सीए बनने के लिए क्या करें ? | CA banne ke liye kya kare

इस आर्टिकल में हम बात करेंगे कि सीए बनने के लिए क्या करें? CA बनने के लिए विद्यार्थियों को क्या करना होता है? 

दोस्तों दसवीं के बाद बहुत से विद्यार्थी कॉमर्स स्ट्रीम का चुनाव करते हैं, commerce stream से पढ़ाई करने के बाद करियर के बहुत से ऑप्शन हैं, पर उनमें से सबसे मुख्य नाम CA यानी Chartered Accountant है। 

कॉमर्स ही नहीं बल्कि दूसरे स्ट्रीम के विद्यार्थी भी चार्टर्ड अकाउंटेंट की तरफ जाना चाहते हैं, यह सबसे प्रतिष्ठित, और high paid job profiles में आता है। 

बहुत से विद्यार्थियों का सपना सीए बनने का होता है, पर जो विद्यार्थी नए नए इसे profession से परिचित होते हैं, उनके मन में सबसे पहले सवालों में से एक यही आता है कि वे सीए बनने के लिए क्या करें? या CA बनने के लिए क्या करना होता है?

सीए बनने के लिए क्या करें ?

यहां इस आर्टिकल में हम मुख्य तौर पर इसी पर चर्चा करेंगे। बात करेंगे कि सीए बनने के लिए क्या करें? 

सीए बनने के लिए क्या पढ़ाई करनी होती है? सीए बनने के लिए क्या क्वालिफिकेशन चाहिए? CA के लिए eligibility, आदि की ही चर्चा करेंगे।

CA बनने के लिए क्या करें?

दोस्तों खासतौर पर कॉमर्स स्ट्रीम से पढ़ाई करने वाले ज्‍यादातर छात्रों का सपना CA बनने का होता है, जिसके लिए वे ग्रेजुएशन के बाद चार्टर्ड अकाउंटेंट (CA) कोर्स करना चाहते हैं, हालांकि यह इतना आसान नहीं है। 

CA बनने के लिए विद्यार्थियों को CA की कठिन परीक्षा पास करनी पड़ती है। 

CA क्या है, इस बारे में थोड़ा बात करें तो, इसका काम किसी company के लिए (या individual के लिए भी) वित्तीय लेखा-जोखा तैयार करने, वित्तीय सलाह देने, ऑडिट अकाउंट का विश्लेषण करने, टैक्स से संबंधित काम, आदि करने का होता है। 

Tax payment का हिसाब-किताब भी CA ही देखता है। यह एक बहुत ही अच्छी पोस्ट है, एक chartered अकाउंटेंट का स्टेटस डॉक्टर, engineer के बराबर का होता है।

CA बनने के लिए यह करना होता है –

CA बनने के लिए आपको सीए का कोर्स करना होता है, और CA बनने के लिए जो जरूरी निर्धारित परीक्षाएं होती हैं, उसे पास करना होता है। 

आप 12वीं के बाद सीए के कोर्स के लिए जा सकते हैं, या फिर ग्रेजुएशन के बाद भी। CA बनने के लिए 12th के बाद आपको CPT exam को पास करना होता है। 

इसका पूरा नाम common proficiency test है। CPT एंट्रेंस एग्जाम के लिए आप 10th पास करने के बाद अप्लाई कर सकते हैं, लेकिन एग्जाम आपको 12th पास करने के बाद ही देना होता है। इसमें कुल 4 पेपर देने होते हैं।

सीपीटी परीक्षा को पास करने के बाद आप आईपीसीसी (IPCC) परीक्षा के लिए रजिस्ट्रेशन करवा सकते हैं। 

CA के इंटरमीडिएट कोर्स को ही हम आईपीसीसी (IPCC) कहते हैं। 

इसका पुरा नाम Integrated Professional Competency Course है, जो की विद्यार्थी सीए फाउंडेशन कोर्स एग्जाम क्लियर करने के बाद कर सकते हैं। 

ये CA बनने  का दूसरा चरण है। 

कई बार छात्र सीपीटी की परीक्षा देने से चूक जाते हैं, लेकिन वे अपना ग्रेजुएशन पूरा करने के बाद सीधा भी इस परीक्षा में शामिल हो सकते हैं। 

यानी यदि आप एक ग्रेजुएट छात्र हैं, तो आप सीधा आईपीसीसी में प्रवेश कर सकते हैं। 

आईपीसीसी में सीधा प्रवेश पाने के लिए आपके ग्रेजुएशन में 55% अंक होने चाहिए, और पोस्ट ग्रेजुएशन में 60%.

यहाँ पर उम्मीदवार को ICITSS कोर्स के लिए अप्लाई करना होता है, इसके साथ ही उन्हें 3 साल की ट्रेनिंग के लिए भी रजिस्टर कराना होता है। 

Candidates को 9 महीने की प्रैक्टिकल ट्रेनिंग पूरी करनी होती है।

अगर आप सीधा ग्रेजुएशन या पोस्ट ग्रेजुएशन के बाद अप्लाई करते हैं, तो IPCC के बाद इसमें दो अलग-अलग ग्रुप एग्जाम होते हैं, ग्रुप 1 और ग्रुप 2, जिसमें आपको कुल मिलाकर 8 पेपर देने होते है।

इन सभी exams में पास होने के लिए आपको हर सब्जेक्ट में minimum 40% मार्क्स लाने होते हैं, आपका टोटल % 50% होना चाहिए। 

इसके बाद आप Articleship के लिए अप्लाई कर सकते हैं, दोनों में से कोई सा भी एक ग्रुप पास करने पर आप  आर्टिकलशिप और  साथ में ICITSS के लिए भी अप्लाई कर सकते हैं।

जैसे ही उम्मीदवार इस इंटरमीडिएट कोर्स की पढाई पूरी कर लेते हैं, और सारे एग्जाम क्लियर कर लेते हैं। 

उन्हें 3 साल की सीए की ट्रेनिंग लेनी होती है, और उसके बाद ही आप सीए बनने के लिए final exam के लिए अप्लाई कर सकते हैं। 

Final exam के लिए अप्लाई करने से पहले आपको AICITSS यानि की Advanced integrated Course on information Technology and Soft skills को पूरा करना होता है। 

तो कुल मिलाकर, जैसे ही आप आईपीसीसी क्लियर करते हैं, इसके बाद आपको 3 साल की प्रैक्टिकल ट्रेनिंग के लिए अप्लाई करना होता है, जिसे हम Articleship कहते हैं। 

आप कोर्स के 3 साल पुरे होने के 6 महीने पहले ही CA के फाइनल एग्जाम दे सकते हैं, इसमें आपको बहुत ही advance level exam क्लियर करना होता है। 

इस एग्जाम को भी ग्रुप 1 और ग्रुप 2 के दो ग्रुप में बाटा जाता है। ये काफी कठिन परीक्षा होती है, यह सीए की फाइनल परीक्षा होती है, इसके बाद आप एक सीए बन जाते हैं।

जैसे ही आप फाइनल इयर में सारे एग्जाम क्लियर कर लेते हैं, आपको ICAI में अपने आपको register करना होता है,  तभी आप एक चार्टेड अकाउंटेंट या एक सीए कहलायेंगे। 

इसके बाद आप किसी भी कंपनी में या अन्य किसी के लिए एक चार्टेड अकाउंटेंट की तरह से जॉब कर सकते हैं। 

इसमें आप एक अच्छी खासी Salary पाते हैं। आईसीएआई हर साल जून और दिसम्बर में अपने एग्जाम को कंडक्ट करता है।

तो इन प्रक्रियाओं को फॉलो करते हुए कोई विद्यार्थी एक सीए यानी चार्टर्ड अकाउंटेंट बन सकता है। 

कॉमर्स के विद्यार्थियों के लिए यह बहुत ही जरूरी जानकारी होती है, क्यूंकि यह कॉमर्स field का सबसे लोकप्रिय जॉब प्रोफाइल है। 

Commerce stream से संबंधित कई अन्य सवाल भी विद्यार्थियों के मन में रहते हैं, जैसे कॉमर्स में कौन-कौन सी जॉब है? 

या 12वीं के बाद कॉमर्स में करियर के क्या विकल्प हैं? आदि। 

इनकी जानकारी भी विद्यार्थी यहां से प्राप्त कर सकते हैं।

Conclusion

ऊपर दिए गए इस आर्टिकल में हमने बात की है कि सीए बनने के लिए क्या करें? CA बनने के लिए विद्यार्थियों को क्या करना होता है? 

CA देश के सबसे प्रतिष्ठित और हाई पैड जॉब्स में आता है, इसीलिए बहुत से विद्यार्थी सीए बनने की प्रक्रिया से संबंधित जानकारी चाहते हैं। 

ऊपर इस लेख में हमने इसी के बारे में अच्छे से बताने का प्रयास किया है।

Leave a Comment

Your email address will not be published.