC Stenographer की परीक्षा सरकारी विभागों में ग्रुप C और ग्रुप D पदों पर नियुक्ति के लिए ली जाती है। 

इसे पास करके basically आप सरकारी विभागों में स्टेनोग्राफर के पद पर नौकरी ले सकते हैं। 

SSC CPO 

CPO का पूरा नाम Central Police Organization होता है। 

SSC CPO की परीक्षा पास करने के बाद आप Delhi Police और CAPF में Sub Inspector) और Assistant Sub Inspector, केंद्रीय सशस्त्र पुलिस बल (CAPF) आदि बन सकते है। 

इसमें बैठने के लिए Graduation पास होना जरुरी है। 

SSC JHT 

JHT का पूरा नाम Junior Hindi Translator होता है। 

SSC की यह परीक्षा आपको सरकार के अलग-अलग departments में जूनियर हिंदी ट्रांसलेटर, जूनियर ट्रांसलेटर, सीनियर हिंदी ट्रांसलेटर, हिंदी प्राध्यापक आदि के posts पर नौकरी दिला सकती है। 

एक ज़रूरी बात कि, इस SSC JHT परीक्षा को देने के लिए आपको हिंदी माध्यम से पोस्ट ग्रेडुएशन किया हुआ होना जरुरी है।

SSC JE

JE का पूरा नाम Junior Engineer  है। 

भारत सरकार के अंतर्गत आने वाले इंजीनियरिंग विभागों और संगठनों में खाली technicals posts पर इसके माध्यम से भर्ती होती है। 

इसमें Group B non-Gazetted posts आते हैं। यदि आप SSC JE पास करते हैं, तो आप Central Water Commission (CWC), Central Water Power Research Station (CWPRS) Department of Post (DOP), Border Roads Organization (BRO), Military Engineer Services (MES), CPWD), DGQA), Directorate of Quality Assurance (Naval), National Technical Research Organization (NTRO) आदि विभागों में नौकरी प्राप्त कर सकते है। 

SSC JE का फॉर्म भरने के लिए आपके पास कोई इंजीनियरिंग डिप्लोमा या डिग्री या फिर इससे संबंधित कोई कॉलेज डिग्री होनी चाहिए।

Conclusion

ऊपर दिए गए इस आर्टिकल में हमने बात की है कि SSC का मतलब क्या है? यानी SSC होता क्या है? 

यहां हमने आपको एसएससी से संबंधित बहुत से जरूरी बातें बताने का प्रयास किया है। 

हम उम्मीद करते हैं कि हमारे द्वारा दी गई जानकारी आपके लिए informative रही होगी। 

यदि इससे संबंधित कोई प्रश्न आपके मन में आता है तो आप हमसे कमेंट करके पूछ सकते हैं।

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *