सुपरवाइजर की सैलरी कितनी होती है? | Supervisor ki salary kitni hoti hai

दोस्तों इस आर्टिकल में हम एक सुपरवाइजर की सैलरी कितनी होती है? इस बारे में बात करेंगे।

हर कोई जीवन यापन के लिए अलग-अलग क्षेत्रों में कार्यरत है, सरकारी नौकरी से लेकर प्राइवेट नौकरी फिर और भी ऐसे अन्य कई सारे और पेशे हैं।

किसी भी कंपनी में अलग-अलग पोस्ट होते हैं और इन्हीं में एक lower level का managing post भी होता है जिसे Supervisor कहते हैं। 

किसी कंपनी में एक सुपरवाइजर की पोस्ट काफी अच्छी पोस्ट मानी जाती है, बहुत से उम्मीदवार इस पद पर नौकरी प्राप्त करना चाहते हैं।

अब एक supervisor की पोस्ट से संबंधित यह सवाल कई लोगों के मन में आता है कि आखिर एक सुपरवाइजर की सैलरी कितनी होती है?

या किसी कंपनी में एक सुपरवाइजर महीने का कितना कमाता है?

सुपरवाइजर की सैलरी कितनी होती है?

यहां इस आर्टिकल में हम मुख्य तौर पर यही बात करेंगे कि एक सुपरवाइजर की सैलरी कितनी होती है?

भारत में अलग-अलग कंपनियों में सुपरवाइजर औसतन महीने की कितनी सैलरी पाते हैं?

इस लेख में हम supervisor की salary से संबंधित सभी जरूरी बातों को जानेंगे।

Supervisor की सैलरी कितनी होती है?

सीधा यदि सैलरी की ही बात करें तो भारत में अलग-अलग कंपनियों में, एक सुपरवाइजर की औसतन सैलरी 15-20 हजार रुपए मासिक से लेकर आगे 35-40 हज़ार या इससे भी थोड़ी ज्यादा तक जा सकती है। 

असल में एक सुपरवाइजर की वास्तविक सैलरी कितनी होगी यह निर्भर करता है कि वह किस कंपनी में नौकरी कर रहा है, क्योंकि जाहिर है अलग-अलग कंपनियों में सुपरवाइजर की पोस्ट की सैलरी में अंतर देखने को मिलता है। 

Supervisor की average salary कहने पर यह सामान्यतः 15 से 20 हज़ार तक कही जाएगी हालांकि jet airways जैसी कुछ कंपनियों में सुपरवाइजर की पोस्ट की सैलरी 45,000 रुपए प्रतिमाह तक भी देखने को मिलती है।

जब हम सुपरवाइजर की पोस्ट की बात करते हैं तो इसमें ज्यादा बात प्राइवेट नौकरी की ही होती है।

सभी अलग-अलग प्राइवेट कंपनियों में कर्मचारियों के मैनेजमेंट और उन्हें सुपरवाइज करने के लिए supervisor के पद पर नियुक्ति की जाती है। 

बिल्कुल शुरुआत में ज्यादातर कंपनियों में इस पद पर सैलरी 16-17 हज़ार रुपए मासिक तक ही रहती है।

और जैसे-जैसे उम्मीदवार का इस पद पर अनुभव बढ़ता है उसकी सैलरी में भी बढ़ोतरी होती है।

तो कुल मिलाकर कहा जा सकता है कि सुपरवाइजर की सैलरी निर्भर करती है कि वह कितनी छोटी या बड़ी कंपनी में नौकरी पाता है, और साथ ही यह भी कि उसका experience कितना है।

Supervisor की सैलरी समय के साथ बढ़ती है

जैसा कि हमने ऊपर देखा Supervisor की average सैलरी 15-20 INR से शुरू होकर 35-40 या इससे भी थोड़ी ज्यादा तक रहती है।

जाहिर है यह एक औसत सैलरी है, और यह इससे अधिक या कम भी हो ही सकती है।

औसतन 40-45 हज़ार ही एक सुपरवाइजर की maximum salary सैलरी जाती है।

कोई supervisor इतनी सैलरी तब पा सकता है, जब वह किसी अच्छी स्थिति और growth वाली company में नौकरी कर रहा हो, और साथ ही वो भी एक experienced Supervisor भी हो।

Average experience (1 से 2 साल) और skills के साथ एक supervisor की सैलरी 25000 – 30000 तक होती है।

उम्मीदवार जब किसी company में सुपरवाइजर के रूप में job start करते हैं, तो शुरुआत में आपकी सैलरी कम ही होगी, लेकिन जैसा हमने कहा आप 1 – 2 वर्ष में इतनी सैलरी तक पहुंच जाएंगे।

सुपरवाइजर की सैलरी काफी अच्छी होती है, असल में private sector में किसी की भी नौकरी की सैलरी fix नहीं होती है।

सुपरवाइजर के सैलरी बढ़ने की बात करें तो इसमें आपको आपका काम, nature, behaviour और manage करने की strategies काम करती हैं।

Supervisor के तौर पर आपको बेहतर रणनीतियों के साथ काम करना होता है।

इसके लिए आपको कंपनी की तरफ से पूरी गाइडलाइन दी जाती है, उन्हें follow करने के साथ-साथ इसमें आपको खुद से भी काम के बारे में सोचना चाहिए। 

Supervisor के post के काम और जिम्मेदारियां

आसन भाषा में, एक Supervisor का काम सुपरविजन करना यानी की देखरेख करने का होता है। Supervisor वह होता है जो किसी टीम या व्यक्ति के काम की देखरेख और प्रबंधन करता है। 

Supervisor सामान्यतः lower level केे प्रबंधकीय पदों को संदर्भित करता है, और अपनी सीधी रिपोर्ट senior प्रबंधन कर्मियों को  देते हैं।

एक सुपरवाइजर कर्मचारियों के दिन-प्रतिदिन के काम की देखरेख करता है।

कंपनी के हिसाब से, एक supervisor एक टीम, एक शिफ्ट या पूरे विभाग के प्रबंधन का काम कर सकता है, यह निर्भर करता है की company का terms and conditions क्या हैं।

Supervisor की सबसे महत्वपूर्ण जिम्मेदारियों में से एक है टीम का प्रबंधन करना है।

Supervisor अपनी टीम के work, और काम को पूरा करने के लिए आवश्यक चीजों का निर्माण और निरीक्षण करते हैं।

क्योंकि supervisor दूसरे employees के साथ मिलकर काम करते हैं, इसीलिए अक्सर यह ही तय करने में मदद करते हैं कि पदोन्नति यानी कि promotion के लिए कौन eligible है, कौन अच्छा perform कर रहा है, आदि। 

कुछ मामलों में supervisors भी सीधे promotion दे सकते हैं। हालांकि, जब supervisor के पास कर्मचारियों को सीधे promotion करने का अधिकार नहीं होता है, तब भी उचित व्यक्ति के लिए supervisor अपने सीनियर से discuss कर सकते हैं, और उस employee को promote कर सकते हैं।

Experienced Supervisor को उत्कृष्ट संगठनात्मक और संचार कौशल का होना चाहिए, ये कौशल उन्हें ऊपरी प्रबंधन से कर्मचारियों तक जानकारी स्थानांतरित करने में मदद करते हैं और अपनी टीमों के कार्य या उच्च-स्तरीय प्रबंधकों को उनकी जरूरतों के बारे में बताने का काम भी इन्हीं का होता है।

तो कुल मिलाकर यही बात है कि किसी कंपनी के सुपरवाइजर को company के दुसरे कर्मचारियों के management का ही काम सौंपा जाता है।

इन जिम्मेदारियों में कर्मचारी और टीम के लक्ष्य निर्धारित करना, आदि शामिल होते हैं।

उदाहरण के लिए, यदि कोई employee अपने निश्चित कार्य से अधिक अच्छा perform करता है, तो वे बोनस के लिए पात्र हो सकते हैं, इन सबकी देखरेख में सुपरवाइजर ही करता है।

देश के कुछ अच्छे कम्पनियों के supervisor की salary

  • Jet Airways – Supervisor की salary 45,383 रुपए तक है।
  • State of Arkansas – Supervisor की salary 29,043  रुपए तक है।
  • Amazon.com – Supervisor की salary 27,890 रुपए तक है।
  • Citco – Supervisor की salary 13,73,326/yr तक है।
  • Tata Motors – Supervisor की salary 17,877/mo तक है।

Conclusion

ऊपर दिए गए इस आर्टिकल में हमने एक सुपरवाइजर की सैलरी कितनी होती है इस बारे में बात की है।

अलग-अलग कंपनियों में सुपरवाइजर की पोस्ट को एक काफी अच्छा पोस्ट माना जाता है।

बहुत से उम्मीदवार सुपरवाइजर की पोस्ट पर नौकरी पाना चाहते हैं, ऐसे में उन्हें इस पद पर सैलरी के बारे में सही जानकारी होनी चाहिए, और यहां हमने इसी की बात की है।

Leave a Comment

Your email address will not be published.