नीट का पेपर कैसा होता है? | NEET ka paper kaisa hota hai

इस आर्टिकल में हम NEET परीक्षा के बारे में बात करेंगे। 

बहुत से विद्यार्थियों के मन में NEET परीक्षा से संबंधित कई सवाल रहते हैं, और NEET का paper कैसा होता है? उनमें से सबसे मुख्य सवालों में से एक है। 

दोस्तों समाज में सबसे प्रतिष्ठित जॉब प्रोफाइल्स में एक मुख्य नाम doctor का आता है। 

विद्यार्थियों से उनके करियर के बारे में पूछे जाने पर ‘एक doctor’ बनना बहुत से विद्यार्थियों का सपना होता है। 

एक डॉक्टर बनने के लिए मुख्यतः MBBS (या इसके समकक्ष का कोई कोर्स जैसे BDS, BAMS आदि) करना होता है और वर्तमान समय में इन सभी courses में एडमिशन के लिए नीट/एनईईटी की प्रवेश परीक्षा पास करना अनिवार्य है। 

यानी एक डॉक्टर जैसे प्रोफेशन में जाने के लिए NEET सबसे जरूरी परीक्षा हो जाती है। 

जो विद्यार्थी इस प्रोफेशन में जाना चाहते हैं उन्हें इस NEET exam से संबंधित सारी जरूरी बातें पता होनी चाहिए।

नीट का पेपर कैसा होता है?

इस आर्टिकल में हम विस्तार से बात करेंगे कि NEET का paper कैसा होता है? 

कैसा से मतलब है कि मुख्य तौर पर हम यहां NEET exam के paper के स्तर की बात करेंगे। यहां हम NEET से संबंधित सभी जरूरी बातों को जानेंगे।

NEET का paper कैसा होता है?

नीट की परीक्षा में सामान्यतः 11वीं और 12वीं स्तर के physics chemistry और biology (zoology + botany) विषय से प्रश्न रहते हैं। 

हालांकि यह राष्ट्रीय स्तर की काफी कठिन प्रवेश परीक्षा होती है, इसीलिए इस परीक्षा में पूछे गए प्रश्न काफी कठिन हीं होते हैं। 

NEET clear करने के लिए इन विषयों की अच्छे से पढ़ाई और काफी ज्यादा मेहनत करनी होती है।

असल में, नीट का एग्जाम कैसा होता है? इस सवाल के बारे में बात करने से पहले हमें NEET के बारे में पूरी जानकारी होना जरूरी है। 

NEET का पूरा नाम  National Eligibility cum Entrance Test होता है।

यह राष्ट्रीय स्तर पर आयोजित होने वाली सबसे प्रमुख और अपनी तरह की एकलौती मेडिकल प्रवेश परीक्षा/medical entrance exam है। 

देश में जितने भी मुख्य सरकारी (और कई प्राइवेट भी) मेडिकल कॉलेज हैं, उन सभी में एमबीबीएस और दुसरे dental courses में दाखिले के लिए Govt. द्वारा NEET की परीक्षा पास करना अनिवार्य कर दिया गया है। 

नीट की यह परीक्षा NTA (National testing agency) द्वारा हर साल आयोजित की जाती है। 

NEET UG और PG दोनों स्तर के medical courses में दाखिले के लिए आयोजित होता है, पर इनमें NEET UG ज्यादा चर्चित है। 

हर साल NEET सामान्यतः मई के महीने में आयोजित होती है। 

इसकी अधिकारिक वेबसाइट neet.nta.nic.in है, यहां से विद्यार्थी इसके लिए ऑनलाइन आवेदन भी कर सकते हैं ।

NEET की परीक्षा में आए ranks के आधार पर ही मेडिकल के विद्यार्थियों को एमबीबीएस, बीडीएस, बीएससी नर्सिंग जैसे कोर्स में किसी अच्छे सरकारी कॉलेज में दाखिला मिलता है। 

हर साल लाखों की संख्या में मेडिकल विद्यार्थी नीट की परीक्षा में बैठते हैं, जिसमें अच्छे rank लाने वालों को top medical colleges/universities मिलते हैं। 

NEET का exam pattern

अब हम के exam pattern की बात करते हैं। NEET की परीक्षा में कुल मिलाकर 4 विषयों से प्रश्न रहते हैं। 

इन विषयों में physics, chemistry, zoology और botany रहते हैं, असल में zoology और botany biology में ही आ जाते हैं। 

NEET के paper में, कुल 200 प्रश्न रहते हैं जिसमें से विद्यार्थियों को 180 प्रश्नों का ही उत्तर देना होता है। 

हर प्रश्न चार अंक का होता है, इस तरह 180 प्रश्नों का कुल अंक 720 हो जाता है, यानी नीट कुल 720 अंको का होता है। NEET के paper के लिए 3 घंटे का समय दिया जाता है।

NEET में सभी multiple choice questions होते हैं, जिसमें दिए गए चार विकल्पों में से कोई एक विकल्प ही सही होता है। 

हर सही उत्तर के लिए विद्यार्थियों को 4 अंक मिलता है, और  हर गलत उत्तर के लिए एक marks काटा जाता है।

NEET की परीक्षा के चारों विषयों में से फिजिक्स और केमिस्ट्री से 45-45 प्रश्न पूछे जाते हैं। और बायलॉजी में जूलॉजी और botany से 45-45 प्रश्न रहते हैं। 

नीट की परीक्षा के प्रश्न पत्र में जो चार अलग-अलग विषय होते हैं, उसमें हर विषय को 2 sections में विभाजित किया जाता है। 

फिजिक्स, केमिस्ट्री, जूलॉजी, बॉटनी हर विषय में दो सेक्शन A और B होते हैं। 

सभी विषयों के A सेक्शन में 35 प्रश्न रहते हैं, जिनमें से विद्यार्थियों को सभी का ही उत्तर देना होता है। 

Section B में कुल 15 प्रश्न पूछे जाते हैं, जिसमें से विद्यार्थियों को 10 प्रश्न का उत्तर देना होता है। 

और इस तरह एक विषय से 35+10 = 45 प्रश्न पूछे जाते हैं। 

इसके अलावा कई विद्यार्थियों के मन में यह प्रश्न भी रहता है कि NEET का लैंग्वेज मीडियम कौन सा होता है? या NEET की परीक्षा हिंदी में होती है या इंग्लिश में? विद्यार्थी इसकी जानकारी यहां से ले सकते हैं।

NEET के questions कैसे रहते है?

नीट परीक्षा के प्रश्नों के स्तर की बात करें तो, NEET के लिए 12वीं पास विद्यार्थी आवेदन कर सकते हैं, इसीलिए इस परीक्षा में आए प्रश्नों का स्तर भी इसी के समान यानी 11th 12th level का रहता है। 

पर NEET राष्ट्रीय स्तर पर आयोजित होने वाली सबसे प्रमुख मेडिकल प्रवेश परीक्षा है, इसीलिए इस परीक्षा के प्रश्न काफी कठिन भी होते हैं। 

NEET में सफलता के लिए 11वीं और 12वीं का सिलेबस पूरी तरह से clear तो होना ही चाहिए साथ में आपको और भी extra काफी मेहनत करनी पड़ती है। 

Engineering के JEE की तरह NEET के preparation के लिए भी बहुत से coaching institutes हैं, जो नीट की तैयारी करवाते हैं।

यदि आपको जाना है कि NEET की परीक्षा में किन किन topics से प्रश्न रहते हैं तो आप neet exam syllabus 2022 के बारे में यहां से जानकारी ले सकते हैं।

Conclusion

ऊपर दिए गए इस आर्टिकल में हमने NEET परीक्षा के बारे में बात की है। 

यहां हमने NEET से संबंधित कई जरूरी बातें जानी है, साथ ही यहां हमने NEET exam pattern और इस में आने वाले प्रश्नों के स्तर के बारे में बात की है।

Leave a Comment

Your email address will not be published.